scorecardresearch
 

पटनाः तेजस्वी, तेज प्रताप और पप्पू यादव के खिलाफ FIR, ये है मामला

25 सितंबर को कृषि बिल के विरोध में सभी विपक्षी दलों ने भारत बंद का ऐलान किया था. बिहार में भी विपक्षी दल इस बंद का समर्थन करने सड़कों पर उतरे. बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव और उनके बड़े भाई तेजप्रताप यादव राजद के कार्यकर्ताओं के साथ 10 सर्कुलर रोड से ट्रैक्टर चलाकर राजद कार्यालय पहुंचे.

कृषि बिल के विरोध में सड़क पर उतरे तेजस्वी यादव कृषि बिल के विरोध में सड़क पर उतरे तेजस्वी यादव
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कृषि बिल के खिलाफ किया था प्रदर्शन
  • भीड़ जुटाने के आरोप में केस किया दर्ज
  • कोरोना संकट में भीड़ जुटाने पर रोक है

कृषि बिल के खिलाफ बिहार की राजधानी पटना में विरोध करने वाले राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता तेजस्वी यादव, तेज प्रताप यादव के खिलाफ केस दर्ज किया गया है. इन दोनों के अलावा पप्पू यादव के खिलाफ भी केस दर्ज किया गया है.  

असल में, 25 सितंबर को कृषि बिल के विरोध में सभी विपक्षी दलों ने भारत बंद का ऐलान किया था. वहीं बिहार में भी विपक्षी दल इस बंद का समर्थन करने सड़कों पर उतरे. बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव और उनके बड़े भाई तेजप्रताप यादव राजद के कार्यकर्ताओं के साथ 10 सर्कुलर रोड से ट्रैक्टर चलाकर राजद कार्यालय पहुंचे. तेजस्वी और तेज प्रताप यादव 10 सर्कुलर से बेली रोड होते राजद कार्यालय पहुंचे जो प्रतिबंधित क्षेत्र है. 

वहीं दूसरी ओर जन अधिकार पार्टी के सुप्रीमो पप्पू यादव ने भी अपने सैकड़ों कार्यकर्ताओ के साथ इनकम टैक्स से ट्रैक्टर चलाते हुए डाकबंगला चौराहा तक किसान बिल के विरोध में प्रदर्शन किया. इनकम टैक्स से लेकर डाकबंगला चौराहा भी प्रदर्शकारियों के लिए प्रतिबंधित क्षेत्र है. इसी वजह से पटना के कोतवाली थाना में तेजस्वी यादव, तेज प्रताप यादव और पप्पू यादव समेत 100 लोगों पर एफआईआर दर्ज हुई है. 

पटना के कोतवाली थाना में भारतीय दंड संहिता की धारा 188 और 353 के तहत मामला दर्ज हुआ है. इसमें प्रतिबंधित क्षेत्र में प्रदर्शन करना और कोरोना काल में बिना किसी अनुमति के 100 से ज्यादा लोगों के साथ सड़क पर उतरना शामिल है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें