scorecardresearch
 

देखते ही देखते भिड़ गए दो PAK क्रिकेटर- धर्म और फिक्सिंग तक जा पहुंची बात

पाकिस्तान के दो पूर्व क्रिकेटरों के बीच ट्विटर पर हल्की नोकझोंक देखते ही देखते कड़वी बातों में बदल गई. यह लड़ाई धर्म, मैच फिक्सिंग और देश के प्रति समर्पण तक जा पहुंची.

फैसल इकबाल Vs दानिश कनेरिया फैसल इकबाल Vs दानिश कनेरिया

पाकिस्तान के दो पूर्व क्रिकेटरों के बीच ट्विटर पर हल्की नोकझोंक देखते ही देखते कड़वी बातों में बदल गई. यह 'लड़ाई' धर्म, मैच फिक्सिंग और देश के प्रति समर्पण तक जा पहुंची. दानिश कनेरिया और फैसल इकबाल के बीच यह 'द्वंद्व' सामने आया.

बात एक वीडियो से शुरू हुई. इसमें पाकिस्तान के अपने समय के कामयाब स्पिनर कनेरिया की गेंद पर वेस्टइंडीज के दिग्गज बल्लेबाज ब्रायन लारा को एक के बाद एक छक्के मारते दिखाया गया है.

ये भी पढ़ें- दानिश कनेरिया का नमस्कार-सलाम-जय श्रीराम, वीडियो VIRAL

मैच में कनेरिया ने लारा को उकसाया और फिर लारा उनकी गेंदों की धुनाई करने लगे थे.. इस वीडियो पर पाकिस्तान के पूर्व बल्लेबाज फैसल इकबाल ने लिखा, ‘मैं खुद इस मैच में 12वां खिलाड़ी था. दानिश कनेरिया के व्यंग्य के जवाब में किंग लारा के छक्के देखने को मिले. बाद में लेग स्पिनर यानी कनेरिया खुद डरे-सहमे नजर आए.’ कनेरिया को फैसल इकबाल की बात पसंद नहीं आई.

उन्होंने जवाबी ट्वीट किया, ‘ब्रायन लारा अच्छे क्रिकेटर थे, लेकिन मैंने उन्हें पांच बार आउट भी किया था. फैसल इकबाल अपने करियर के आंकड़ों पर नजर डालें. साथ ही बताएं कि मैंने पाकिस्तान को कितने मैच जितवाए हैं.’

फिर क्या था फैसल ने दोबारा ट्वीट किया, ‘मेरे करियर के आंकड़े एक झूठे और फिक्सर से बेहतर हैं. किसने सालों तक धन की खातिर अपनी आत्मा बेची और जो सहानुभूति हासिल करने के लिए 24/7 धर्म के कार्ड का इस्तेमाल कर रहा है. देश का झंडा सीने से लगाकर मैंने प्रदर्शन किया...और मेरे सभी आंकड़ों पर गर्व है... इसमें कोई दाग तो नहीं है.’

इस पर कनेरिया ने पलटवार किया, ‘मैंने पैसों के लिए कभी अपने देश को नहीं बेचा और मुझे पाकिस्तानी होने पर गर्व है. ...पर बहुत से खिलाड़ियों ने अपने मुल्क को बेचा और उनका आज भी स्वागत किया जाता है. क्या आप इनके बारे में बात करना पसंद करेंगे.’

दरअसल, कनेरिया हिंदू हैं. उनका कहना है कि इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड ने उन पर फिक्सिंग के मामले में जो बैन लगाया, उससे उन्हें निकालने में पाकिस्तान बोर्ड ने मदद नहीं की. दूसरी तरफ फिक्सिंग के आरोप में प्रतिबंध और जेल की सजा काटने वाले (मो. आमिर) की पाक क्रिकेट में वापसी कराई.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें