scorecardresearch
 

गुजरात

तीस्ता सीतलवाड़ (फाइल फोटो)

'तीस्ता सीतलवाड़ ने दंगा पीड़ितों के साथ धोखा किया...', करीबी रईस खान का दावा

27 जून 2022

24 जून को सुप्रीम कोर्ट ने गुजरात दंगे पर एसआईटी की रिपोर्ट के खिलाफ दाखिल याचिका को रद्द कर दिया था. इस याचिका को जाकिया जाफरी ने दाखिल किया था. सुप्रीम कोर्ट ने याचिका रद्द करते हुए कहा था तीस्ता सीतलवाड़ के बारे में और छानबीन की जरूरत है, क्योंकि तीस्ता इस मामले में जकिया जाफरी की भावनाओं का इस्तेमाल गोपनीय ढंग से अपने स्वार्थ के लिए कर रही थी.

सांकेतिक तस्वीर

गुजरात दंगा: क्या SC के फैसले और तीस्ता सीतलवाड़ की गिरफ्तारी का BJP को मिलेगा फायदा?

27 जून 2022

Gujarat Riots 2002: गुजरात में 2022 के विधानसभा चुनाव से पहले हुई तीस्ता सीतलाड़ और आरबी श्रीकुमार की गिरफ्तारी काफी महत्व रखती है. बीजेपी इस मसले को चुनावी मुद्दा भी बना सकती है.

Gujarat farmer alone dug 32 feet deep well

इस किसान ने किया कमाल, अकेले खोद डाला 32 फीट गहरा कुआं

27 जून 2022

गुजरात के डांग जिले में ठीक-ठाक बारिश के बाद भी जल से संकट से जूझना पड़ता है. पहाड़ी और चट्टानी इलाके के कारण बारिश का सारा पानी समुद्र में बह जाता है. ऐसे में यहां के लोगों को रोजाना उपयोग के लिए पानी की व्यवस्था करने के लिए भी इन्हें काफी मशक्कत करनी पड़ती है. .

गांधी गर्ल्स कॉलेज के प्रिंसिपल ने किया था नोटिस जारी.

गुजरात: प्रिंसिपल ने छात्राओं को दिया मैसेज, ज्वाइन करें BJP का पेज

27 जून 2022

गुजरात के एक कॉलेज के प्रिंसिपल ने स्टूडेंट्स को भारतीय जनता पार्टी (BJP) में शामिल होने के नियम बताए, जिसके बाद उन्हें सस्पेंड कर दिया गया है. दरअसल, इसका कांग्रेस ने विरोध किया था और प्रिंसिपल के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की थी.

गर्ल्स कॉलेज की प्रिंसिपल की ओर से जारी नोटिस का कांग्रेस ने विरोध किया है. -सांकेतिक तस्वीर

गुजरात: प्रिंसिपल ने भाजपा में शामिल होने के लिए स्टूडेंट्स को जारी किया नोटिस

27 जून 2022

गुजरात में इस साल के आखिर में विधानसभा चुनाव होने हैं. विधानसभा चुनाव से पहले अलग-अलग राजनीतिक पार्टियां लगातार राजनीतिक कार्यक्रम कर रही हैं. उधर, भावनगर के एक कॉलेज की प्रिंसिपल की ओर से स्टूडेंट्स को भाजपा में शामिल होने के लिए एक नोटिस जारी किया गया है.

1 जुलाई तक पुलिस रिमांड में भेजी गईं तीस्ता (फाइल फोटो)

'गुजरात दंगे के केस को राजनीतिक आकाओं के इशारे पर सनसनीखेज बनाया गया'

26 जून 2022

सुप्रीम कोर्ट ने गुजरात दंगों में तत्कालीन सीएम नरेंद्र मोदी को क्लीन चिट देने वाली SIT रिपोर्ट के खिलाफ दाखिल याचिका को 24 जून को खारिज कर दिया था. कोर्ट ने कहा कि तीस्ता सीतलवाड़ के बारे में और छानबीन की जरूरत है, क्योंकि तीस्ता इस मामले में जकिया जाफरी की भावनाओं का इस्तेमाल गोपनीय ढंग से अपने स्वार्थ के लिए कर रही थीं, वो इसीलिए इस मामले में लगातार घुसी रहीं.

तीस्ता सीतलवाड़. -फाइल फोटो

गुजरात दंगा: तीस्ता सीतलवाड़ 1 जुलाई तक पुलिस कस्टडी में भेजी गईं

26 जून 2022

गुजरात दंगा मामले में झूठी जानकारी देने के आरोप में सामाजिक कार्यकर्ता तीस्ता सीतलवाड़ और पूर्व आईपीएस अफसर आरबी श्रीकुमार को गुजरात एटीएस ने शनिवार को गिरफ्तार किया था. तीस्ता को मुंबई के जुहू के उनके घर से अरेस्ट किया गया था. आज दोनों को कोर्ट में पेश किया जाएगा.

तीस्ता सीतलवाड़ हुईं अरेस्ट, गुजरात दंगों में झूठी जानकारी देने के आरोप

25 जून 2022

Teesta Setalvad Arrested: गुजरात दंगे में सामाजिक कार्यकर्ता तीस्ता सीतलवाड़ को मुंबई से गिरफ्तार किया गया है. अहमदाबाद क्राइम ब्रांच ने तीस्ता को गिरफ्तार किया है. अहमदाबाद क्राइम ब्रांच की टीम तीस्ता को मुबंई से गुजरात ले गई है. जहां कल रविवार को कोर्ट में पेशी होगी. गुजरात दंगे में झूठी जानकारी देने का तीस्ता सीतलवाड़ पर आरोप है. वहीं अहमदाबाद क्राइम ब्रांच ने पूर्व आईपीएस अधिकारी आरबी श्रीकुमार को गिरफ्तार कर लिया है. दरअसल, गुजरात दंगा मामले में सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि इस मामले में मुख्यमंत्री की मीटिंग में शामिल होने के दावेदारों के बयान राजनीतिक रूप से सनसनी पैदा करने वाले थे. संजीव भट्ट, हिरेन पंड्या और आरबी श्रीकुमार ने SIT के सामने बयान दिया था जो निराधार और झूठे साबित हुए, क्योंकि जांच में पता चला कि ये लोग तो लॉ एंड ऑर्डर की समीक्षा के लिए बुलाई गई उस मीटिंग में शामिल ही नहीं हुए थे. देखें पूरी खबर.

तीस्ता सीतलवाड़ के घर पहुंची POLICE, देखें

25 जून 2022

गुजरात ATS की टीम शनिवार को मुंबई के जुहू स्थित तीस्ता सीतलवाड़ के घर पहुंची. गुजरात दंगों में सीतलवाड़ की भूमिका पर भी सुप्रीम अदालत ने और जांच की जरूरत बताई थी. एक दिन पहले सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में कहा था जितने लोग कानून का खिलवाड़ कर रहे हैं, उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जानी चाहिए. बताया जा रहा है कि फर्जीवाड़े के आरोप में शनिवार को FIR दर्ज की गयी है. पुलिस तीस्ता को अहमदाबाद ले जाना चाहती है. एक दिन पहले ही सुप्रीम कोर्ट ने तीस्ता के खिलाफ जांच करने की बात कही थी.

गुजरात दंगा: तीस्ता सीतलवाड़ के घर पहुंची ATS, जानें पूरा मामला

25 जून 2022

शुक्रवार को देश के सुप्रीम कोर्ट नें 2002 में गुजरात दंगों में तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी को क्लीन चिट देने वाली SIT रिपोर्ट के खिलाफ दाखिल याचिका को खारिज कर दिया था. और अब सुप्रीम कोर्ट ने तीस्ता सीतलवाड़ के घर एटीएस को जांच के लिए भेजा है. तीस्ता सीतलवाड़ जो मुंबई में हैं उनके घर सुप्रीम कोर्ट ने एटीएस को जांच के लिए भेजा है. तीस्सा सीतलवाड़ 2002 के गुजरात दंगो से ही पीएम मोदी पर निशाना साधती आईं हैं. उन पर दंगों से जुड़े आरोप लगाते आईं हैं. इस वीडियो में जानें क्या है पूरा मामला.

तीस्ता सीतलवाड़ के घर पर पहुंची ATS

गुजरात दंगा: ATS का बड़ा एक्शन, तीस्ता सीतलवाड़ अरेस्ट

25 जून 2022

सुप्रीम कोर्ट ने 24 जून को गुजरात दंगे पर एसआईटी की रिपोर्ट के खिलाफ दाखिल याचिका पर सुनवाई की थी. इस दौरान कोर्ट ने सामाजिक कार्यकर्ता तीस्ता सीतलवाड़ के पिछले रिकॉर्ड और भूमिका का जिक्र भी एसआईटी की रिपोर्ट और गुजरात सरकार की दलीलों के हवाले से किया था.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह (फाइल फोटो)

'19 साल तक शिव की तरह विष पीते रहे मोदी', गुजरात दंगों पर बोले शाह

25 जून 2022

Amit shah interview: गुजरात दंगों पर गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी भगवान शंकर की तरह विष पीते रहे. वे 19 सालों तक बिना कुछ बोले सब सहते रहे.  

मोदी विरोधी दुष्प्रचार पर 'सुप्रीम' वार, गुजरात दंगों पर पीएम मोदी को मिली क्लीन चिट

25 जून 2022

बीस साल पहले गुजरात में 2002 में दंगे हुए थे. उस दंगे को लेकर सरकारी साजिश के तमाम आरोप लगाये जाते रहे. सुप्रीम कोर्ट की बनाई SIT इन आरोपों को खारिज भी कर चुकी है लेकिन 2002 हिंसा में मारे गए सांसद एहसान जाफरी की पत्नी जाकिया जाफरी ने मीडिया रिपोर्ट्स के हवाले से सुप्रीम कोर्ट में प्रोटेस्ट पिटीशन दी थी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत 63 अन्य आरोपियों को क्लीन चिट दिये जाने पर सवाल उठाये थे लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने आज जाकिया जाफरी की उस प्रोटेस्ट पिटीशन को खारिज किया है. 450 पन्नों का फैसला सुनाया है. देखें वीडियो.

रेलवे पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए आरोपी.

UP में बुलडोजर एक्शन का बदला लेने के लिए गुजरात में ट्रेन पलटने की रची गई थी साजिश

24 जून 2022

उत्तर प्रदेश में सरकार की बुलडोजर की कार्रवाई (Bulldozer Action) के विरोध में गुजरात के मोरबी में ट्रेन को पलटने की साजिश रची गई थी. इस बात का खुलासा करते हुए राजकोट रेलवे पुलिस ने कहा कि दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है, जिन्होंने रेलवे ट्रैक पर पत्थरों का ढेर लगा दिया था. उनसे पूछताछ की जा रही है. एक महिला से भी पुलिस पूछताछ कर रही है.

पूर्व विधायक जेठाभाई राठौड़. (Photo: Aaktak)

पेंशन भी नहीं, BPL कार्ड से कट रही जिंदगी... झकझोर देगी इस पूर्व विधायक की कहानी

24 जून 2022

गुजरात के पूर्व विधायक जेठाभाई राठौड़ ने पेंशन के लिए सरकार से मदद की गुहार लगाई, लेकिन उन्हें इंसाफ नहीं मिला. आखिरकार उन्हें अदालत का दरवाजा खटखटाना पड़ा. हैरानी की बात यह है कि कोर्ट से आदेश मिलने के बावजूद अब तक उन्हें पेंशन नहीं मिली. वह खुद बीपीएल राशनकार्ड के सहारे जीने को मजबूर हैं. परिवार चलाने के लिए उनके बेटे मजदूरी करते हैं.

