scorecardresearch
 

पाकिस्तानः बिलावल भुट्टो चीन की पहली यात्रा पर, क्या है इस विजिट का उद्देश्य?

पाकिस्तान के विदेश मंत्री बिलावल भुट्टो चीन की यात्रा पर हैं. इससे पहले उन्होंने ट्वीट कर कहा कि वह पाकिस्तान-चीन संबंधों पर गहन चर्चा के लिए चीनी स्टेट काउंसलर और विदेश मंत्री वांग यी से मिलने के लिए उत्सुक हैं. विदेश राज्य मंत्री हिना रब्बानी खार भी उनके साथ चीन की यात्रा पर हैं.

X
पाकिस्तान के विदेश मंत्री बिलावल भुट्टो (फाइल फोटो) पाकिस्तान के विदेश मंत्री बिलावल भुट्टो (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • हिना रब्बानी खार भी चीन की यात्रा पर हैं
  • चीन यात्रा से पहले बिलावल भुट्टो ने किया ट्वीट

पाकिस्तान के विदेश मंत्री बिलावल भुट्टो जरदारी दो दिवसीय चीन के दौरे पर हैं. वह शनिवार रात चीन के ग्वांगझू पहुंच गए हैं. बिलावल अपने चीनी समकक्ष वांग यी के साथ पाकिस्तान-चीन के संबंधों पर चर्चा करेंगे. बता दें कि पाकिस्तान में इमरान खान के सत्ता से बेदखल होने के बाद और विदेश मंत्री का पद संभालने के बाद बिलावल की यह पहली चीन यात्रा है. 

बिलावल के साथ विदेश राज्य मंत्री हिना रब्बानी खार और वरिष्ठ अधिकारी भी चीन के दौरे पर हैं. बिलावल ने 12 मई को वांग के साथ वर्चुअली बातचीत की थी. इसके बाद पीएम शहबाज शरीफ और चीनी प्रधानमंत्री ली केकियांग के बीच भी एक वर्चुअल बैठक हुई. वहीं चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियन ने पाकिस्तान और चीन को राजनयिक संबंधों की स्थापना की 71 वीं वर्षगांठ पर बधाई दी. 

एजेंसी के मुताबिक बिलावल भुट्टो ने कहा कि मेरी पहली द्विपक्षीय यात्रा ग्वांगझू में है. पाकिस्तान और चीन के बीच राजनयिक संबंधों की स्थापना की 71 वीं वर्षगांठ भी है. पाकिस्तान-चीन संबंधों पर गहन चर्चा के लिए चीनी स्टेट काउंसलर और विदेश मंत्री वांग यी से मिलने के लिए उत्सुक हूं. चीन की राजधानी बीजिंग में इन दिनों कोविड-19 के कारण सख्त पाबंदियां लागू हैं. लिहाजा बिलावल भुट्टो ग्वांगझू में बैठक करेंगे. 

बता दें कि बिलावल अभी न्यूयॉर्क से वापस आए हैं. जहां उन्होंने अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन के साथ बातचीत की थी और अमेरिका-पाकिस्तान संबंधों को मजबूत करने पर जोर दिया था. ब्लिंकन से मुलाकात के बाद बिलावल ने इस बात से इनकार किया कि अमेरिका के साथ पाकिस्तान के बढ़ते संबंध चीन के रिश्तों पर असर डालेंगे.

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने कहा कि बिलावल और वांग द्विपक्षीय संबंधों की समीक्षा करेंगे. जिसमें पाकिस्तान और चीन के बीच मजबूत व्यापार और आर्थिक सहयोग पर विशेष ध्यान दिया जाएगा. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें