scorecardresearch
 

बिहार चुनाव: आचार संहिता को लेकर प्रशासन सख्त, 24 घंटे में 6 FIR

आचार संहिता के बाद भी बैनर पोस्टर लगाने वाले प्रत्याशियों के खिलाफ आधा दर्जन एफआईआर दर्ज कराई गई है. बिहार में आचार संहिता लागू होने के बाद जगह-जगह लगाए गए बैनर पोस्टर हटाने के लिए जिला प्रशासन ने 24 घंटे की मोहलत दी थी.

पोस्टर बैनर के खिलाफ कार्रवाई पोस्टर बैनर के खिलाफ कार्रवाई
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मनाही के बावजूद नेताओं ने लगाए पोस्टर
  • पुलिस टीम का पोस्टर के खिलाफ अभियान
  • जगह-जगह लगे होर्डिंग-पोस्टर पर कार्रवाई

बिहार में विधानसभा चुनाव की तैयारियां तेज हैं. मतदान शांतिपूर्वक निपट जाए, उसके लिए सभी तैयारियां की जा रही हैं. नियमों का उल्लंघन न हो, इसके लिए स्थानीय प्रशासन सख्त है. आचार संहिता को लेकर प्रशासन खास ध्यान रख रहा है. इसी को देखते हुए पिछले 24 घंटे में 6 एफआईआर दर्ज कराई गई है. वैशाली जिले में घूम-घूम कर पुलिस ने जगह-जगह बैनर पोस्टर उतरवाए हैं. पुलिसकर्मी हाथों में डंडे और बांस की बल्लियां लेकर बैनर पोस्टर हटाते दिखे.

आचार संहिता के बाद भी बैनर पोस्टर लगाने वाले प्रत्याशियों के खिलाफ आधा दर्जन एफआईआर दर्ज कराई गई है. बिहार में आचार संहिता लागू होने के बाद जगह-जगह लगाए गए बैनर पोस्टर हटाने के लिए जिला प्रशासन ने 24 घंटे की मोहलत दी थी. इसके बावजूद कई चुनावी दावेदार और उम्मीदवार आचार संहिता को लेकर लापरवाह दिख रहे हैं.

वैशाली में सड़कों और दीवारों पर कई नेताओं के चुनावी प्रचार वाले होर्डिंग पोस्टर दिख रहे हैं. जिला प्रशासन ने आचार संहिता को लेकर मुहिम चलाई है और पिछले 24 घंटे में 6 एफआईआर दर्ज की गई है. जिन जगहों से पोस्टर, बैनर और होर्डिंग नहीं हटाए गए हैं, पुलिस घूम-घूम कर पोस्टर और बैनर हटा रही है. ऐसे लापरवाह नेताओं के खिलाफ आचार संहिता सहित सरकारी आदेश की अवहेलना की धारा में थानों में एफआईआर भी दर्ज कराई जा रही है.     

वैशाली जिले के भगवानपुर थाना के एसएचओ सीबी शुक्ला ने कहा कि नेशनव हाइवे पर जो पोस्टर लगा था उसको हटवाया गया है और आचार संहिता की धारा के साथ आईपीसी की धारा 188, सरकारी आदेश के उल्लंघन के तहत एफआईआर दर्ज की गई है. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें