scorecardresearch
 

Spain के इस शहर में शोले बरसा रहा है दुनिया का पहला नाम वाला हीटवेव Zoe

स्पेन के सेवील शहर में इन दिनों ऐसा हीटवेव आया हुआ है, जिसे पहली बार नाम दिया गया है. भयानक गर्मी वाली इस स्थिति को 'ज़ो' (Zoe) बुलाया जा रहा है. सेवील शहर में तापमान 50 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया है. यानी स्पेन इस समय दुनिया के पहले नाम वाले हीटवेव का सामना कर रहा है. आइए जानते हैं इसके बारे में...

X
Heatwave In Spain: स्पेन के सेवील शहर में फव्वारे के किनारे खुद को गर्मी से बचाते लोग. (फोटोः AFP) Heatwave In Spain: स्पेन के सेवील शहर में फव्वारे के किनारे खुद को गर्मी से बचाते लोग. (फोटोः AFP)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • Seville में पारा पहुंचा 50 डिग्री सेल्सियस
  • हीटवेव की कैटेगरी बांटी गई, नाम दिए गए

दुनिया में पहली बार हीटवेव यानी प्रचंड लू भरी गर्मी को नाम दिया गया है. हीटवेवट का नाम है Zoe. इस हीटवेव से स्पेन (Spain) का सेवील (Seville) शहर बुरी तरह परेशान है. सेवील शहर में इस हफ्ते Zoe की वजह से तापमान 50 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया. अच्छी बात ये है कि स्पेन और सेवील में मौसम की सूचना देने की प्रणाली बेहतरीन है. इसलिए लोगों को सही समय पर गर्मी के आने की सूचना मिल गई तो लोगों ने तैयारियां कर लीं. 

सेवील के कई इलाकों में पिछले हफ्ते पारा 50 डिग्री सेल्सियस तक दर्ज किया गया. (फोटोः रॉयटर्स)
सेवील के कई इलाकों में पिछले हफ्ते पारा 50 डिग्री सेल्सियस तक दर्ज किया गया. (फोटोः रॉयटर्स)

स्पेन समेत सभी यूरोपीय देशों में इन दिनों भयानक गर्मी पड़ रही है. स्पेन के स्थानीय मौसम विभाग ने हीटवेव को तीन कैटेगरी में बांट दिया है. पहली कैटेगरी यानी सबसे कम स्तर का हीटवेव और तीसरा सबसे ज्यादा गर्मी वाला हीटवेव. Zoe तीसरी कैटेगरी का हीटवेव हैं. तीसरी वाली कैटेगरी तब बनती है जब तापमान 43 डिग्री सेल्सिय के ऊपर पहुंच जाता है. ये जानकारी प्रोमेटियो सेवीला (proMETRO Sevilla) नाम के मौसम संबंधी प्रोजेक्ट ने दी है. 

पूरे स्पेन का औसत तापमान पिछले दो साल में 1.7 डिग्री सेल्सियस बढ़ गया है. (फोटोः AFP)
पूरे स्पेन का औसत तापमान पिछले दो साल में 1.7 डिग्री सेल्सियस बढ़ गया है. (फोटोः AFP)

Zoe इकलौता नाम नहीं है. तीसरी कैटेगरी वाले अगले हीटवेव्स के नाम भी रख दिए गए हैं. ये हैं- यागो (Yago), जेनिया (Xenia), वेनसेसलाओ (Wenceslao) और वेगा (Vega). प्रोमेटियो सेविला की शुरुआत पिछले महीने ही हुई है. इस प्रोजेक्ट में स्पेन की आधा दर्जन संस्थाएं काम कर रही हैं. जिसमें यूनिवर्सिटी, मौसम संबंधी तकनीकी केंद्र, सरकारी मौसम विभाग आदि जुड़े हैं. 

जलवायु परिवर्तन की वजह से वैश्विक गर्मी बढ़ रही है. सभी देशों में एक्सट्रीम वेदर की मार झेलनी पड़ेगी. (फोटोः रॉयटर्स)
जलवायु परिवर्तन की वजह से वैश्विक गर्मी बढ़ रही है. सभी देशों में एक्सट्रीम वेदर की मार झेलनी पड़ेगी. (फोटोः रॉयटर्स)

सेवील के मेयर एंटोनियो मुनोज ने कहा कि हीटवेव की कैटेगरी बनाकर उसे नाम देने वाले हम दुनिया में पहले हैं. हम इसके जरिए मौसम संबंधी आपदाओं की सही जानकारी जमा कर पाएंगे. लोगों को सूचित कर पाएंगे. साथ ही जलवायु परिवर्तिन के असर को समझ सकेंगे. इससे समझ में आ रहा है कि इंसानों को उत्सर्जन कम करना चाहिए. हम सेवील को दुनिया का जीरो कार्बन उत्सर्जन वाला शहर बनाना चाहते हैं. बढ़ती गर्मी से बचाना चाहते हैं. 

सेवील शहर स्पेन के अंडालूसिया इलाके में है. जो स्पेन का सबसे गर्म क्षेत्र है. यह इलाका समुद्र के पास स्थित है और यहां पर सर्दियों का असर कम होता है. स्पेन में जलवायु परिवर्तन की वजह से तापमान लगातार बढ़ रहा है. साल 2020 से अब तक देश का औसत तापमान 1.7 डिग्री सेल्सियस बढ़ गया है. जो कि खतरनाक है. लगातार बढ़ती गर्मी से इंसानों की सेहत पर भी असर पड़ता है. हीट स्ट्रोक्स आते हैं. डिहाइड्रेशन होता है. दिमाग और दिल संबंधी दिक्कतें पैदा होने लगती हैं. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें