scorecardresearch
 

टोक्यो पहुंचते ही पीएम मोदी का भव्य स्वागत, बच्चों से की खास मुलाकात, सामने आईं तस्वीरें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी टोक्यो पहुंच गए हैं. वे वहां पर क्वाड समिट अटेंड करने गए हैं. टोक्यो पहुंचते ही भारतीय समुदाय के लोगों ने उनका जोरदार स्वागत किया. वहां मौजूद बच्चों ने भी उनसे बात की.

X
टोक्यो पहुंचते ही पीएम मोदी का भव्य स्वागत टोक्यो पहुंचते ही पीएम मोदी का भव्य स्वागत
स्टोरी हाइलाइट्स
  • QUAD समिट का हिस्सा होंगे पीएम मोदी
  • अमेरिकी राष्ट्रपति से करेंगे अहम मुलाकात

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी क्वाड सम्मेलन के लिए जापान के टोक्यो पहुंच गए हैं. जापान की राजधानी में भारतीय समुदाय के लोगों ने उनका जोरदार स्वागत किया है. कई बच्चे भी उस मौके पर पीएम की एक झलक के लिए उत्साहित रहे. खुद मोदी ने भी सभी बच्चों से सबसे पहले मुलाकात की, उनसे बात की और सभी का हौसला बढ़ाया.

जो तस्वीरें सामने आई हैं उसमें साफ देखा जा सकता है कि टोक्यो पहुंचते ही भारतीय समुदाय के लोगों द्वारा 'मोदी मोदी' के नारे लगाए गए. जापान और भारतीय समुदाय के कई बच्चे भी मौके पर मौजूद रहे. उस समय पीएम मोदी की नजर एक जापानी बच्चे पर पड़ी जो उनका ऑटोग्राफ चाहता था. अब पीएम मोदी की तरफ से ऑटोग्राफ के साथ-साथ उस बच्चे की तारीफ भी की गई. उन्होंने कहा कि वाह, आपकी हिंदी तो काफी अच्छी है. कहां से सीखी आपने ये. इसके अलावा पीएम मोदी दूसरे बच्चों से भी बात करते दिख गए.

इससे पहले उन्होंने ट्वीट कर कहा था कि मैं टोक्यो में लैंड कर गया हूं. कई कार्यक्रम में हिस्सा लेने वाला हूं, क्वाड समिट में भी भाग लेना है. वहां रह रहे भारत के लोगों से भी बात करनी है. वैसे पीएम मोदी जब भी विदेशी दौरे पर जाते हैं, उनकी तरफ से वहां मौजूद भारतीय समुदाय के लोगों से जरूर संपर्क स्थापित किया जाता है.

प्रधानमंत्री इस दौरे में करीब 23 कार्यक्रमों में शामिल होंगे और साथ ही साथ कई बड़ी मुलाकातें भी करने वाले हैं. नरेंद्र मोदी जापान में अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन और ऑस्ट्रेलिया के पीएम से भी मुलाकात करेंगे. इसके अलावा वे जापान के प्रधानमंत्री से भी मुलाकात करने वाले हैं. पीएम का यह दौरा राजनीतिक और कूटनीतिक नजरिए से काफी महत्वपूर्ण है.

इस बात पर भी ध्यान देना जरूरी है कि रूस और यूक्रेन के युद्ध के दौरान ये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन की पहली मुलाकात होगी. ऐसे में इसके कई मायने निकाले जा रहे हैं. वैसे भी रूस-यूक्रेन युद्ध में खुलकर अमेरिका का समर्थन ना कर भारत ने पहले ही बड़ा दांव चला है. अब इस मुलाकात में क्या बातचीत रहती है, इस पर सभी की नजर रहेगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें