scorecardresearch
 

उन्नाव रेप पीड़िता को लखनऊ से दिल्ली लाया गया, एम्स में चलेगा इलाज

लखनऊ के एसपी (ट्रैफिक) पूर्णेंदु सिंह ने बताया कि उन्हें (पीड़िता) एयरपोर्ट तक ले जाने के लिए खासतौर पर ग्रीन कॉरिडोर बनाया गया.

उन्नाव हादसे में क्षतिग्रस्त कार (IANS) उन्नाव हादसे में क्षतिग्रस्त कार (IANS)

उन्नाव रेप पीड़िता को सोमवार देर शाम लखनऊ से दिल्ली लाया गया. सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर उन्हें एयरलिफ्ट किया गया. इससे पहले लखनऊ के एसपी (ट्रैफिक) पूर्णेंदु सिंह ने बताया कि उन्हें एयरपोर्ट तक ले जाने के लिए खासतौर पर ग्रीन कॉरिडोर बनाया गया.

दिल्ली में दोनों को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में भर्ती किया जाएगा. लखनऊ के ट्रॉमा सेंटर में भर्ती दुष्कर्म पीड़िता और वकील की हालत सुधर रही है.

ट्रॉमा सेंटर के मीडिया प्रभारी डॉ. संदीप तिवारी ने बताया, "28 जुलाई के बाद से पीड़िता की हालत में सुधार दिखा है. उसका बुखार कम हो गया है. वह इशारों में अब संकेत समझ रही है. वकील के बाद अब पीड़िता को भी वेंटीलेटर से हटाया जाएगा. भर्ती वकील अभी भी डीप कोमा में है."

उन्होंने बताया कि "अब वह इशारे समझ रही है. सुप्रीम कोर्ट ने लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के ट्रॉमा सेंटर में भर्ती उन्नाव की दुष्कर्म पीड़िता का अब एम्स दिल्ली में इलाज होगा. सुप्रीम कोर्ट ने दुष्कर्म पीड़िता को एयरलिफ्ट करने का आदेश दिया है. अब उसका आगे का इलाज अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, दिल्ली में ही होगा."

पीड़िता को दिल्ली ले जाने के लिए सुरक्षा के पूरे प्रबंध किए गए हैं. गौरतलब है कि उन्नाव मामले की सुनवाई करते हुए चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की पीठ ने अपने आदेश में कहा कि दिल्ली के एम्स में दुष्कर्म पीड़िता का इलाज कराया जाएगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें