scorecardresearch
 

नए संसद भवन को बनाने की जरूरत आखिर क्यों पड़ रही? देखें विशेष

नए संसद भवन को बनाने की जरूरत आखिर क्यों पड़ रही? देखें विशेष

दुनिया के सबसे बड़े और जीवंत लोकतंत्र के इतिहास का ये दिन हमेशा याद किया जाएगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की नई संसद का भूमिपूजन किया और इसके साथ ही एक और इतिहास रचने की शुरुआत हो गई. दरअसल, संसद की नई इमारत साल 2022 में बनकर तैयार होगी जब देश आजादी की 75वीं सालगिरह मना रहा होगा. इस ऐतिहासिक पल के गवाह बने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला, राज्यसभा के उपाध्यक्ष डॉ हरिवंश और सरकार के मंत्री और कई देशों के राजदूत, रतन टाटा भी मौजूद रहे जिनकी कंपनी टाटा प्रोजेक्ट लिमिटेड को नया संसद भवन बनाने की जिम्मेदारी सौंपी गई है. नए संसद भवन में क्या होगा खास इस वीडियो में देखें.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें