scorecardresearch
 

किशनगंज

किशनगंज

किशनगंज

किशनगंज

किशनगंज (Kishanganj) भारत के बिहार राज्य का एक जिला है, और किशनगंज शहर इस जिले का प्रशासनिक मुख्यालय है. यह जिला पूर्णिया (Purnia) डिवीजन का हिस्सा है जिसकी सीमाएं, पश्चिम में अररिया, दक्षिण-पश्चिम में पूर्णिया, पूर्व में पश्चिम बंगाल के उत्तर दिनाजपुर जिले और उत्तर में पश्चिम बंगाल (West Bengal) और दार्जिलिंग (Darjleeng) से साझा करती है. पश्चिम बंगाल की लगभग 20 किमी चौड़ी एक संकीर्ण पट्टी  इसे बांग्लादेश (Bangladesh) से अलग करती है. इस जिले का क्षेत्रफल 1,884 वर्ग किलोमीटर है (Kishanganj Geographical Area)

2011 जनगणना के आंकड़ों के मुताबिक किशनगंज की जनसंख्या (Kishanganj Population) 16.90 लाख है और यहां प्रति वर्ग किलोमीटर 897 लोग रहते हैं (Density). यहां का लिंग अनुपात (Sex Ratio) 950 है. इस जिले की 55.46 फीसदी जनसंख्या साक्षर है. इनमें पुरुष 63.66 फीसदी और महिलाओं की साक्षरता दर 46.76 फीसदी है (Kishanganj Literacy).

किशनगंज जिला, जो पहले पूर्णिया जिले का हिस्सा था, मिथिला क्षेत्र का हिस्सा रहा है. मिथिला ने पहली बार इंडो-आर्यन लोगों द्वारा बसने के बाद प्रमुखता प्राप्त की जिन्होंने मिथिला साम्राज्य की स्थापना की, जिसे वीडियास के राज्य भी कहा जाता है.  किशनगंज जिले से बहने वाली प्रमुख नदियां महानंद, कंकाई, मेची, डोनक, रतुआ हैं (Kishanganj Rivers) साथ ही यह बिहार में एकमात्र चाय उत्पादक जिला है (Kishanganj Tea Production).

वैदिक काल के दौरान यह स्थान वीडियास का राज्य कुरु और पनका के साथ दक्षिण एशिया के प्रमुख राजनीतिक और सांस्कृतिक केंद्रों में से एक बन गया. वीडियास के राजाओं को जनक कहा जाता था.  मिथिला साम्राज्य को बाद में वाजजी संघ में शामिल किया गया था, जिसमें वैशाली शहर में इसकी राजधानी थी, जो मिथिला में भी है (Kishanganj History).

और पढ़ें

किशनगंज न्यूज़