प्रतीकात्मक फोटो

गुजरात: सरोगेट मदर जेल में बंद, दो दिन के बच्चे की कस्टडी के लिए HC पहुंचे जेनेटिक पैरेंट्स

24 जून 2022

राजस्थान के रहने वाले इस दंपति की कोई संतान नहीं थे. वे गुजरात के अहमदाबाद में अपने रिश्तेदार के यहां आए थे. यहां उनकी मुलाकात मेहसाणा की एक तलाकशुदा महिला से हई. वह उनके बच्चे के लिए सरोगेट मां बनने के लिए तैयार हो गई. लेकिन बाद में पता चला कि उन लोगों ने जिस महिला से समझौता किया है, वह बच्चे चोरी करने वाली गैंग की सदस्य है.

सुप्रीम कोर्ट (फाइल फोटो)

'...ये किसी दूसरे के निर्देश से प्रेरित', जाकिया जाफरी की याचिका पर SC की टिप्पणी

24 जून 2022

सुप्रीम कोर्ट ने गुजरात दंगों में नरेंद्र मोदी को क्लीन चिट देने वाली याचिका खारिज करते हुए इसे कड़ाही को खौलाते रहने की कोशिश बताया है. सुप्रीम कोर्ट ने जाकिया जाफरी की याचिका को लेकर कहा है कि ये किसी दूसरे के निर्देश से प्रेरित नजर आती है.

गुजरात दंगों से जुड़ी जाकिया जाफरी की याचिका पर क्या बोला कोर्ट?

24 जून 2022

सुप्रीम कोर्ट ने 2002 में गुजरात दंगों में तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी को क्लीन चिट देने वाली SIT रिपोर्ट के खिलाफ दाखिल याचिका को खारिज कर दिया है. ये याचिका जाकिया जाफरी की ओर से दाखिल की गई थी. कोर्ट ने SIT की जांच रिपोर्ट को सही माना है. जाकिया जाफरी पूर्व सांसद अहसान जाफरी की पत्नी हैं. जस्टिस एएम खानविलकर, जस्टिस दिनेश माहेश्वरी और जस्टिस सीटी रविकुमार की बेंच ने ये फैसला सुनाया है. सुप्रीम कोर्ट ने सात महीने पहले 9 दिसंबर 2021 को जाकिया जाफरी की याचिका पर मैराथन सुनवाई पूरी करने के बाद फैसला सुरक्षित रखा था. देखें

सुप्रीम कोर्ट (फाइल फोटो)

गुजरात दंगाः SIT की रिपोर्ट के खिलाफ याचिका पर SC का फैसला आज

24 जून 2022

गुजरात दंगों की जांच के बाद एसआईटी ने नरेंद्र मोदी और राज्य के तत्कालीन शीर्ष पदाधिकारियों को क्लीन चिट दे दी थी. एसआईटी की रिपोर्ट के खिलाफ जाकिया जाफरी ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की थी. इस पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आज आएगा.

नफीसा (फाइल फोटो)

'मुझे दिल के करीब ले आए और खुद नहीं आए...', खुदकुशी से पहले के लफ्ज़

23 जून 2022

Nafisa suicide Case: नफीसा ने अपने प्रेमी से बेइंतहा प्यार किया. हालांकि उसे प्यार के बदले अपने प्रेमी से धोखे के सिवाय कुछ नहीं मिला. और एक दिन आहत होकर नफीसा ने अपनी जिंदगी खत्म कर ली.

(प्रतीकात्मक फोटो)

गुजरात: भाई ने चाकू से गोदकर की बहन हत्या, मां पर भी किया हमला

23 जून 2022

वडोदरा में एक शख्स ने चाकू से गोदकर अपनी बहन की हत्या कर दी. बताया जा रहा है कि आरोपी की मानसिक स्थिति ठीक नहीं है, जिसके चलते उसने यह कदम उठाया. बहन को मारने से पहने आरोपी ने मां पर भी हमला किया था. पुलिस मामले की जांच कर रही है.