scorecardresearch
 

साइंस न्यूज़

जन्म का साइंस...9 जीवों के विचित्र अंडों की अद्भुत फोटो से समझिए

18 सितंबर 2021

जन्म से खूबसूरत दुनिया में कुछ नहीं. हालांकि यह प्रक्रिया बेहद जटिल होती है. इसकी शुरुआत बिना अंडों के नहीं होती. अगर अंडे न हों तो धरती पर किसी भी जीव के वंश का विकास न हो. दुनिया के कई खूबसूरत जीवों का जन्म अलग-अलग प्रकार के अंडों से होता है.

पहली बार टिकाऊ खेती-किसानी का मूल्यांकन, भारत की स्थिति खराब!

18 सितंबर 2021

वैज्ञानिकों ने पहली बार टिकाऊ खेती-किसानी (Sustainable Agriculture) का मूल्यांकन करके एक रिपोर्ट बनाई है. यह रिपोर्ट मात्रात्मक (Quantitative) है. इसमें भारत समेत 8 देशों को शामिल किया गया है. इस रिपोर्ट की खास बात ये है कि इसे सिर्फ पर्यावरणीय प्रभावों के आधार पर नहीं बनाया गया है, बल्कि इसमें आर्थिक और सामाजिक प्रभावों को भी शामिल किया गया है. जिन देशों के लिए यह अध्ययन किया गया है उन्हें चार श्रेणियों में बांटा गया है. हैरानी की बात ये है कि भारत की स्थिति किसी भी मामले में सही नहीं दिख रही है.

वर्ल्ड ट्रेड सेंटर के पास मिले 300 पक्षियों के शव, वजह हैरान कर देगी

17 सितंबर 2021

9/11 हमले के बाद गिरे वर्ल्ड ट्रेड सेंटर की इमारतों के स्थान के पास बने स्मारक पर सैकड़ों सॉन्गबर्ड्स (Songbirds) की लाशें मिली हैं. पूरा वर्ल्ड ट्रेड सेंटर इन प्यारे पक्षियों की लाशों से पटा पड़ा था. इसके आसपास की इमारतों से टकराकर करीब 300 सॉन्गबर्ड्स की मौत हुई है. ये सारे पक्षी जिन इमारतों से टकराए, उनमें से ज्यादातर की खिड़कियां कांच से बनी हुई थीं. न्यूयॉर्क सिटी में सैकड़ों पक्षियों की इस सामूहिक मौत से लोग और पक्षी विज्ञानी परेशान और चिंतित हैं.

जंगली आग पहुंच गई थी Alien खोजने वाले टेलिस्कोप तक, ऐसे बची ये जगह

17 सितंबर 2021

जंगल की आग अब अंतरिक्ष के रहस्यों का खुलासा करने पर असर डाल सकती है. क्योंकि कैलिफोर्निया की जंगली आग अब उस इलाके के नजदीक पहुंच गई है, जहां पर एलियंस को खोजने वाले रेडियो टेलिस्कोप लगे हैं. टेलिस्कोप की देखरेख करने वाले ऑब्जरवेटरी के स्टाफ और वैज्ञानिक इसे एक बड़ा खतरा बता रहे हैं. साथ ही यह भी कह रहे हैं कि ऑब्जरवेटरी को बचाने के लिए चारों तरफ पत्थरों के ढेर जमा कर दिए गए हैं, ताकि आग अंदर तक न पहुंचे.

बंदरिया अपने बच्चों के शव को लेकर क्यों घूमती है? मिल गया जवाब

17 सितंबर 2021

आपने अक्सर देखा होगा कि जब किसी बंदर का बच्चा मर जाता है तो उसकी मां यानी की बंदरिया उसके शव को लेकर कई घंटों या दिनों तक घूमती रहती है. उस शव को संभालती रहती है, उसका ख्याल रखती है. ये काम वो तब तक करती है, जब तक बच्चे का शव सड़ने नहीं लगता या फिर वह ममी नहीं बन जाता. कई दशकों से इस पहेली का राज खुल नहीं रहा था लेकिन अब जीव विज्ञानियों ने स्टडी करके इसका जवाब खोज लिया है.

इटैलियन बिस्किट जैसा है ये दुर्लभ समुद्री जीव, खूबसूरती बेहिसाब

17 सितंबर 2021

इटैलियन पास्ता है रैविओली लेकिन इसका नाम और आकार चुराया गया है समुद्र के एक ऐसे रहस्यमयी जीव से जिसे देखना दुर्लभ होता है. क्योंकि ये बेहद गहरे समुद्र में मिलता है. इस जीव का नाम है रैविओली स्टारफिश (Ravioli Starfish). यह तारे की तरह दिखने वाली मछली बीच में फूली हुई होती है, जैसे कोई बिस्किट. अब पता नहीं कि खाने की डिश का नाम इससे चुराया है या फिर स्टारफिश का नाम खाने की डिश से चुराया है, ये आज भी उसी सवाल की तरह का अडिग है कि पहले मुर्गी आई या अंडा. आइए जानते हैं इस अनोखे जीव के बारे में...

2019 में गायब हुआ सुपरनोवा साल 2037 में फिर दिखाई देगा

17 सितंबर 2021

कभी आपने सुना या देखा है कि कोई खत्म हो चुकी या मर गई वस्तु फिर दिखाई देगी. वैज्ञानिकों ने बताया है कि साल 2019 में खत्म हो चुका सुपरनोवा फिर साल 2037 में दिखाई देगा. किसी अंतरिक्षीय वस्तु के खत्म होकर दोबारा दिखाई देने की यह हैरतअंगेज घटना के पीछे वैज्ञानिकों की एक खास स्टडी है. क्योंकि यह सुपरनोवा 2016 से 2019 के बीच तीन बार मर चुका है और तीन बार दिख चुका है.

कौन हैं वे 4 सिविलियंस, ज‍िन्हें SpaceX ने भेजा अंतरिक्ष यात्रा पर

16 सितंबर 2021

आज अंतरिक्ष यात्रा के क्षेत्र में नया इतिहास रचा गया. पहली बार चार आम लोगों, जिनका अंतरिक्ष विज्ञान से दूर तक कोई नाता नहीं, उन्हें अंतरिक्ष भेजा गया. एलन मस्क की कंपनी Space X की तरफ से आज सुबह फॉल्कन-नाइन रॉकेट से इन चार लोगों को अंतरिक्ष भेजा गया. इसे इंस्पिरेशन फोर मिशन का नाम दिया गया है. नासा के फ्लोरिडा स्थित कैनेडी स्पेस रिसर्च सेंटर से भारतीय समय के मुताबिक सुबह पांच बजकर तैंतीस मिनट पर Space X रॉकेट फाल्कन-9 4 आम लोगों को लेकर जैसे ही अंतरिक्ष रवाना हुआ, इतिहास बन गया. पहली बार ऐसे लोगों को अंतरिक्ष भेजा गया है जिनका पहले कभी अंतरिक्ष यात्रा से लेना-देना नहीं रहा. ज्यादा जानकारी के लिए देखें वीडियो.

SpaceX ने रचा इतिहास, 3 दिन की अंतरिक्ष की सैर पर निकले सैलानी

16 सितंबर 2021

बिजनेसमैन एलन मस्क (Elon Musk) की कंपनी Space X का पहला आल-सिविलियन क्रू बुधवार रात अंतरिक्ष की ओर रवाना हो गया. कंपनी ने पहली बार 4 आम लोगों को अंतरिक्ष में भेजा. इस मिशन को इंसपिरेशन 4 नाम दिया गया है. खास बात ये है कि धरती की कक्षा में जाने वाला ये पहला नॉन प्रोफेशनल एस्ट्रोनॉट्स का क्रू है. अंतरिक्ष में जाने वाले चारों यात्री ड्रैगन कैप्सूल से अंतरिक्ष में रवाना हुए हैं. ये यात्री इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन से 160 किमी ऊंची उच्च कक्षा से दुनिया की परिक्रमा करते हुए अंतरिक्ष में तीन दिन गुजारेंगे. इसके बाद स्पेसक्राफ्ट पृथ्वी के वायुमंडल में फिर से प्रवेश करेगा और फ्लोरिडा के तट से नीचे गिर जाएगा. देखें

सफेद दाग से निजात दिला सकती है डीआरडीओ की ल्यूकोस्किन. (प्रतीकात्मक फोटोः गेटी)

दावा- DRDO द्वारा विकसित ल्यूकोस्किन दवा है सफेद दाग का इलाज

15 सितंबर 2021

सफेद दाग से बहुत से लोग परेशान होते हैं. इसकी एक शानदार दवा भारत में मौजूद है, जिसे रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) ने विकसित किया है. इस दवा का नाम है ल्यूकोस्किन. इस दवा से अब तक एक लाख से अधिक मरीजों का सफल इलाज हो चुका है. उपचार की सफलता का दर 70 फीसदी से ज्यादा दर्ज किया गया है.

30 साल पहले महिलाएं ज्यादा टेंशन लेती थीं, अब पुरुष!

15 सितंबर 2021

महान वैज्ञानिक अलबर्ट आइंस्टीन ने कहा था कि एक शांत और साधारण जीवन ज्यादा खुशियां लेकर आता है. सफलता और भौतिक सुखों के पीछे भागना और उसके लिए असहनीय मेहनत से तनाव बढ़ता है. जीवन में तनाव यानी टेंशन से दूर रहना चाहिए हालांकि ऐसा संभव नहीं है. हाल ही में आई द लैंसेट की रिपोर्ट में कहा गया है कि पिछले तीस सालों में दुनियाभर में 120 करोड़ लोग तनाव यानी टेंशन या यूं कहें कि हाइपरटेंशन की समस्या से जूझ रहे हैं.

भविष्य यही है...अंतरिक्ष का 'पेट्रोल पंप' सैटेलाइट्स में भर देगा ईंधन

15 सितंबर 2021

कुछ समय के बाद अंतरिक्ष में धरती की कक्षाओं में घूम रहे और स्थापित सैटेलाइट्स को ईंधन खत्म होने की वजह से निष्क्रिय नहीं होना होगा. न ही उन यानों को दिक्कत आएगी तो चांद या मंगल की यात्रा पर जाएंगे. क्योंकि उन्हें अंतरिक्ष में ही ईंधन भरने की सुविधा मिलेगी. इस साल जून में सैन फ्रांसिस्को स्थित एक स्टार्टअप कंपनी ने धरती की कक्षा में प्रोटोटाइप रीफ्यूलिंग स्टेशन लॉन्च किया था, जो सफलता पूर्वक काम कर रहा है.

इजरायली कंपनी ने बनाया लड़ाकू रोबोट, घुसपैठियों को लगाएगा ठिकाने

15 सितंबर 2021

इजरायल जल्द ही अपनी सीमाओं और युद्ध क्षेत्र से सैनिकों को हटाकर लड़ाके रोबोट्स और ड्रोन्स तैनात करने की तैयारी में है. इजरायली सरकार की रक्षा कंपनी इजरायल एयरोस्पेस इंडस्ट्रीस ने हाल ही में रिमोट से चलने वाले हथियारबंद रोबोट ड्रोन्स और कॉम्बैट रोबोट्स को लॉन्च किया है. ये सीमाओं की निगरानी कर सकते हैं. साथ ही घुसपैठियों को चेतावनी देकर उन्हें गोली भी मार सकते हैं.

US में 13 गोरिल्ला कोरोना संक्रमित...क्या इन्हें डेल्टा वैरिएंट ने दबोचा?

14 सितंबर 2021

अमेरिका के एक चिड़ियाघर में मौजूद 60 साल के बुजुर्ग नर गोरिल्ला समेत 13 गोरिल्लाओं को कोरोना संक्रमण हो गया है. चिड़ियाघर के प्रशासन ने यह बात पुख्ता तौर पर कही है कि इनके किसी हैंडलर से इन्हें संक्रमण मिला होगा. इनकी जांच तब कराई गई जब चिड़ियाघर के कर्मचारियों ने गोरिल्लाओं को खांसते और नाक बहते हुए देखा. साथ ही इनकी भूख खत्म हो गई थी. सवाल ये है कि क्या इन गोरिल्लाओं को कोरोना के डेल्टा वैरिएंट ने दबोचा है?

समुद्री आलू से 'पेनिस फिश' तक, 11 दुर्लभ समुद्री जीव

14 सितंबर 2021

समुद्र मंथन से सिर्फ अमृत या विष नहीं निकला था. आज भी कभी-कभी समुद्र से कुछ ऐसे विचित्र जीव बाहर निकल आते हैं, जिन्हें देखना इंसानों के लिए दुर्लभ होता है. ये जीव ऐसे होते हैं जैसे किसी अन्य दुनिया से आए फिल्मी जीव. कभी-कभी लगता है कि किसी अन्य ग्रह से कोई एलियन आ गया है. इस खबर में आपको हम ऐसे ही कुछ विचित्र जीवों के बारे में बताएंगे, जिन्हें इंसानों ने तभी देखा जब वो समुद्र से किसी तरीके से बाहर आ गए...

नेपच्यून के आगे मिलीं अनोखी कक्षाएं, जिसमें तैर रहीं अजीबो-गरीब चीजें

14 सितंबर 2021

वैज्ञानिकों ने बताया है कि 14 सितंबर को सौर मंडल का आखिरी ग्रह यानी नेपच्यून धरती के नजदीक दिखाई देगा. यानी वो खिसककर हमारे पास नहीं आ रहा है, बस वह ऐसी स्थिति में आ रहा है जहां से उसकी धरती से दूरी कम हो जाएगी. लेकिन इस ग्रह के साथ एक नया खुलासा हुआ है. अब इस ग्रह के ठीक पीछे साइंटिस्ट को कुछ विचित्र कक्षाएं मिली हैं. इनमें 461 नई अंतरिक्षीय वस्तुएं मिली हैं. जिन्हें पहले कभी नहीं देखा गया.

इंटरनेशनल स्पेस कॉन्फ्रेंस एंड एग्जीबिशन में मुख्य वक्ता थे इसरो प्रमुख डॉ. सिवन. (प्रतीकात्मक फोटोः गेटी)

अमेरिकी कंपनियों की निजी अंतरिक्ष उड़ान से सीखने को मिलाः डॉ. सिवन

13 सितंबर 2021

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान केंद्र (ISRO) के प्रमुख डॉ. के. सिवन ने कहा है कि निजी कंपनियों और स्पेस स्टार्टअप्स के लिए इसरो के दरवाजे खुले हैं. वो आएं और हमसे अपनी तकनीक शेयर करें, हम उन्हें बेहतरीन प्लेटफॉर्म देने के लिए तैयार बैठे हैं. हाल ही में अमेरिकी निजी कंपनियों की निजी अंतरिक्ष यात्राओं ने दुनियाभर को प्रेरित किया है. इसरो प्रमुख इंटरनेशनल स्पेस कॉन्फ्रेंस एंड एग्जीबिशन-2021 (ISCE) के उद्घाटन सत्र में बोल रहे थे.

पक्षियों के 'अभिमन्यु': अंडे में ही पक्षी सीख लेता है ये कला, स्टडी में खुलासा

10 सितंबर 2021

आपने महाभारत की वह कहानी तो सुनी होगी जिसमें अर्जुन के पुत्र अभिमन्यु ने मां के गर्भ में ही चक्रव्यूह तोड़ना सीख लिया था. अभिमन्यु की तरह ही कुछ पक्षियों के बच्चे अंडे में ही गाना गाना सीख लेते हैं. वो जन्मजात गायक बन जाते हैं. अंडे से बाहर आने के बाद उन्हें सिर्फ मामूली ट्रेनिंग की जरूरत पड़ती है. यह हैरतअंगेज खुलासा हुआ है हाल ही में हुई एक स्टडी में. इसमें बताया गया है कि ज्यादातर पक्षियों के बच्चे अंडे में ही ये सीख लेते हैं कि बाहर आकर कैसे गाना है.

पहली बार रिकॉर्ड हुआ दुर्लभ एंजेलशार्क के शिकार का Video

10 सितंबर 2021

शार्क की एक प्रजाति है जिसका सामान्य नाम एंजेलशार्क (Angelshark) है. इसे एंजेल इसलिए कहते हैं क्योंकि ऊपर से देखने पर इसका आकार एंजेल यानी परियों जैसा दिखता है. हाल ही में मरीन बायोलॉजिस्ट और फोटोग्राफर जेक डेविस ने इस दुर्लभ प्रजाति के शार्क की शिकार करते हुए वीडियो बनाया. ऐसा पहली बार हुआ है कि जब इस शार्क का इस तरह का वीडियो बनाया गया है. यह वीडियो इंग्लैंड के तट के पास समुद्र में बनाया गया है.

मौसम बदलने से बढ़ता है कोरोना संक्रमण? भारतीय वैज्ञानिकों की स्टडी

10 सितंबर 2021

कोरोनावायरस जब फैला तो कई तरह की अफवाहें उड़ी. कहा गया कि बारिश के मौसम या सर्दियों में ये काफी तेजी से फैलेगा. साथ ही ये भी कहा गया कि उष्णकटिबंधीय जलवायु (Tropical Climate) वाले देशों में कोरोना वायरस शायद ही उतनी तेज फैले, जितना कि अनुमान है. लेकिन भारत जैसे कई देश जो उष्णकटिबंधीय जलवायु या मौसम में आते हैं, वो कोरोना की मार से जूझ रहे हैं. अभी तक इसका कोई पुख्ता सबूत नहीं मिल पाया है कि मौसम का असर कोरोना वायरस पर होता है या नहीं.

Space Station पर धुआं निकलने से खलबली, लगातार आ रहीं मुसीबतें...

09 सितंबर 2021

अंतरराष्ट्रीय स्पेस स्टेशन पर धुएं का अलार्म बजने से स्पेस स्टेशन और धरती पर मौजूद वैज्ञानिकों की हालत खराब हो गई. यह घटना गुरुवार की है. जब स्पेस स्टेशन के रूसी मॉड्यूल में प्लास्टिक के जलने जैसी गंध आ रही थी. ये गंध वहां मौजूद कुछ एस्ट्रोनॉट्स ने सूंघी. इसके बाद पूरे स्पेस स्टेशन पर अलर्ट जारी कर दिया गया. कुछ दिन पहले भी रूसी मॉड्यूल में ही दरारें मिलने की खबर भी आई थी.