scorecardresearch
 

बिहार: मांगा पानी तो पिलाया पेशाब! चोरी के शक में दलित युवक की बेरहमी से पिटाई

चोरी के इल्जाम में दलित युवक के हाथ,पैर बांधकर उसे डंडे से पीटा गया. आरोप है कि पानी मांगने पर पीड़ित को पेशाब पिलाया गया. पीड़िता का कहना है कि सभी आरोपी इजरा गांव के रहने वाले हैं. वहीं पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है. पिटाई का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

X
दलित युवक की हाथ, पैर बांधकर पिटाई की गई (फोटो-आजतक)
दलित युवक की हाथ, पैर बांधकर पिटाई की गई (फोटो-आजतक)

बिहार के दरभंगा से एक वीडियो वायरल हुआ है, जहां चोरी के इल्जाम में दलित युवक के हाथ,पैर बांधकर उसे डंडे से पीटा गया. आरोप है कि पानी मांगने पर पीड़ित को पेशाब पिलाया गया. बताया जा रहा है कि पिटाई करने वाले युवक पास के ही गांव के रहने वाले हैं. बेरहमी से पिटाई का यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. पीड़ित को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया है. वहीं पुलिस मामले की जांच में जुट गई है. 

दरभंगा के SDPO कृष्णनंदन कुमार ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है, जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा. वहीं इस मामले पर पीड़ित के बेटे अभिषेक पासवान का कहना है कि उसके पिता पर लगाए सभी आरोप झूठे हैं. उसके पिता 16 अगस्त की रात अपनी बुआ के घर मधुबनी से दरभंगा आ रहे थे. तभी इज़रा गांव के कुछ युवकों ने पिता जी का नाम पूछा और बेरहमी से उनकी पिटाई कर दी. जब पिता ने पानी मांगा तो उन्हें पेशाब पिलाया गया. पीड़ित राम प्रकाश पासवान केवटी थाना अंतर्गत रजोरा गांव के रहने वाले है. 

डॉक्टरों ने बताया कि पिटाई की वजह से मरीज की रीढ़ की हड्डी के अलावा कंधे और कमर की पसली टूट गई है. साथ ही किडनी में भी दिक्क्त है. पीड़ित के बेटे का आरोप है कि उसके पिता को छोड़ने के एवज में उन लोगों ने 20 लाख रुपये मांगे. गांव के लोगों ने उनकी जान बचाने के लिए तुरंत ही 50 हजार रुपये दिये. इसके बाद जबरन पिता से चोरी के बात कबूल कराई गई और एक पेपर पर लिखवाया गया. आरोप है कि उन्हें यह भी धमकी दी गई है कि पुलिस में शिकायत करने पर सभी को जान से मार दिया जाएगा.  

वहीं मामले पर बजरंग दल भी कूद गया है, संयोजक राजीव कुमार मधुकर ने मधुबनी पुलिस के काम करने के तरीके पर सवाल उठाए. साथ ही उन्होंने मॉब लिनचिंग करने का आरोप लगाया. रजीव कुमार का कहना है कि चोरी करने पर भी किसी को कानून अपने हाथ में लेने का अधिकार नहीं है. इस मामले पर इंसाफ नहीं मिला तो बिहार से लेकर देश स्तर पर आंदोलन किया जाएगा. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें