scorecardresearch
 

Taiwan ने पहली बार दिखाए फाइटर जेट्स के अंडरग्राउंड बंकर, चीन को करारा जवाब देने की तैयारी

चीन के हमलों से बचने के लिए ताइवान ने अपने फाइटर जेट्स के लिए जमीन के अंदर हैंगर बनवाए हैं. ये देश के मुख्य एयरबेसों को जोड़ने के लिए बनाई गईं गुफाएं हैं. इन बंकरों की बेहद दुर्लभ तस्वीरें जारी की गई हैं. जिनमें ताइवानी सेना के इंजीनियर फाइटर जेट्स में मिसाइल, रॉकेट और बम लगाते देखे जा सकते हैं.

X
ये है वो अंडरग्राउंड हैंगर जिसमें ताइवानी वायु सेना के इंजीनियर फाइटर जेट में लगा रहे मिसाइल. (फोटोः ROCAF) ये है वो अंडरग्राउंड हैंगर जिसमें ताइवानी वायु सेना के इंजीनियर फाइटर जेट में लगा रहे मिसाइल. (फोटोः ROCAF)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • चीन के हमलों से बचने के लिए जमीन के अंदर हैंगर
  • सीक्रेट सुरंगों में मौजूद है लाइव हथियार, तेज विमान

चीन और ताइवान के बीच अपनी सीमाओं को लेकर तनातनी चलती रहती है. चीन के हमलों से बचने के लिए ताइवान ने अपने देश के अंदर फाइटर जेट्स के लिए सुरंगें बनाईं हैं. ये सुरंगें कई एयरबेस को आपस में जोड़ती हैं. इन मजबूत बंकरों के अंदर ताइवान की वायु सेना अपने फाइटर जेट्स को सुरक्षित रखती है. इन्हीं के अंदर फाइटर जेट्स की मरम्मत होती है. यहीं इनमें बम, रॉकेट और मिसाइलों की तैनाती की जाती है. 

अंडरग्राउंड हैंगर में F-16V Viper फाइटर जेट देखे जा सकते हैं. (फोटोः ROCAF)
अंडरग्राउंड हैंगर में F-16V Viper फाइटर जेट देखे जा सकते हैं. (फोटोः ROCAF)

ताइवानी सेना के फाइटर जेट्स इन बंकरों के अंदर से निकल कर सॉर्टी करते हैं. उसके बाद वापस इन्हीं के अंदर चले जाते हैं. ताइवानी एयर फोर्स (Taiwanese Air Force) को रिपब्लिक ऑफ चाइना एयर फोर्स (ROCAF) भी कहते हैं. ताइवानी एयरफोर्स ने पहली बार मीडिया के सामने अपने फाइटर जेट्स को संभाल कर रखने वाली गुफाओं की तस्वीरें जारी की हैं. यह बेहद दुर्लभ तस्वीरें हैं. इससे पहले कभी भी इस जगह की फोटो जारी नहीं हुई थी. 

ताइवानी एयरफोर्स के इंजीनियर फाइटर जेट्स में लाइव मिसाइलों को तैनात कर रहे हैं. (फोटोः ROCAF)
ताइवानी एयरफोर्स के इंजीनियर फाइटर जेट्स में लाइव मिसाइलों को तैनात कर रहे हैं. (फोटोः ROCAF)

इन तस्वीरों में देखा जा सकता है कि ताइवानी एयर फोर्स के इंजीनियर उनके अपग्रेडेड F-16V Viper फाइटर जेट्स में हार्पूनर एंटी-शिप मिसाइल (Harpoon Anti-Ship Missile) तैनात कर रहे हैं. ताइवानी एयर फोर्स ने 28 जुलाई 2022 यानी आज सुबह अपने फेसबुक पोस्ट पर इन अंडरग्राउंड हैंगरों की कुछ तस्वीरें जारी की. इसमें लिखा कि वो हान कुआंग सालाना मिलिट्री एक्सरसाइज के लिए अपने लड़ाकू विमानों को दुरुस्त और तैयार कर रहे हैं. 

मिसाइलों को लगाते समय इंजीनियर्स काफी ज्यादा संभाल कर काम कर रहे हैं. (फोटोः ROCAF)
मिसाइलों को लगाते समय इंजीनियर्स काफी ज्यादा संभाल कर काम कर रहे हैं. (फोटोः ROCAF)

ये तस्वीरें ताइवानी एयर फोर्स के पांचवें टैक्टिकल कंपोजिट विंग की हैं. जो अपने एयरक्राफ्ट से इस मिलिट्री एक्सरसाइज में प्रदर्शन तो करेंगे ही. साथ ही तय समय में फाइटर जेट्स की मरम्मत करके उनपर हथियारों को भी सेट करेंगे. हालांकि ताइवानी वायु सेना ने यह नहीं बताया कि ये किस तरह के फाइटर जेट्स हैं. लेकिन तस्वीरों से साफ जाहिर है कि ये अपग्रेडेड F-16V Viper फाइटर जेट्स हैं. इनपर हार्पून एंटी-शिप मिसाइलें लगाई गई हैं. 

भारी मिसाइलों को लाने के लिए क्रेन जैसे छोटे वाहनों का उपयोग किया जा रहा है. (फोटोः ROCAF)
भारी मिसाइलों को लाने के लिए क्रेन जैसे छोटे वाहनों का उपयोग किया जा रहा है. (फोटोः ROCAF)

ताइवान हार्पून मिसाइल का मुख्य उपयोगकर्ता देश हैं. इसके अलावा तस्वीरों में AIM-120 C एडवांस्ड मीडियम रेंज एयर-टू-एयर मिसाइलें भी देखी जा सकती हैं. कुछ फाइटर जेट्स के विंग्स के नीचे AIM-9L/M Sidewinders मिसाइलें भी तैनात की गई हैं. इन मिसाइलों पर लगी भूरे और पीले रंग की पट्टियां ये बताती हैं कि ये मिसाइलें एक्टिव या जीवित हैं. नीली पट्टियां ये बताती हैं कि इन मिसाइलों के अंदर हथियार लोडेड हैं. 

ये तस्वीरें जहां से ली गई हैं वो हुआलियेन नाम के प्रांत के चियाशान एयर फोर्स बेस के पास स्थित पहाड़ के नीचे की हैं. ये अंडरग्राउंड हैंगर इसी पहाड़ के नीचे बनाए गए हैं. ताइवानी सेना अपनी सीक्रेट बरकरार रखने के लिए जानी जाती है. उसके हथियार, विमान आदि के लोकेशन का पता नहीं चलता. ऐसा पहली बार हुआ है कि ताइवानी वायु सेना ने अपने किसी सीक्रेट लोकेशन की तस्वीर जारी की है. अभी तक यह नहीं पता चल पाया है कि ताइवान ने यह तस्वीरें ऑनलाइन क्यों डालीं. लेकिन शायद वह यह बताना चाहता है कि चीन के हमले का करारा जवाब देने की तैयारी पूरी है. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें