scorecardresearch
 

टीम इंडिया के तेज गेंदबाजों ने जमकर किया अभ्यास, न्यूजीलैंड XI को 235 रनों पर समेटा

भारतीय टीम ने हेमिल्टन में तीन दिवसीय अभ्यास मैच के दूसरे दिन न्यूजीलैंड XI की पहली पारी 235 रनों पर समेट दी और 28 रनों की बढ़त हासिल कर ली.

मो. शमी सबसे सफर बॉलर रहे (BCCI) मो. शमी सबसे सफर बॉलर रहे (BCCI)

  • न्यूजीलैंड के खिलाफ तेज गेंदबाजों का दिखा दम
  • दूसरी पारी में पृथ्वी-मयंक की अच्छी बल्लेबाजी

भारतीय टीम ने हेमिल्टन में तीन दिवसीय अभ्यास मैच के दूसरे दिन न्यूजीलैंड XI की पहली पारी 235 रनों पर समेट दी और 28 रनों की बढ़त हासिल कर ली. टीम इंडिया अपनी पहली पारी में 263 रन बनाकर आउट हो गई थी. 21 फरवरी से शुरू हो रही दो टेस्ट मैचों की सीरीज से पहले भारतीय तेज गेंदबाजों ने अच्छा अभ्यास किया, हालांकि इस मैच को प्रथम श्रेणी का दर्जा हासिल नहीं है.

भारत ने अपनी दूसरी पारी में बिना कोई विकेट गंवाए 59 रन बनाए हैं. स्टम्प्स के समय मयंक अग्रवाल 23 और पृथ्वी शॉ 35 रन बनाकर नाबाद थे. इससे पहले टीम इंडिया ने न्यूजीलैंड XI के बल्लेबाजों को अपनी तेजी का अहसास कराया और लगातार अंतराल पर विकेट चटकाए.

मो. शमी ने 17 रन देकर तीन विकेट झटके, जबकि जसप्रीत बुमराह, उमेश यादव और नवदीप सैनी ने 2-2 विकेट चटकाए. ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को एक सफलता मिली. बाएं हाथ के स्पिनर रवींद्र जडेजा को विकेट नहीं मिला.

भारतीय टीम हेमिल्टन में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए पहले ही दिन अपनी पहली पारी में 263 रनों पर सिमट गई थी. टीम इंडिया ने अपना पहला विकेट शून्य पर गंवाया था, जब सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ खाता खोले बगैर लौट गए. इसके बाद मयंक अग्रवाल (1) भी चलते बने.

शानदार फॉर्म में चल रहे शुभमन गिल (0) भी कुछ नहीं कर सके और भारत ने महज 5 रनों पर अपने 3 विकेट खो दिये थे. शॉ और गिल अतिरिक्त उछाल का सामना नहीं कर पाए, जबकि अग्रवाल सीम के शिकार हुए. कप्तान विराट कोहली ने अभ्यास मैच की बजाय नेट अभ्यास को तरजीह दी.

पृथ्वी शॉ-मयंक का तेज आगाज

पिच अब बल्लेबाजों के लिए आसान होती जा रही है. पृथ्वी शॉ (25 गेंद में नाबाद 35 रन) ने कई कवर ड्राइव लगाए और उनकी पारी में एक शानदार छक्का भी शामिल रहा. मयंक अग्रवाल (17 गेंद में नाबाद 23 रन) ने एक छक्का लगाया. भारत ने लगातार दूसरे दिन शॉ-अग्रवाल की सलामी जोड़ी को उतारा, जिससे शुभमन गिल को शायद अपने टेस्ट पदार्पण के लिए इंतजार करना होगा.

बुमराह-शमी ने लय हासिल की

मुख्य कोच रवि शास्त्री अपने तेज गेंदबाजों की लय देखना चाहते थे और बुमराह व शमी ने बादलों भरे मौसम में काफी अच्छी गेंदबाजी की. उमेश यादव और नवदीप सैनी ने हालांकि अपने पहले स्पेल में काफी फुल लेंथ गेंदें फेंकी. बुमराह ने उछाल हासिल करते हुए बल्लेबाजों को परेशान किया और तीन छोटे स्पेल में गेंदबाजी की, जबकि शमी ने दो स्पेल डाले. शमी ने ध्यान सीम को दोनों तरीकों से गेंदबाजी करने पर लगाया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें