scorecardresearch
 

पशुधन

Poultry Farming

थोड़ी सी लागत और कमाएं चार गुना मुनाफा! जानें पॉल्ट्री फार्मिंग का तरीका

03 अगस्त 2021

Poultry Farming: अगर किसान मुर्गियों को कुत्ता, बिल्ली, नेवला और सांप से बचा लें तो ये एक फायदेमंद व्यवसाय है. किसान 20 से 30 मुर्गियां पालकर भी अच्छी कमाई कर सकते हैं. इसमें किसान लागत का 4 गुणा पैसा वसूल सकते हैं.

Poultry farming in Muzaffarpur (फोटो-मणिभूषण शर्मा)

लीची के बागों में कड़कनाथ जैसे मुर्गों की फार्मिंग, किसानों को लाभ

27 जुलाई 2021

मुजफ्फरपुर के लीची किसानों (Litchi Farmers) की आमदनी बढ़ाने के लिए राष्ट्रीय लीची अनुसंधान केंद्र लीची के बागों में ओपन मुर्गा फार्मिंग (Poultry Farming) करके कड़कनाथ, वनराजा, शिप्रा जैसी मशहूर नस्लों का मुर्गी पालन (Poultry Farming) कर रहा है.

gopalratnaaward.qcin.org, Gopal Ratna Awards 2021 (फाइल फोटो)

डेयरी से जुड़े किसानों को मिलेगा गोपाल रत्न अवॉर्ड, ऐसे करें आवेदन

19 जुलाई 2021

पशुपालन और डेयरी विभाग (Dept of Animal Husbandry & Dairying) ने ट्वीट करके जानकारी दी कि 15 सितंबर तक गोपाल रत्न पुरस्कार (Gopal Ratna Award) के लिए आवेदन कर सकते हैं.

Matsya Setu App For Fish Farming

मत्स्य सेतु ऐप से मिलेगी मछली पालन की जानकारी, विशेषज्ञों से भी करें बात

13 जुलाई 2021

Matsya Setu App: भारत मछली उत्पादन करने वाले विश्व के देशों में दूसरे नंबर पर है. भारत सरकार (Central Govt) मछली पालन के क्षेत्र में 2024 तक 220 टन मछली उत्पादन का लक्ष्य पूरा कर पहले स्थान पर आना चाहती है.

Pradhan Mantri Matsya Sampada Yojana

मछली पालन में लाखों कमाने का मौका, सरकार दे रही पैसा

13 जुलाई 2021

Pradhan Mantri Matsya Sampada Yojana: केंद्र सरकार मछली उत्पादन को 2024-25 तक कुल 220 लाख मीट्रिक टन तक पहुंचाना चाहती है. साथ ही प्रति हेक्टेयर 3 टन मचली उत्पादन को बढ़ाकर 5 टन प्रति हेक्टेयर करने के लक्ष्य पर भी काम किया जा रहा है

 Bihar Animal And Fisheries Resources (File Photo)

बेज़ुबानों पर बाढ़ की मार, क्या है बिहार सरकार की चारा योजना? जानिए

07 जुलाई 2021

किसानों को पशुशाला को साफ और स्वच्छ रखने के लिए समय-समय पर कीटनाशक का भी उपयोग करना चाहिए. पशु गृह को बहुत ज्यादा नमी से बचाने के लिए पशुशाला में चूने का छिड़काव करने की सलाह दी गई है.

Gopal Ratna Award( File image)

पशुपालकों को मिलता है 5 लाख का पुरस्कार, जानें कहां करें अप्लाई

03 जुलाई 2021

पशुपालन और डेयरी मंत्रालय के अनुसार देश में पिछले कुछ सालों में दुग्ध उत्पादन बढ़ा है. ऐसे में दुग्ध उत्पादन क्षेत्र को और बढ़ावा दिया जा सके, इसके लिए केंद्र सरकार की तरफ से हर साल डेयरी किसानों, सर्वश्रेष्ठ कृत्रिम गर्भाधान तकनीशियन और दुग्ध उत्पादक कंपनियों को गोपाल रत्न पुरस्कार दिया जाता है.  

File image

इस योजना के तहत किसान बिना कुछ गिरवी रखे ले सकते हैं 1.60 लाख तक का लोन

28 जून 2021

पशु क्रेडिट कार्ड योजना (Pashu Credit Card Scheme) के तहत पशुपालन एवं मछलीपालन के लिए भी ऋण यानी लोन उपलब्ध कराया जाता है. जिसमें 4 प्रतिशत वार्षिक ब्याज के साथ बैंक को राशि वापस देनी होती है.

गौशाला (सांकेतिक फ़ोटो)

राष्ट्रीय गोकुल मिशन योजना क्या है? पशुपालकों की आय बढ़ाने में है सहायक!

21 जून 2021

राष्ट्रीय गोकुल मिशन योजना (Rashtriya Gokul Mission) के तहत सरकार स्वदेशी नस्लों को बढ़ावा देने के अलावा कई अन्य उद्देश्यों पर भी काम कर रही है. जिससे किसान एवं पशुपालक आसानी से लाभ प्राप्त कर सकें.

fish farming tips

UP: मछली पालन के लिए इस ऐप से मिलेगी हर तरह की जानकारी

16 जून 2021

​​​​​​​UP Fish Farmer's APP: उत्तर प्रदेश मत्स्य विभाग के यूपी फिश फार्मर्स' (UP Fish Farmer's) नामक इस ऐप में मछली पालन की नई-नई तकनीक से लेकर इसके रख-रखाव, मछलियों के विकास की बेहतर जानकारियां उपलब्ध हैं.

Pig Farming

जानें, बेहद कम पैसे में सुअर पालन से कैसे होगी लाखों की कमाई?

18 जून 2021

सुअर पालन (Pig Farming) अच्छा, सस्ता और मुनाफा देने वाला विकल्प बताया जाता है. यह जानवर सबसे तेजी में मुनाफा देने वाले पशुओं में शामिल है.

Cow Dung News Updates (फाइल फोटो)

800 किलो गोबर की चोरी! 'गोधन न्याय योजना' से हो सकता है लिंक

21 जून 2021

छतीसगढ़ राज्य की भूपेश बघेल सरकार ने जुलाई 2020 में गोधन न्याय योजना (Godhan Nyay Yojana) की शुरुआत की गई थी. इस योजना में पशुपालकों और ग्रामीणों से 2 रुपये प्रति किलो की दर पर गोबर (Dung) खरीदा जा रहा है.

Ship Rearing tips for Farmers

भेड़ पालन से तीन तरह से कमा सकते हैं मुनाफा, इन बातों का रखें ध्यान

21 जून 2021

भेड़ पालना सरल इसलिए है क्योंकि भेड़ें आकार में छोटी होती हैं. कम स्थान में आराम से रह सकती हैं. जल्दी बड़ी हो जाती हैं. इतना ही नहीं ये मौसम के हिसाब से खुद को ढाल लेती हैं, हर तरह की जलवायु में भेड़ों को पाला जा सकता है.