scorecardresearch
 

बिहार के सरकारी अस्पतालों में अब किडनी ट्रांसप्लांट मुफ्त, दवा का खर्च भी उठाएगी सरकार

बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली सरकार ने सरकारी अस्पतालों में मुफ्त किडनी ट्रांसप्लांट का ऐलान किया है. बिहार सरकार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर ये ऐलान किया है कि किडनी ट्रांसप्लांट के बाद सभी दवाओं का खर्च भी सरकार उठाएगी. नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली सरकार के इस ऐलान को मास्टर स्ट्रोक के तौर पर देखा जा रहा है.

X
तेजस्वी यादव (फाइल फोटो) तेजस्वी यादव (फाइल फोटो)

बिहार में नीतीश कुमार ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) का साथ छोड़ राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) से मिलकर सरकार बना ली थी. नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली बिहार की महागठबंधन सरकार पर बीजेपी हमलावर है तो वहीं 2024 के चुनावी मूड में नजर आ रहे नीतीश के नेतृत्व वाली सरकार एक्टिव मोड में है.

बिहार सरकार ने अब किडनी रोगियों के लिए बड़ा ऐलान किया है. बिहार के सरकारी अस्पतालों में अब किडनी ट्रांसप्लांट की सुविधा बगैर किसी शुल्क के उपलब्ध कराई जाएगी. बिहार सरकार न केवल सरकारी अस्पतालों में किडनी ट्रांसप्लांट का खर्च उठाएगी, बल्कि मरीजों की ओर से ली जाने वाली सभी दवाओं का खर्च भी वहन करेगी.

बिहार सरकार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर इस बात का ऐलान किया है. तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर कहा है कि महागठबंधन सरकार अब बिहार के सरकारी अस्पतालों में मुफ्त किडनी ट्रांसप्लांट के साथ-साथ मरीजों की ओर से ली जा रही सभी प्रकार की दवाओं का खर्च भी वहन करेगी. तेजस्वी यादव ने ऐसा अपनी पार्टी आरजेडी का ट्वीट, रिट्वीट करते हुए कहा.

आरजेडी ने ट्वीट कर इस फैसले की जमकर तारीफ की है. आरजेडी ने ट्वीट कर कहा है कि महागठबंधन सरकार अब बिहार के सरकारी अस्पतालों में मुफ्त किडनी ट्रांसप्लांट के साथ-साथ मरीजों की ओर से ली जा रहीं सभी प्रकार की दवाओं का खर्च भी वहन करेगी. महागठबंधन की नई जन सरोकार वाली सरकार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में तेजस्वी यादव ने संवेदनशीलता का परिचय दिया है.

गौरतलब है कि किडनी ट्रांसप्लांट कराने में काफी खर्च आता है. किडनी मिलने के बाद भी बड़ी संख्या में लोग किडनी ट्रांसप्लांट कराने से बचते हैं. किडनी ट्रांसप्लांट कराने के बाद महंगी दवाएं चलती हैं जिसे वहन कर पाना आम आदमी की पहुंच से बाहर हो जाता है. ऐसे में मुफ्त किडनी ट्रांसप्लांट और इसके बाद सभी दवाएं मुफ्त देने का बिहार सरकार का ये कदम मास्टर स्ट्रोक माना जा रहा है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें