scorecardresearch
 

FB हैकिंग से आपका अकाउंट प्रभावित है या नहीं, ऐसे जानें

फेसबुक के सीईओ मार्क जकरबर्ग ने एक स्टेटमेंट में कहा है, ‘हमारी शुरुआती जांच में अब तक ऐसा नहीं दिखा है जिससे पता चले की टोकेन को यूज करते हुए हैकर्स ने किसी के प्राइवेट मैसेज या पोस्ट ऐक्सेस किया है’

Representational Image Representational Image

पिछले महीने फेसबुक पर इतिहास की सबसे बड़ी हैकिंग हुई. इस दौरान 29 मिलियन लोगों का डेटा ब्रीच हुआ. अब कंपनी ने यह बताया है कि इस हैकिंग में किस तरह की जानकारियां ऐक्सेस की गईं थीं. इसमें यूजर नेम और कॉन्टैक्ट इन्फो थे. हालांकि कई मामलों में पर्सनल डीटेल्स जैसे लोकेशन, धर्म और इसी तरह की जानकारियां शामिल हैं.

चूंकि इससे 29 मिलियन फेसबुक यूजर्स प्रभावित हुए हैं, इसलिए कंपनी यूजर्स को ये देखने का टूल दे रही है जिससे पता चल सके कि उनके अकाउंट का डेटा इस हैकिंग में किसी ने देखा है या नहीं.

इस लिंक पर क्लिक करके आप फेसबुक हेल्प सेंटर विजिट कर सकते हैं. यहां आपको एक नोटिस दिखेगा जिसमें लिखा होगा कि आपका अकाउंट इस हैकिंग से प्रभावित है या नहीं. अगर ऐसा है कि किस तरह की जानकारियां इसमें शामिल थीं वो बताया जाएगा. 

गौरतलब है कि 29 मिलियन यूजर्स में 15 मिलियन यूजर्स का नाम, ईमेल ऐड्रेस और फोन नंबर लीक हुआ. हालांकि, यह जानकारी इस बात पर भी निर्भर करती है कि यूजर्स ने किस तरह की जानकारी रखी थी. 14 मिलियन यूजर्स के जेंडर, धर्म, लोकेशन, डिवाइस की जानकारी, जिस लोकेशन में टैग किया गया और जो पेज यूजर ने लाइक किए हैं ऐसी जानकारी लीक हुई. दूसरे मिलियव यूजर्स का डेटा ऐक्सेस हुआ लेकिन यूज नहीं किया गया. हैकर्स ने यूजर्स के प्रोफाइल से कुछ पोस्ट नहीं किया है. ये दावा फेसबुक का है.

अगर आपका डेटा फेसबुक के इस हैकिंग से प्रभावित है तो कंपनी का कहना है कि अभी इसे सिक्योर करने के लिए आपको कुछ नहीं करना है. क्योंकि पासवर्ड चोरी नहीं हुए हैं, इसलिए इन्हें बदलने की भी जरूरत नहीं है. हैकर्स ने टोकेन ऐक्सेस किए थे जिसे कंपनी ने पहले ही रीसेट कर दिया है इस वजह से कई यूजर्स के अकाउंट खुद से लॉग आउट हो गए थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें