scorecardresearch
 

सूरत

सूरत

सूरत

सूरत

सूरत (Surat) भारत के राज्य गुजरात (Gujarat) का एक जिला है. यह जिला गुजरात राज्य के दक्षिणी भाग में स्थित है. जिले का प्रशासनिक मुख्यालय सूरत शहर है. यह जिला उत्तर में भरूच और नर्मदा, पश्चिम में खम्भात की खाड़ी और नवसारी, दक्षिण में भी नवसारी और पूर्व में तापी जिले से घिरा हुआ है. इसका क्षेत्रफल 4,549 वर्ग किलोमीटर है (Geographical area).            

साबरकांठा जिले के अंतर्गत एक लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र (Parliamentary Constituency) और 16 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र (Assembly Constituency) हैं. 

2011 की जनगणना के आंकड़ों के मुताबिक सूरत जिले की जनसंख्या (Population) लगभग 61 लाख है और यहां हर एक वर्ग किलोमीटर में 1,337 लोग रहते हैं. इस जिले का लिंग अनुपात (Sex Ratio) प्रति 10    00 पुरुष 787 महिला है. इस जिले की 85.53 फीसदी जनसंख्या साक्षर है जिसमें पुरूष साक्षरता दर 89.56 फीसदी और महिला साक्षरता दर 80.37 फीसदी है (Surat Literacy).

ऐतिहासिक तौर पर माना जाता है कि सूरत शहर की स्थापना 1516 में एक हिन्दू ब्राह्मण गोपी ने की थी.12वीं से 15वीं शताब्दी तक यहां मुस्लिम, पुर्तगाली, मुगल और मराठा शासक लगातार आक्रमण करते रहे. साल 1514 में पुर्तगाली यात्री दुआरते बारबोसा ने सूरत का उल्लेख एक विशेष और व्यस्त बंदरगाह के तौर पर किया था. 18वीं शताब्दी में अंग्रेज़ों ने सूरत पर अधिकार कर लिया (History of Surat).

सूरत की गिनती ऐतिहासिक तौर पर पश्चिमी भारत के प्रमुख बंदरगाहों और व्यापारिक शहरों में से एक में होती रही है. सूरत गुजरात का दूसरा सबसे बड़ा और भारत का नौवां सबसे बड़ा शहर है. यह अपने कपड़े और हीरे के कारोबार के लिए प्रसिद्ध है. सूरत में दुनिया के तीन-चौथाई हीरे काटे और पॉलिश किए जाते हैं. गुजरात राज्य में सबसे ज्यादा फ्लाईओवर सूरत में हैं. सूरत जिले में मुख्य रूप से कपास, बाजरा, दलहन और चावल की खेती होती है. कपड़े का उद्योग सूरत शहर में ही सीमित है. 1990 से यहां गन्ना, अंगूर और केले जैसे नकदी फसलो की भी खेती की जा रही है (Economy and Agriculture of Surat). 

सूरत और उसके आसपास घूमने के लिए कई अच्छी जगहें हैं. यहां कई ऐतिहासिक स्मारक हैं जिनमें दांडी, डुमास, हजीरा, तीथल और उभ्रत प्रमुख आकर्षण हैं. दांडी ऐतिहासिक रूप से बहुत महत्वपूर्ण स्थान है. दांडी वह स्थान है जहां महात्मा गांधी ने 1930 में दांडी मार्च शुरू किया था. डुमास, सूरत शहर से 16 किमी दूर स्थित एक समुद्र तट है. हजीरा, एक और खूबसूरत समुद्र तट है जो शहर से 28 किमी दूर है. उभरात शहर से 42 किमी दूर एक और खूबसूरत समुद्र तट है (Tourist Places of Surat).

और पढ़ें

सूरत न्यूज़