scorecardresearch
 

नोएडा: पूरे परिवार को हथियार के बल पर बंधक बनाकर डकैती, 6 गिरफ्तार

थाना सेक्टर 58 की पुलिस द्वारा घरों में रेकी कर डकैती करने वाले बाबा गैंग का पर्दाफाश कर दिया गया है. पुलिस ने इस मामले में 6 आरोपियों को गिरफ्तार किया है.

पूरे घर को बनाया बंधक, फिर की चोरी पूरे घर को बनाया बंधक, फिर की चोरी
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पूरे घर को बनाया बंधक, फिर की डकैती
  • नशे की जरूरत करनी थी पूरी
  • बदमाशों ने खुद बताई पूरी रणनीति

थाना सेक्टर 58 की पुलिस द्वारा घरों में रेकी कर डकैती करने वाले बाबा गैंग का पर्दाफाश कर दिया गया है. पुलिस ने इस मामले में 6 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. इन डकैतों के कब्जे से 82650 रुपये, पीली धातु, एक कटोरी मय चम्मच, 8 चांदी के सिक्के, सफेद धातु, 7 मोबाइल फोन, एक देसी तमंचा बरामद किया गया है.

पूरे घर को बनाया बंधक, फिर की चोरी

नोएडा पुलिस ने विक्रम, विशाल, नितिन, कुशाल, सचिन पंडित और रोहित कुमार नाम के 6 डकैतों को गिरफ्तार किया है. इन बदमाशों ने सेक्टर 58 में डकैती की वारदात को अंजाम दिया था. घर मे बंदूक की नोक पर एक पूरे परिवार को बंधक बनाया गया था. घटना की सूचना के बाद पुलिस आयुक्त आलोक सिंह ने तत्काल 5 टीमें गठित की थीं. टीम-1 को सीसीटीवी देखने का काम (लगभग 150 सीसीटीवी देखे गए ) जबकि टीम-2 को इलेक्ट्रानिक्स सर्विलांस का काम दिया गया था. टीम-3 को इसी तरह की घटना कर जेल से छूटे अपराधियो से पूछताछ (टीम द्वारा लभग 25 संदिग्ध से पूछताछ की गयी ), टीम-4 को लोकल इंटेलिजेंस पर सूचना एकत्र करनी थी. इसके अलावा टीम-5 को वादी और उसके परिवारजन से समन्वय स्थापित करने का काम दिया गया था.

नशे की जरूरत करनी थी पूरी

गिरफ्तार आरोपी विशाल आर्टिफिशियल ज्वेलरी बनाने की कंपनी में काम करता है जबकि नितिन खोडा में चाय की ठेली लगाता है, वहीं विष्णु खोडा में बिरयानी की ठेली लगाता है. आरोपी विक्रम ऑटो चलाता है. इनके अलावा हर्षित, मोनू और गौतम इससे पहले गाजियाबाद दिल्ली, नोएडा में चोरी, लूट के मामले में जेल जा चुके हैं. इनके द्वारा अभी गाजियाबाद में ज्वेलरी लूट की घटना को अंजाम दिया गया था. सभी डकैतों की उम्र 21 से 26 के बीच में है और सभी को नशा, शराब, हुक्काबार व पार्टियों के लिए पैसों की आवश्यकता थी. इन जरूरतों को पूरा करने के लिए इस चोरी की वारदात को अंजाम दिया गया था.

बदमाशों ने खुद बताई पूरी रणनीति

मोनू जो अपने ग्रूप में बाबा के नाम से प्रसिद्ध है, वो अपने साथी हर्षित, गौतम के साथ मिलकर मोटा पैसा लेकर डकैती की घटनाओं को अंजाम देता था. इस घटना में भी उनके द्वारा लगभग 30 प्रतिशत अलग से पैसों की मांग की गई थी. बचा हुआ पैसा और कुछ ज्वेलरी फरार अभियुक्तों के पास है जिनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस की तीन टीमें लगी हुई हैं. सभी अभियुक्तों ने बताया कि डकैती की योजना बनाते समय ही तय किया गया था कि घर में से जो भी पैसे, ज्वेलरी मिलेंगे, उस बराबर-बराबर बांटा जाएगा. वहीं जो शख्स घर के अंदर चोरी के लिए जाएगा, उसे 10 प्रतिशत ज्यादा दिया जाएगा. अभी के लिए इस डकैती में शामिल मोनू, हर्षित, गौतम और विष्णु फरार चल रहे हैं. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें