scorecardresearch
 

UP: विधायक दल के नेता चुने गए योगी, बोले-मोदी और शाह ने सिखाए सुशासन के गुर

बीजेपी ने यूपी में लगातार दूसरी बार प्रचंड जीत हासिल की है. बीजेपी ने सहयोगी दलों के साथ मिलकर 273 सीटों पर जीत हासिल की है. बीजेपी ने इस बार अपना दल और निषाद पार्टी के साथ गठबंधन किया था. अपना दल ने 12 और निषाद पार्टी ने 6 पर जीत हासिल की है. वहीं, सपा गठबंधन को इस बार 125 सीटें मिली हैं. कांग्रेस 2 और बसपा सिर्फ 1 सीट पर जीती है.

X
विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद संबोधित करते योगी आदित्यनाथ. विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद संबोधित करते योगी आदित्यनाथ.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • यूपी में विधायक दल की बैठक में सहयोगी दल भी शामिल
  • बैठक के बाद राज्यपाल से मुलाकात कर सरकार बनाने का दावा करेंगे पेश

उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ को विधायक दल का नेता चुन लिया गया है. विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद योगी ने कहा कि 2017 में मैं सिर्फ एक सांसद था लेकिन विधानसभा चुनाव में प्रचंड बहुमत के बाद पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व ने मुझपर भरोसा जताया और मुख्यमंत्री पद की जिम्मेदारी सौंपी. योगी आदित्यनाथ ने कहा कि मोदी और शाह ने मुझे सुशासन के गुर सीखाए.

विधायक दल का नेता चुने जाने और विधायकों को संबोधित करने के बाद योगी आदित्यनाथ राजभवन पहुंचे. यहां उन्होंने राज्यपाल आनंदी बेन पटेल को 273 विधायकों के समर्थन का पत्र सौंप कर सरकार बनाने का दावा पेश किया. सरकार बनाने का दावा पेश करने के बाद योगी आदित्यनाथ राजभवन से निकले. उन्होंने राज्यपाल को उन नामों की सूची भी सौंपी जो शुक्रवार को मंत्री पद की शपथ लेंगे. इससे पहले विधायकों का समर्थन पत्र लेकर सह पर्यवेक्षक रघुबर दास, पूर्व डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य, दिनेश शर्मा, स्वतंत्र देव सिंह, राधामोहन सिंह, डॉक्टर संजय निषाद आदि राजभवन पहुंचे थे.

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल को विधायकों का समर्थन पत्र सौंपते योगी आदित्यनाथ.

इससे पहले सुरेश खन्ना ने विधायक दल के नेता के लिए योगी आदित्यनाथ के नाम का प्रस्ताव रखा. इसके बाद सभी विधायकों ने ताली बजाकर योगी के नाम का समर्थन किया. सूर्य प्रताप शाही ने योगी के नाम का अनुमोदन किया. इसके बाद पर्यवेक्षक के तौर पर मौजूद अमित शाह ने योगी आदित्यनाथ के नाम का एलान किया. अब योगी आदित्यनाथ राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से मिलकर सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे. बता दें कि शुक्रवार शाम 4 बजे योगी आदित्यनाथ लखनऊ के इकाना स्टेडियम में मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे.

लोक भवन में विधायक दल की बैठक में पर्यवेक्षक के तौर पर अमित शाह और रघुवर दास, कार्यवाहक सीएम योगी आदित्यनाथ समेत दोनों डिप्टी सीएम शामिल रहे. इनके अलावा बीजेपी के 255 और बाकी सहयोगी दल के विधायक बैठक में मौजूद थे. आज तक से बात करते हुए विधायकों ने कहा कि आज की बैठक विधायक दल के नेता के चुनाव के साथ-साथ सरकार की आगे की दिशा के लिए बेहद जरूरी है.

विधायक दल की बैठक के मंच अमित शाह, योगी आदित्यनाथ, आशीष पटेल, संजय निषाद समेत अन्य सीनियर नेता मौजूद थे. भारत माता की जय के साथ विधायक दल की बैठक शुरू हुई. स्वतंत्र देव सिंह ने योगी आदित्यनाथ, धर्मेन्द्र प्रधान, रघुवर दास, राधामोहन सिंह का स्वागत किया. 

ये भी पढ़ें

'यूपी के लोगों को पहली बार लगा कि....', योगी ने ऐसे गिनाईं अपने कार्यकाल की उपलब्धियां

विधायक दल की बैठक में पर्यवेक्षक अमित शाह ने कहा कि जो ऐतिहासिक जनादेश बीजेपी को मिला है और दोनों साथी दलों ने कंधे से कंधा मिलाकर चुनाव लड़ा है. पीएम मोदी के नेतृत्व और योगी आदित्यनाथ के सफल कार्यकाल की वजह से ये जीत मिली है. उन्होंने कहा कि हम लोग पारदर्शी तरीके से नेता का चुनाव करते हैं. इसके बाद अमित शाह ने मंच सभी के लिए ओपन किया. उन्होंने कहा कि मैं सभी को सुझाव के लिए आमंत्रित करता हूं. कोई भी पोडियम पर आकर अपना सुझाव रख सकता है. इसके बाद सुरेश खन्ना ने प्रस्ताव रखना शुरू किया. उन्होंने योगी आदित्यनाथ के नाम का प्रस्ताव रखा.

बैठक से पहले लोक भवन के बाहर मौजूद पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहार वाजपेयी की मूर्ति पर अमित शाह, योगी आदित्यनाथ, केशव प्रसाद मौर्य ने माल्यार्पण किया. इसके बाद सभी नेता लोक भवन के अंदर पहुंचे.

लोक भवन, जहां विधायक दल की बैठक हो रही है.

इससे पहले अमित शाह लखनऊ एयरपोर्ट पहुंचे जहां उनका स्वागत यूपी के कार्यवाहक मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किया. इसके बाद अमित शाह, योगी आदित्यनाथ, केशव प्रसाद मौर्य बीजेपी दफ्तर पहुंचे. यहां से सभी नेता लोक भवन पहुंचेंगे जहां भाजपा और सहयोगी दलों के विधायक पहले से मौजूद हैं.

रात को जगमगाता इकाना स्टेडियम.

इकाना स्टेडियम में शपथ ग्रहण समारोह की तैयारी पूरी

शुक्रवार को योगी आदित्यनाथ के शपथ ग्रहण समारोह के लिए इकाना स्टेडियम में सारी तैयारियां पूरी हो गईं हैं. चूंकि स्टेडियम में शपथ ग्रहण समारोह का समय शाम चार बजे से रखा गया है. अगर तय कार्यक्रम में देरी होती है तो इसके लिए लाइट का उचित प्रबंध किया गया है. गुरुवार की रात इसकी टेस्टिंग भी की गई. रात को ड्रोन से स्टेडियम का एरियल व्यू क्लिक किया गया जिसमें इकाना स्टेडियम जगमगाता नजर आया.

विपक्षी नेताओं से अभिनेताओं तक इन्हें भेजा गया निमंत्रण

योगी आदित्यनाथ के शपथ ग्रहण समारोह में विपक्षी दलों के नेताओं को भी निमंत्रण भेजा गया है. विपक्ष से सोनिया गांधी, प्रियंका गांधी ,राहुल गांधी, मायावती,अखिलेश यादव, मुलायम सिंह यादव समेत तमाम विपक्षी दलों के नेताओं को भाजपा की तरफ से निमंत्रण भेजा गया है. इसके अलावा मुकेश अंबानी ,गौतम अदानी, आनंद महिंद्रा समेत दर्जनों उद्योगपतियों को भी शपथ ग्रहण समारोह का निमंत्रण भेजा गया है. बॉलीवुड से अक्षय कुमार, कंगना रनौत, अजय देवगन ,बोनी कपूर, अनुपम खेर, विवेक अग्निहोत्री समेत कई डायरेक्टर प्रोड्यूसर और कलाकारों को निमंत्रण भेजा गया है. 

लखनऊ पहुंचे अमित शाह का स्वागत करते योगी आदित्यनाथ.

संगठन में भी परिवर्तन की चर्चा

यूपी में सरकार गठन के लिए पर्यवेक्षक बनाए गए अमित शाह 3 बजे लखनऊ पहुंचेंगे. अमित शाह बीजेपी कार्यालय पहुंचकर पदाधिकारियों के साथ चाय पीएंगे. चाय पर ये अनौपचारिक चर्चा भी खास होगी क्योंकि संगठन के कई लोगों के सरकार में जाने की चर्चा है. प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह के नाम की भी चर्चा है. साथ ही सरकार में मंत्री रहे कुछ चेहरों को भी संगठन में वापस भेजा जा सकता है. 

कल योगी का शपथ ग्रहण

योगी आदित्यनाथ 25 मार्च को यूपी के सीएम पद की शपथ लेंगे. वे लगातार दूसरी बार यूपी की सत्ता संभालेंगे. शपथ समारोह लखनऊ के एकाना स्टेडियम में होगा. योगी आदित्यनाथ के शपथ ग्रहण समारोह की तैयारियां पूरी हो चुकी हैं. पार्टी नेतृत्व के निर्देश पर हर विधानसभा क्षेत्र से करीब डेढ़ सौ कार्यकर्ता शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए लखनऊ जाने की तैयारी में हैं. लखनऊ जाने वालों से अपनी गाड़ियों में पार्टी का झंडा लगाने को कहा गया है. 
 
शपथ ग्रहण समारोह में पीएम मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, बीजेपी शासित प्रदेशों के सीएम और डिप्टी सीएम, राज्यों के प्रदेश अध्यक्ष शामिल होंगे. इसके अलावा मठों के संतों को भी शपथ ग्रहण में शामिल होने का न्योता दिया गया है. 
 
यूपी में बीजेपी को मिली प्रचंड जीत

बीजेपी ने यूपी में लगातार दूसरी बार प्रचंड जीत हासिल की है. बीजेपी ने सहयोगी दलों के साथ मिलकर 273 सीटों पर जीत हासिल की है. बीजेपी ने इस बार अपना दल और निषाद पार्टी के साथ गठबंधन किया था. अपना दल ने 12 और निषाद पार्टी ने 6 पर जीत हासिल की है. वहीं, सपा गठबंधन को इस बार 125 सीटों पर जीत हासिल की है. कांग्रेस को 2 और बसपा को 1 सीट मिली है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें