scorecardresearch
 

दिल्ली-NCR में आखिर क्यों हो रही इतनी बारिश? मौसम विभाग ने बताई ये वजह

जब मॉनसून के जाने का वक्त आ गया है तो दिल्ली-एनसीआर में बादल जमकर बरस रहे हैं. गुरुवार को इतनी बारिश हुई कि दिल्ली गुरुग्राम हाईवे जाम हो गया. दिल्ली-एनसीआर के कई इलाकों में जलभराव हो गया. यूपी-हरियाणा के कई स्कूलों में छुट्टी घोषित कर दी गई. मौसम विभाग ने दिल्ली-एनसीआर में हो रही इस झमाझम की वजह पता कर ली है. विभाग ने बताया कि अभी कुछ और दिन इसी तरह बारिश होगी.

X
दिल्ली-एनसीआर में अभी दो दिन और बारिश होने का अनुमान (फाइल फोटो) दिल्ली-एनसीआर में अभी दो दिन और बारिश होने का अनुमान (फाइल फोटो)
1:23

दिल्ली-एनसीआर पिछले दो दिन से रुक-रुक बारिश हो रही है. गुरुवार को भी यूपी, दिल्ली, हरियाणा के कई इलाकों में झमाझम बारिश हुई. शुक्रवार को भी भारी बारिश के आसार है. मौसम विभाग के मुताबिक इन इलाकों में अभी कुछ दिन और हल्की से तेज बारिश हो सकती है. इसी के साथ ही विभाग ने येलो अलर्ट जारी कर दिया है. ऐसे में सवाल उठता है कि मॉनसून जब जाने को है तो अचानक दिल्ली-एनसीआर में इतनी बारिश क्यों हो रही है और आखिरकार इसका असर कब तक रहेगा.

मौसम में बदलाव की ये दो सिस्टम हैं वजह

दिल्ली-एनसीआर में अचानक  मौसम में बदलाव और बारिश दो सिस्टम के एक साथ आने की वजह से हुआ है. पहला सिस्टम एक लो प्रेशर सिस्टम है, जिसकी वजह से एक साइक्लोनिक सरकुलेशन निचले वातावरण में बना हुआ है. यह सिस्टम उत्तर पश्चिम मध्य प्रदेश और दक्षिण पश्चिम उत्तर प्रदेश में सक्रिय है. वह पश्चिमी उत्तर प्रदेश, दक्षिणी हरियाणा और दिल्ली एनसीआर के इलाकों की तरफ फिलहाल एक्टिव होता हुआ नजर आ रहा है.

वहीं दूसरा सिस्टम एक वेस्टर्न डिस्टरबेंस यानी पश्चिमी विक्षोभ का है, जो वातावरण के ऊपरी इलाके में सक्रिय है. इसके साथ ही पछुआ हवाएं भी चल रही हैं. इन हवाओं को मिड ट्रोपास्फेरिक वेस्टरली भी कहा जाता है.

अगर दूसरा सिस्टम मौजूद नहीं होता तो पहला सिस्टम पश्चिम दिशा की ओर निकल जाता लेकिन दूसरे सिस्टम ने पहले सिस्टम को इसी इलाके में रोक रखा है जो अगले 2 दिनों तक बारिश करता रहेगा. दोनों मजबूत सिस्टम उत्तर प्रदेश, साउथ हरियाणा और दिल्ली एनसीआर में इस वीकेंड यानी सप्ताहांत तक बने रह सकते हैं.

आज भी बारिश के आसार: मौसम विभाग

दिल्ली में आज ज्यादातर इलाकों में मध्यम बारिश को लेकर चेतावनी जारी की गई है. पालम केंद्र की तरफ से बताया गया कि गुरुवार की सुबह 8:30 से रात 8:30 बजे के बीच करीब 81 मिमी बारिश रिकॉर्ड की गई.

15 मिमी से नीचे दर्ज की गई बारिश को हल्का माना जाता है. 15 से 64.5 मिमी के बीच मध्यम, 64.5 मिमी और 115.5 मिमी के बीच भारी बारिश की श्रेणी में है. वहीं, 115.6 और 204.4 के बीच बहुत भारी बारिश होती है. 204.4 मिमी से ऊपर अत्यधिक भारी वर्षा मानी जाती है.

गुरुग्राम में लग गया 5 किमी. लंबा जाम लगा

गुरुग्राम और फरीदाबाद में भारी बारिश हो रही है. गुरुग्राम में बारिश के कारण हाइवे पर 5 KM लंबा जाम लग गया. हाईवे की सर्विस लेन पर भी बारिश का पानी भर गया, जिसके चलते वाहनों की कतार लग गई. फरीदाबाद में कई जगह जलभराव हो गया. बारिश को लेकर मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने गुरुवार और शुक्रवार के लिए येलो अलर्ट जारी किया है.

गुरुग्राम में वर्क फ्रॉम होम करने की सलाह

गुरुग्राम के जिला प्रशासन ने एडवाइजरी जारी कर कहा कि गुरुग्राम में 23 सितंबर को भारी बारिश के मद्देनजर जिले के सभी कॉर्पोरेट कार्यालयों और निजी संस्थानों को कर्मचारियों को घर से काम करने की सलाह दी जाती है, ताकि ट्रैफिक जाम से बचाया जा सके और मरम्मत कार्य किया जा सके. जिला के सभी निजी/सरकारी शिक्षण संस्थानों में आज अवकाश घोषित कर दिया गया है.

नोएडा समेत कई यूपी के जिलों में स्कूल बंद 

भारी बारिश के चलते गौतमबुद्धनगर, फिरोजाबाद, कानपुर में आज नर्सरी से लेकर आठवीं तक के सभी स्कूल बंद रहेंगे. वहीं फर्रुखाबाद और इटावा में खराब मौसम और मूसलाधार बारिश के कारण 24 सितंबर तक के लिए स्कूल बंद रखे गए हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें