scorecardresearch
 

राजस्थानः हनी ट्रैप में फंसकर पाकिस्तानी जासूस बन गया MES का चपरासी राम सिंह, ऐसे भेजता था सूचनाएं

डीजीपी उमेश मिश्रा के मुताबिक चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी होने के कारण राम सिंह अक्सर पत्रावलियों को इधर-उधर ले जाने और फोटो स्टेट मशीन चलाने काम करता था. इसी दौरान वह दस्तावेजों की फोटो अपने मोबाइल फोन से खींचकर उस महिला को भेज रहा था.

अब पुलिस के साथ-साथ कई एजेंसियों के अधिकारी पाक जासूस राम सिंह से पूछताछ कर रहे हैं अब पुलिस के साथ-साथ कई एजेंसियों के अधिकारी पाक जासूस राम सिंह से पूछताछ कर रहे हैं
स्टोरी हाइलाइट्स
  • एमईएस के जोधपुर जोन कार्यालय में तैनात था राम सिंह
  • कई माह से पाकिस्तान के लिए जासूसी कर रहा था राम सिंह
  • पुलिस समेत कई एजेंसियां कर रही हैं पाक जासूस से पूछताछ

राजस्थान पुलिस की इंटेलिजेंस यूनिट ने एक पाकिस्तानी जासूस राम सिंह को गिरफ्तार किया है. जो पिछले कई महीनों से सेना की खुफिया जानकारी सरहद पार भेज रहा था. राम सिंह खुद मिलिट्री इंजीनियरिंग सर्विस (MES) के जोधपुर जोन ऑफिस में तैनात था. वो पाकिस्तानी महिला हैंडलर के हनी ट्रैप में फंस कर सामरिक महत्व की सूचनाएं लीक कर रहा था.

राजस्थान के पुलिस महानिदेशक (इंटेलिजेंस) उमेश मिश्रा ने जानकारी देते हुए बताया कि मिलिट्री इंजिनियरिंग सर्विस (MES) के जोधपुर जोन के चीफ इंजीनियर ऑफिस में तैनात चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी राम सिंह पुत्र गजेंद्र सिंह को पाकिस्तान के लिए जासूसी करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. उसकी उम्र करीब 35 साल है. वह गांव गोवा, थाना देलवाड़ा, जिला सिरोही का रहने वाला है. 

डीजीपी मिश्रा ने बताया कि आरोपी राम सिंह पिछले 2 माह से पाकिस्तानी महिला हैन्डलर के संपर्क में था. वह व्हॉट्सएप के जरिये उसके संपर्क में आया था. महिला हैन्डलर ने पहले उससे दोस्ती कर ली. फिर उससे शादी करने और मिलने का झांसा देकर भारतीय सेना की सामरिक महत्व की सूचनाएं मांगने लगी. राम सिंह जानकारी और फोटो व्हॉट्सएप के जरिए उस महिला को भेजता था. 

इसे भी पढ़ें--- महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक ने NCB पर क्यों लगाए गंभीर आरोप, जानिए समीर खान से जुड़ा पूरा मामला 

उमेश मिश्रा के मुताबिक चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी होने के कारण राम सिंह अक्सर पत्रावलियों को इधर-उधर ले जाने और फोटो स्टेट मशीन चलाने काम करता था. इसी दौरान वह दस्तावेजों की फोटो अपने मोबाइल फोन से खींचकर उस महिला को भेज रहा था. एक गुप्त सूचना के आधार पर इंटेलिजेंस टीम उसकी निगरानी कर रही थी.

डीजी इंटेलिजेंस ने बताया कि गिरफ्तारी के बाद आरोपी राम सिंह से जोधपुर में संयुक्त रूप से कई एजेंसियां पूछताछ कर रही हैं. जयपुर ले जाकर आरोपी के मोबाइल फोन का परीक्षण किया गया तो उसमें अश्लील चैट और सामरिक महत्व की सूचनाएं भेजने के सबूत मिले हैं. आरोपी राम सिंह के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जा रही है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें