scorecardresearch
 

1-1 लाख रुपये से ज्यादा बोनस दे रही ये कंपनी, स्टाफ इससे भी खुश नहीं

यह बोनस ऑफर (Rolls Royce Bonus Offer) कंपनी के करीब 70 फीसदी कर्मचारियों के लिए है. शॉप फ्लोर (Shop Floor) और जूनियर मैनेजमेंट (Junior Management) में काम करने वाले करीब 14 हजार कर्मचारियों को कंपनी ने बोनस देने का ऐलान किया है.

X
यूनियन ने बोनस को कर दिया मना (Photo: Rolls Royce) यूनियन ने बोनस को कर दिया मना (Photo: Rolls Royce)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • ब्रिटेन में दशकों के उच्च स्तर पर है महंगाई
  • महंगाई के चलते बढ़ा लोगों का लिविंग कॉस्ट

इस समय पूरी दुनिया महंगाई (Inflation) की मार से परेशान है. कई दशकों की सबसे ज्यादा महंगाई से जीवन-यापन का खर्च (Living Cost) बढ़ गया है. महंगाई के इस असर को कम करने के लिए लग्जरी कार और विमानों के इंजन बनाने वाली ब्रिटिश कंपनी रॉल्स रॉइस (Rolls Royce) अपने कर्मचारियों को 1-1 लाख रुपये से ज्यादा का बोनस देने जा रही है. हालांकि कंपनी के कर्मचारी इससे खुश नहीं हैं और लेबर यूनियन (Labour Union) ने कंपनी के इस ऐलान को खारिज कर दिया है.

महंगाई के चलते बोनस दे रही है कंपनी

स्काई न्यूज की एक रिपोर्ट के अनुसार, रॉल्स रॉइस का यह बोनस ऑफर (Rolls Royce Bonus Offer) कंपनी के करीब 70 फीसदी कर्मचारियों के लिए है. शॉप फ्लोर (Shop Floor) और जूनियर मैनेजमेंट (Junior Management) में काम करने वाले करीब 14 हजार कर्मचारियों को कंपनी ने बोनस देने का ऐलान किया है. कंपनी के एक प्रवक्ता के हवाले से खबर में बताया गया है कि शॉप फ्लोर के कर्मचारियों को तो कम-से-कम एक दशक में सबसे ज्यादा सालाना हाइक का ऑफर दिया गया है. कंपनी का कहना है कि वह महंगाई के चलते जीवन-यापन के बढ़े खर्च का बोझ कम करने के लिए अपने कर्मचारियों को बोनस दे रही है.

इस कारण यूनियन ने रिजेक्ट किया बोनस

दूसरी ओर कर्मचारियों के यूनियन ने कंपनी के इस ऑफर को रिजेक्ट कर दिया है. यूनियन का कहना है कि बोनस ऑफर उनकी उम्मीदों से कम है. यूनाइट यूनियन (Unite Union) के एक प्रवक्ता ने ईमेल के जरिए बताया, 'हमारे सदस्यों ने जीवन-यापन के बढ़े खर्च के जितने बोझ का दावा किया है, रिवाइज्ड बोनस उससे काफी कम है. यूनाइट के सीनियर प्रतिनिधि आगे के कदमों के बारे में चर्चा कर रहे हैं.'

ब्रिटेन में लेबर यूनियंस का काफी दबदबा

आपको बता दें कि ब्रिटेन में मैन्यूफैक्चरिंग सेक्टर में लेबर यूनियन का काफी दबदबा है. इसके अलावा कर्मचारियों की कमी और महंगाई के उच्च स्तर के कारण यूनियन की मांग सामान्य से अधिक बोनस की है. रॉल्स रॉइस का कहना है कि वह 11 हजार शॉप फ्लोर कर्मचारियों और 300 जूनियर मैनेजर्स को नकद में एकमुश्त बोनस का भुगतान करेगी. रॉयटर्स की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि कंपनी शॉप फ्लोर के 11 हजार कामगारों को मार्च की पिछली तारीख से 4 फीसदी वेतन बढ़ा रही है. कंपनी का कहना है कि वह पहली बार कर्मचारियों को बोनस का भुगतान कर रही है.

कर्मचारियों को बोनस से महंगाई का ये रिस्क

रॉल्स रॉइस का कहना है कि 3000 जूनियर मैनेजर्स को कैश बोनस इस साल अगस्त में मिल जाएगा, जबकि शॉप फ्लोर के 11 हजार कर्मचारियों को बोनस तब मिलेगा, जब यूनियन से इसे मंजूरी मिल जाएगी. कंपनी बोनस देने का यह कदम ऐसे समय उठा रही है, जब ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने ऐसा करने के प्रति कंपनियों को आगाह किया है. जॉनसन ने कहा था कि अगर कंपनियां कर्मचारियों का वेतन तेजी से बढ़ाएगी, तो इससे जरूरी चीजों के दाम और बढ़ जाने का खतरा उपस्थित होगा. रॉल्स रॉइस से पहले हवाई जहाज बनाने वाली कंपनी एयरबस (Airbus) और लॉयड बैकिंग ग्रुप (Lloyd Banking Group Plc) अपने ब्रिटिश कर्मचारियों को बोनस दे चुकी हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें