scorecardresearch
 

ATM से पैसे निकालना हुआ और महंगा, देखें 3 साल में सरकारी बैंकों ने कितना वसूला

ATM से पैसे निकालना हुआ और महंगा, देखें 3 साल में सरकारी बैंकों ने कितना वसूला

आम आदमी अपनी गाढी कमाई में से चार पैसा बचाता है तो बैंक में जमा करता है. लेकिन बैंक से जब अपना ही पैसा जनता निकालने पहुंचती है तो बैंक की मनमाने चार्ज और पेनल्टी वाली वसूली शुरु होती है. ब्रांच से पैसा निकलना हो या चाहे एटीएम से, चेक से पैसा निकालना हो या ऑनलाइन ट्रांजेक्शन करना हो. अपने ही पैसे से अपना ही काम करने के लिए जनता से एक तय सीमा के बाद तरह-तरह के सर्विस चार्ज वाली कैंची से बैंक जेब काटते हैं. हालत ये है कि जितना पैसा माल्या, मेहुल चोकसी, नीरव मोदी पर बैंकों ने डुबाया है, उससे कहीं ज्यादा पैसा तो आम आदमी से सर्विस चार्ज और पेनल्टी के नाम पर बैंकों ने वसूल लिया है. अब फिर से एक तय सीमा के बाद एटीएम से जनता को अपना ही पैसा निकालने पर बैकों की बढ़े हुए सर्विस चार्ज की उगाही का सामना करना पड़ेगा. देखें 10तक.

The Reserve Bank of India (RBI) on Thursday approved a hike in the interchange fees per transaction through automated teller machines (ATMs) from the existing rupees 15 to 17 for financial transactions. The customers will be allowed five free transactions, including financial and non-financial ones on a monthly basis from their own bank ATMs. Watch the video for more information.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें