scorecardresearch
 

सीरीज में लौटने के लिए भारतीय बल्लेबाजों को दिखाना होगा फॉर्म

पहले वनडे में पाकिस्तानी तेज गेंदबाजों के सामने नतमस्तक हुए भारतीय बल्लेबाजों को सीरीज में बराबरी के लिये दूसरे क्रिकेट मैच में हर हालत में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा.

पहले वनडे में पाकिस्तानी तेज गेंदबाजों के सामने नतमस्तक हुए भारतीय बल्लेबाजों को सीरीज में बराबरी के लिये दूसरे क्रिकेट मैच में हर हालत में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा.

पाकिस्तानी तेज गेंदबाज जुनैद खान ने 43 रन देकर चार विकेट चटकाते हुए भारतीय बल्लेबाजी की धज्जियां उड़ा दी थी. पाकिस्तान ने चेन्नई में खेला गया पहला मैच छह विकेट से जीता था. भारत के शीर्ष पांच बल्लेबाज तो दोहरे अंक तक भी नहीं पहुंच सके. कप्तान महेंद्र सिंह धोनी नाबाद 113 रन नहीं बनाते तो भारत की स्थिति और शर्मनाक होती. तीन मैचों की श्रृंखला में भारत 0-1 से पीछे है. गुरुवार को हारने पर भारत एक पखवाड़े के भीतर दूसरी श्रृंखला हार जायेगा. इंग्लैंड ने हाल ही में 28 बरस बाद भारत में पहली टेस्ट श्रृंखला 2-1 से जीती. ईडन गार्डन पर पाकिस्तान का पलड़ा हमेशा भारी रहा है और भारत पर अच्छे प्रदर्शन का भारी दबाव भी है. भारत के दोनों सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग और गौतम गंभीर फार्म में नहीं है. सचिन तेंदुलकर के संन्यास लेने के बाद सहवाग पर जिम्मेदारी और बढ गई है. उन्होंने 2012 में 10 मैचों में 217 रन बनाये. श्रीलंका के खिलाफ 96 रन को छोड़कर वह कोई उल्लेखनीय पारी नहीं खेल सके. टी20 श्रृंखला नहीं खेलने वाले सहवाग एक दिवसीय क्रिकेट में भारतीय बल्लेबाजी की रीढ हैं लिहाजा उनका फार्म में लौटना बहुत जरूरी है.

धोनी ने सहवाग से ही पारी की शुरुआत कराने के संकेत देते हुए कहा, ‘सहवाग जैसे सीनियर खिलाड़ी जब टीम में होते हैं और श्रृंखला के लिये खास तौर पर उनका चयन होता है तो उनका साथ देना चाहिये.’

विराट कोहली का खराब फार्म भी भारत की चिंता का विषय बना हुआ है. चेन्नई में कोहली के पैर में चोट लग गई थी और उनका खेलना संदिग्ध है. दूसरे टी20 मैच में 36 गेंद में 72 रन बनाने वाले युवराज सिंह को छोड़कर कोई भी भारतीय बल्लेबाज अपनी ख्याति के अनुरूप नहीं खेल पा रहा है. कप्तान ने अपने सितारा बल्लेबाजी क्रम का बचाव करते हुए कहा, ‘शीषर्क्रम के सभी बल्लेबाज बोल्ड हुए जिसके मायने हैं कि गेंदबाजी अच्छी थी. हमारे शीषर्क्रम की क्षमता पर सवाल नहीं उठाये जा सकते.’

उन्होंने कहा, ‘शुरुआत में गेंदबाजों को पिच से काफी मदद मिली और उन्होंने सही दिशा में गेंदबाजी भी की.’ प्रतिभाशाली बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे को कोहली के अनफिट रहने पर मौका मिल सकता है. धोनी भले ही इंग्लैंड से मिली हार को लेकर आलोचना झेल रहे हों लेकिन उन्होंने इससे विचलित हुए बिना नाबाद शतक जमाकर भारत को संकट से निकाला. उन्होंने हालांकि कहा कि भविष्य में ऐसी नौबत नहीं आने देना चाहिये. उन्होंने कहा, ‘ऐसी नौबत ही नहीं आनी चाहिये कि छठे या सातवें नंबर के बल्लेबाज को शतक बनाना पड़े.’

गेंदबाजी में भारत को भुवनेश्वर सिंह से फिर अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद होगी. वहीं स्पिन आक्रमण का जिम्मा आर अश्विन संभालेंगे. भारत तीन तेज गेंदबाजों और एक स्पिनर के साथ ही उतरेगा जिसके मायने हैं कि स्थानीय खिलाड़ी मोहम्मद शमी अहमद को अभी इंतजार करना होगा. दूसरी ओर पाकिस्तान ने ईडन गार्डन पर तीन मैच खेले और तीनों जीते हैं. उनकी नजरें दूसरा मैच जीतकर श्रृंखला अपने नाम करने पर होगी. उमर गुल, जुनैद खान और मोहम्मद इरफान की मौजूदगी में पाकिस्तानी तेज आक्रमण भारतीय बल्लेबाजों के जी का जंजाल बना हुआ है. सात फुट एक इंच लंबे इरफान की मांसपेशियों में खिंचाव आ गया था और अब देखना है कि वह गुरुवार को खेलता है या नहीं. सभी की नजरें बायें हाथ के तेज गेंदबाज जुनैद पर होगी जिसने चेन्नई में नयी गेंद से कहर बरपाया था.

कप्तान मिसबाह उल हक के लिये चिंता का सबब डैथ ओवरों में गेंदबाजों का प्रदर्शन होगा जिन्होंने चेन्नई में 81 रन दे दिये थे. अहमदाबाद टी20 में भी आखिरी पांच ओवरों में गेंदबाजों ने 74 रन दिये. मिसबाह ने कहा, ‘हमें डैथ ओवरों और पावर प्ले में अपनी गेंदबाजी और क्षेत्ररक्षण में सुधार करना होगा. दो बल्लेबाज जब जम जाते हैं तो गेंदबाजी में दिक्कत आती है. चेन्नई में धोनी के कारण ऐसा हुआ.’

अनुभवी यूनिस खान की वनडे टीम में वापसी से पाकिस्तान को बल्लेबाजी में ज्यादा चिंता नहीं है. मोहम्मद हफीज, नासिर जमशेद और शोएब मलिक फार्म में हैं ही. युवा नासिर ने एक अच्छे सलामी बल्लेबाज की भूमिका बखूबी निभाते हुए नाबाद 101 रन बनाकर पाकिस्तान की जीत के सूत्रधार की भूमिका निभाई. वह इस लय को कायम रखना चाहेगा. मैच दोपहर में शुरू होगा लेकिन ओस की भूमिका अहम हो सकती है. क्यूरेटर प्रबीर मुखर्जी ने हालांकि बल्लेबाजों की मददगार पिच बनाने का वादा किया था.

टीमें: भारत: महेंद्र सिंह धोनी (कप्तान), वीरेंद्र सहवाग, गौतम गंभीर, विराट कोहली, युवराज सिंह, रोहित शर्मा, सुरेश रैना, आर अश्विन, भुवनेश्वर कुमार, ईशांत शर्मा, अशोक डिंडा, अजिंक्य रहाणे, रविंद्र जडेजा, अमित मिश्रा और मोहम्मद शमी अहमद.
पाकिस्तान: मिसबाह उल हक (कप्तान), मोहम्मद हफीज, नासिर जमशेद, अजहर अली, यूनिस खान, शोएब मलिक, कामरान अकमल, जुनैद खान, उमर गुल, सईद अजमल, मोहम्मद इरफान, अनवर अली, हारिस सोहेल, इमरान फरहत, उमर अकमल, वहाब रियाज और जुल्फिकार बाबर.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें