scorecardresearch
 

Auto Sale April 2022: मारुति-हुंडई को झटका, अप्रैल में खूब बिकीं टाटा की गाड़ियां, ये हैं आंकड़े

अप्रैल में ज्यादातर वाहन कंपनियों की बिक्री में गिरावट आई. मारुति सुजुकी, हुंडई मोटर इंडिया और होंडा कार्स इंडिया जैसी कंपनियों को चिप शॉर्टेज व सप्लाई चेन की दिक्कतों से नुकसान हुआ. कंपनियों का कहना है कि चिप शॉर्टेज से प्रोडक्शन पर असर हुआ है.

X
कम हुई अधिकांश कंपनियों की बिक्री कम हुई अधिकांश कंपनियों की बिक्री
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अप्रैल में चिप शॉर्टेज से बिक्री पर पड़ा असर
  • टाटा मोटर्स की बिक्री में 66 फीसदी उछाल

सेमीकंडक्टर की कमी (Chip Shortage) और सप्लाई चेन की अन्य दिक्कतों (Supply Chain Chalenges) के चलते अप्रैल महीने के दौरान ज्यादातर ऑटो कंपनियों (Auto Companies) को बिक्री में गिरावट का सामना करना पड़ा. भारतीय यात्री कार बाजार में नंबर वन मारुति सुजुकी (Maruti Suzuki) हो या हुंडई मोटर इंडिया (Hyundai Motor India) व होंडा कार्स इंडिया (Honda Cars India) जैसी कंपनियां, अप्रैल के दौरान सभी की बिक्री में गिरावट आई. हालांकि टाटा मोटर्स (Tata Motors) ने बाजार के ट्रेंड को मात दे दी और पिछले महीने कंपनी के कारों की बिक्री में 66 फीसदी का उछाल दर्ज किया गया.

इतनी गिरी मारुति सुजुकी की बिक्री

यात्री कार बनाने वाली देश की सबसे बड़ी कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड ने बताया कि पिछले महीने उसकी बिक्री में सालाना आधार पर 5.6 फीसदी की गिरावट आई. कंपनी ने अप्रैल 2021 में 1,59,691 यात्री कारों की बिक्री की. यह आंकड़ा अप्रैल 2022 में कम होकर 1,50,661 यूनिट पर आ गया. अप्रैल 2022 में बिक्री का आंकड़ा एक महीने पहले यानी मार्च 2022 की तुलना में भी 11.2 फीसदी कम है.

इस कारण मारुति की बिक्री पर असर

इस दौरान मारुति सुजुकी का निर्यात 6.8 फीसदी बढ़कर 18,413 यूनिट पर पहुंच गया. मिनी और कॉम्पैक्ट व्हीकल सेगमेंट में बिक्री में 21.6 फीसदी की गिरावट आई और यह आंकड़ा 76,321 यूनिट पर आ गया. दूसरी ओर यूटिलिटी व्हीकल की बिक्री 33.18 फीसदी चढ़कर 33,941 यूनिट पर पहुंच गई. कंपनी ने कहा कि चिप शॉर्टेज का उसे प्रोडक्शन पर असर पड़ा है. हालांकि कंपनी का कहना है कि यह असर सीमित है.

गिर गई हुंडई और होंडा की भी बिक्री

मारुति सुजुकी की तरह हुंडई मोटर इंडिया की बिक्री में भी अप्रैल 2022 के दौरान गिरावट आई. कंपनी ने पिछले महीने 56,201 यूनिट की बिक्री की, जो साल भर पहले यानी अप्रैल 2021 में हुई 59,203 यूनिट की बिक्री की तुलना में 5 फीसदी कम है. हालांकि इस दौरान कंपनी का एक्सपोर्ट 19.6 फीसदी बढ़कर 12,200 यूनिट पर पहुंच गया. इसी तरह होंडा कार्स इंडिया की बिक्री में सालाना आधार पर 13.2 फीसदी की गिरावट आई. कंपनी का कहना है कि ग्राहकों की धारणा में सुधार हुआ है लेकिन सप्लाई चेन की चुनौतियों से दिक्कतें आ रही हैं.

टाटा मोटर्स की बिक्री में बड़ी उछाल

दूसरी ओर टाटा मोटर्स ने अप्रैल 2022 में शानदार परफॉर्म किया है. टाटा मोटर्स की कुल बिक्री अप्रैल महीने में सालाना आधार पर 73 फीसदी बढ़ी और इसका आंकड़ा 72,468 यूनिट पर पहुंच गया. पैसेंजर व्हीकल्स के मामले में टाटा मोटर्स की बिक्री साल भर पहले की तुलना में 66 फीसदी बढ़कर 41,587 यूनिट पर पहुंच गई. कंपनी को कॉमर्शियल व्हीकल सेगमेंट में भी बड़ा फायदा हुआ है. अप्रैल 2022 में टाटा मोटर्स ने इस सेगमेंट में 30,838 वाहनों की बिक्री की. यह साल भर पहले यानी अप्रैल 2021 में हुई 16,515 यूनिट की बिक्री से 87 फीसदी ज्यादा है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें