scorecardresearch
 

Giant Sting Ray: दुनिया की सबसे बड़ी साफ पानी की मछली कंबोडिया में मिली, वजन 300 किलोग्राम

World's Largest Fish: दुनिया में बहने वाली नदियों में मिलने वाली मछलियों में ये सबसे बड़ी है. अब तक इतनी बड़ी मछली कभी नहीं मिली. पहली बार कंबोडिया में साफ पानी की दुनिया की सबसे बड़ी मछली पकड़ी गई. यह एक विशालकाय स्टिंग रे (Sting Ray) है.

X
World's Largest Freshwater Fish: ये है वो स्टिंग रे मछली जो कंबोडिया में पकड़ी गई. (फोटोः sinsamout ounboundisance/fishbio) World's Largest Freshwater Fish: ये है वो स्टिंग रे मछली जो कंबोडिया में पकड़ी गई. (फोटोः sinsamout ounboundisance/fishbio)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • उत्तरी कंबोडिया के स्तंग त्रेंग प्रांत में पकड़ी गई
  • एकॉस्टिक टैंगिंग करके उसे वापस नदीं में छोड़ा

कंबोडिया के एक मछुआरे ने मेकॉन्ग नदी (Mekong River) में जाल डाला. जब उसे खींचना शुरु किया तो उसकी हालत खराब हो गई. उसे अपने कुछ और साथियों को बुलाना पड़ा. क्योंकि जाल का वजन बहुत ज्यादा बढ़ गया था. जाल बाहर आने पर उन्होंने जो देखा, वो हैरान करने वाला था. उनके जाल में साफ पानी में तैरने वाली दुनिया की सबसे बड़ी मछली फंस गई थी. 

मछुआरे ने तत्काल स्थानीय प्रशासन और समुद्री जीव वैज्ञानिकों को बुलवाया. मछली की लंबाई और वजन मापा गया. यह एक विशालकाय स्टिंग रे (Giant Sting Ray) थी. जिसकी लंबाई 13 फीट और वजन 300 किलोग्राम था. नापतौल करने के बाद फोटो वगैरह ली गई. उसके बाद उसे वापस मेकॉन्ग नदी में छोड़ दिया गया. साथ ही उसमें एक टैग लगा दिया गया ताकि उसके व्यवहार और लोकेशन का पता चलता रहे. 

एक हफ्ते तक इस मछली की जांच-पड़ताल की गई, उसके बाद वापस नदी में छोड़ दिया गया. (फोटोः sinsamout ounboundisane/fishbio)
एक हफ्ते तक इस मछली की जांच-पड़ताल की गई, उसके बाद वापस नदी में छोड़ दिया गया. (फोटोः sinsamout ounboundisane/fishbio)

मेकॉन्ग नदी थाईलैंड में भी बहती है. इससे पहले साल 2005 में थाईलैंड में इसी नदी में 293 किलोग्राम वजनी कैटफिश पकड़ी गई थी. लेकिन इस मछली ने पिछला रिकॉर्ड तोड़ दिया है. इन मछलियों को अमेरिका द्वारा फंडेंड प्रोजेक्ट वंडर्स ऑफ द मेकॉन्ग रिसर्च में दर्ज कर लिया गया है. स्टिंग रे को उत्तरी कंबोडिया के स्तंग त्रेंग प्रांत में पकड़ा गया. इसका वजन एक सामान्य गोरिल्ला से दोगुना है. 

स्टिंग रे के अलावा मेकॉन्ग नदी में बड़ी कैटफिश और बार्ब मछलियां भी मिलती हैं. (फोटोः boramy)
स्टिंग रे के अलावा मेकॉन्ग नदी में बड़ी कैटफिश और बार्ब मछलियां भी मिलती हैं. (फोटोः boramy)

वंडर्स ऑफ द मेकॉन्ग प्रोजेक्ट के फिश बायोलॉजिस्ट जेब होगन ने कहा कि दुनिया के छह महाद्वीपों में साफ पानी की बड़ी मछलियों की खोज की जा रही है. 20 साल से यह खोज जारी है. लेकिन आजतक दुनिया में इतनी बड़ी साफ पानी की मछली नहीं देखी गई. यह एक नया इतिहास है. हमने इस स्टिंग रे में एकॉस्टिक टैग लगाया है. ताकि नदी में इसके रहवास, खान-पान समेत अन्य जानकारियों को हासिल कर सकें. 

मेकॉन्ग नदी में 1000 से ज्यादा मछलियों की प्रजातियां रहती हैं. स्टिंग रे के अलावा यहां पर विशालकाय कैटफिश और जायंट बार्ब मछलियां भी मिलती हैं. जो करीब 10 फीट लंबी और 270 किलोग्राम वजनी होती हैं. मेकॉन्ग नदी चीन से शुरु होकर थाईलैंड, लाओस, म्यांमार, कंबोडिया और वियतनाम से होकर गुजरती है. इसकी वजह से करीब 6 करोड़ लोगों को पीने और सिंचाई के लिए पानी मिलता है. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें