scorecardresearch
 

Rakesh Jhunjhunwala: 5 हजार रुपये से खड़ा किया 40 हजार करोड़ का साम्राज्य, अब आकाश में टाटा से टक्कर

भारत के वारेन बफे (Warren Buffett) कहे जाने वाले राकेश झुनझुनवाला की कमाई का मुख्य जरिया शेयर बाजार है. झुनझुनवाला की इस सफल कहानी की शुरुआत महज पांच हजार रुपये से हुई थी. आज उनकी नेटवर्थ करीब 40 हजार करोड़ रुपये है. इसी सफलता के कारण झुनझुनवाला को इंडियन स्टॉक मार्केट का बिगबुल और भारत का वारेन बफेट कहा जाता है.

X
अगले महीने से आकासा एयर की उड़ान अगले महीने से आकासा एयर की उड़ान
स्टोरी हाइलाइट्स
  • शेयर मार्केट ने बनाया झुनझुनवाला को अरबपति
  • अगले महीने से शुरू हो रही एयरलाइन कंपनी

शेयर मार्केट (Share Market) के बिग बुल (Big Bull) और भारत के वारेन बफेट (Warren Buffet) जैसे नाम से मशहूर इन्वेस्टर राकेश झुनझुनवाला (Rakesh Jhunjhunwala) इन दिनों फिर से चर्चा में हैं. शेयर बाजार में पैसे बनाने के बाद झुनझुनवाला अब एयरलाइन सेक्टर (Airline Sector) में उतर चुके हैं. उन्होंने नई एयरलाइन कंपनी आकासा एयर (Akasa Air) में मोटा इन्वेस्टमेंट किया है और अब ये कंपनी अगले महीने से ऑपरेशन शुरू करने वाली है. स्टॉक मार्केट (Stock Market) में निवेश करने वाले झुनझुनवाला के पास आज हजारों करोड़ रुपये की संपत्ति (Rakesh Jhunjhunwala Networth) है. मजेदार है कि इतनी दौलत वाले इंसान का सफर महज 5 हजार रुपये से शुरू हुआ था.

अभी इतनी है झुनझुनवाला की नेटवर्थ

भारत के वारेन बफे (Warren Buffett) कहे जाने वाले राकेश झुनझुनवाला की कमाई का मुख्य जरिया शेयर बाजार है. झुनझुनवाला की इस सफल कहानी की शुरुआत महज पांच हजार रुपये से हुई थी. आज उनकी नेटवर्थ करीब 40 हजार करोड़ रुपये है. इसी सफलता के कारण झुनझुनवाला को इंडियन स्टॉक मार्केट का बिगबुल और भारत का वारेन बफेट कहा जाता है. जब आम इन्वेस्टर्स शेयर बाजार में पैसे गंवा रहे होते हैं, झुनझुनवाला उस समय भी कमाई करने में सफल रहते हैं.

ऐसे शुरू हुआ इन्वेस्टमेंट का सफर

शेयर बाजार के दिग्गज इन्वेस्टर झुनझुनवाला ने दलाल स्ट्रीट (Dalal Street) में साल 1985 में कदम रखा था. उन्हें अपने पिता से शेयर बाजार (Share Market) में पैसे लगाने की प्रेरणा मिली थी. हालांकि जब झुनझुनवाला ने पहली बार शेयर बाजार में पैसे लगाने का इरादा बनाया तो पिता ने उन्हें पैसे देने से इनकार कर दिया था. इतना ही नहीं, पिता ने सख्त हिदायत दी थी कि झुनझुनवाला किसी दोस्त से पैसे उधार भी नहीं लें. उन्होंने साफ कह दिया था कि अगर शेयर बाजार में उतरना है तो पहले उसमें लगाने लायक पैसे अपनी मेहनत से कमाओ.

टाटा ने खोली झुनझुनवाला की किस्मत

पेशे से चार्टर्ड अकाउंटेंट (CA) राकेश झुनझुनवाला ने इसके बाद 1985 में पांच हजार रुपये का निवेश कर इन्वेस्टर के रूप में करियर की शुरुआत की. उन्हें सबसे बड़ा ब्रेकथ्रु मिला टाटा के शेयर से. उन्होंने एक समय टाटा समूह (Tata Group) की कंपनी टाटा टी (Tata Tea) के पांच हजार शेयर 43 रुपये के हिसाब से खरीदा. तीन महीने में ही टाटा टी का शेयर काफी चढ़ गया. तब झुनझुनवाला ने इस शेयर को 143 रुपये के हिसाब से बेच डाला. यह 1986 की बात है और इस निर्णय ने झुनझुनवाला को तीन महीने में 2.15 लाख के निवेश पर पांच लाख रुपये का मुनाफा करा दिया.

टाइटन ने बना दिया बाजार का बिग बुल

अगले तीन साल में राकेश झुनझुनवाला शेयर में पैसे लगाकर करोड़पतियों की फेहरिस्त में आ गए. इन तीन सालों में उन्होंने करीब ढाई करोड़ रुपये का मुनाफा कमाया. टाटा समूह की ही एक अन्य कंपनी ने झुनझुनवाला को बिगबुल बना दिया. उन्होंने साल 2003 में टाटा समूह की कंपनी टाइटन (Titan) में पैसे लगाए. तब उन्होंने तीन रुपये के हिसाब से टाइटन के छह करोड़ शेयर खरीदे. एक समय झुनझुनवाला के पास टाइटन के करीब 4.5 करोड़ शेयर हो गए, जिनकी वैल्यू 7000 करोड़ रुपये से अधिक हो गई. अभी भी झुनझुनवाला के पास टाइटन कंपनी के अच्छे-खासे शेयर हैं.

इन बड़ी कंपनियों में झुनझुनवाला के शेयर

अभी झुनझुनवाला के पोर्टफोलियो में सेल (SAIL), टाटा मोटर्स (Tata Motors), टाटा कम्युनिकेशंस (Tata Communications), ल्यूपिन (Lupin), टीवी18 (TV18), डीबी रियल्टी (DB Realty), इंडियन होटल्स (Indian Hotels), इंडियाबुल्स हाउसिंग फाइनेंस (India Bulls Housing Finance), फेडरल बैंक (Federal Bank), करुर वैश्य बैंक (Karur Vaishya Bank), एस्कॉर्ट्स लिमिटेड (Escorts Ltd), टाइटन कंपनी (Titan Company), एमसीएक्स (MCX) जैसी कंपनियां शामिल हैं. इसी सप्ताह उन्होंने डेल्टा कॉर्प के 25 लाख शेयर बेचे, जिसके बाद कंपनी के स्टॉक की वैल्यू 10 फीसदी से ज्यादा टूट गई.

अब आकासा एयर से देंगे टाटा को टक्कर

रही बात उनके नए वेंचर आकासा एयर की, तो कंपनी को मंगलवार को पहले एयरक्राफ्ट की डिलीवरी मिली है. आकासा एयर का टारगेट सस्ती विमानन सेवा प्रदान करने का है. कंपनी अगने महीने यानी जुलाई से विमानन सेवाएं शुरू करने की तैयारी में है. इस कंपनी में राकेश झुनझुनवाला ने करीब 50 मिलियन डॉलर का भारी-भरकम निवेश किया है. संयोग है कि टाटा समूह की कंपनियों से पैसे बनाने वाले झुनझुनवाला अब आसमान में टाटा को ही टक्कर देने की तैयारी में हैं. टाटा समूह ने हाल ही में एअर इंडिया को नीलामी में खरीदा है. इससे पहले टाटा के पास एअर एशिया इंडिया और विस्तारा जैसी विमानन कंपनियां भी थीं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें