scorecardresearch
 

10 तक

दशहरे पर क्या हैं देश की 10 चुनौतियां?

24 अक्टूबर 2020

कोरोना से देश जूझ रहा है. कोरोना वैक्सीन का जिक्र अब चुनावी रैलियों में हो रही है. कोरोना वैक्सीन की जरूरत अब आन पड़ी है. जिस तरह से दशानन रावण की तीनों लोकों में फैलने की विस्तारवादी सोच थी, ठीक उसी तरह से चीन के भी सोच वैसी ही है. चीन की इसी महत्वाकांक्षा ने एक ऐसे रोग रूपी दानव को जन्म दिया जो कई देशों के लाखों लोगों को निगलती जा रही है. उम्मीद ये है कि इस दहशरा कोरोना रूपी रावण का भी अंत हो. वहीं दूसरी तरफ बेटियों के खिलाफ यौन हिंसा की लगातार खबरें आती हैं. कभी यूपी, कभी राजस्थान तो कभी पंजाब, हर जगह बेटियों से हैवानियत की खबरें सामने आई हैं. हर दिन कम से कम 95 महिलाओं की अस्मिता पर वार होता है, दहशरे पर इससे भी मुक्ति चाहिए. बेटियों पर बुरी नीयत का दहन हो. दशहरे पर क्या है देश की 10 सबसे बड़ी चुनौतियां, देखिए दस्तक, श्वेता सिंह के साथ.

10 तक: पीएम मोदी की हुंकार से नीतीश का बेड़ा पार?

23 अक्टूबर 2020

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बिहार के चुनावी महासमर में कूद पड़े हैं. नीतीश कुमार की अगुवाई में फिर से एनडीए की सरकार बनवाने के लिए प्रधानमंत्री मोदी ने इसी सासाराम की जमीन से आसमान जीतने की हुंकार भरी. उन्होंने जंगल राज की याद दिलाकर लोगों को आगाह किया तो महागठबंधन की तरफ से तेजस्वी ने पूछा कि विशेष राज्य का क्या हुआ. देखें वीडियो.

10 तक: जब 'लालू यादव जिंदाबाद' के नारे पर भड़क गए नीतीश कुमार

22 अक्टूबर 2020

बिहार चुनाव को लेकर राजनीतिक घमासान पर और उसमें इस सवाल पर कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को गुस्सा क्यों आता है. वैसे नीतीश की पहचान एक सुलझे हुए और संयम में रहने वाले नेता की है लेकिन उनकी एक सभा में जब लालू की जयकार के नारे लगे तो गुस्से में वो बुरी तरह बिफर पड़े. जिससे सीधी टक्कर है, उस लालू के लिए अपनी सभा में नारेबाजी से नीतीश कुमार हत्थे से उखड़ गए. हालांकि पीछे से चारा चोर जैसे शब्द आते रहे लेकिन नीतीश के गुस्से का पारा चढ़ता गया. गुस्सा बढ़ा ही नहीं, जुबान से उबल पड़ा.

कोरोना पर पीएम मोदी के क्या हैं 9 मंत्र? देखें

20 अक्टूबर 2020

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नवरात्र में 9 दिन का व्रत रखते हैं, वो शक्ति की उपासना करते हैं. इस बार ये नवरात्र कोरोना काल में आया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना से लड़ने के लिए मंत्र दिए हैं. उन्होंने एक अहम बात कही है कि लॉकडाउन जरूर खत्म हुआ है लेकिन कोरोना का वायरस नहीं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना को लेकर ये हिदायत दोहराई कि जब तक दवाई नहीं तब तक ढिलाई नहीं. वहीं, उन्होंने वैक्सीन को लेकर भी देशवासियों को आश्वस्त किया. पीएम मोदी ने कहा कि वैक्सीन को जन-जन तक पहुंचाने के उपाय किए जाएंगे. आज का दस्तक इसी पर, देखिए दस्तक सईद अंसारी के साथ.

कोरोना के खतरों से बेखौफ, गुलजार हैं दिल्ली के पब!

19 अक्टूबर 2020

सात-आठ महीने बाद भी कोरोना दस्तक दे रहा है. आज भी आलम ये है कि अगर सावधानी हटेगी तो यकीनन दुर्घटना घटेगी. ये बंगाल के दुर्गा पूजा का समय है. पंडाल सजने लगे लेकिन कोरोना का डर इतना बडा है कि आज कलकत्ता हाइकोर्ट को इस मामले में दस्तक देना पड़ा. हाईकोर्ट ने साफ कर दिया कि कोरोना के कारण पंडाल नो एंट्री जोन में होंगे. पश्चिम बंगाल से अब बिहार में आते हैं. बिहार में चुनाव है, हार जीत का तनाव है लेकिन जिस कोरोना से तनाव होना चाहिए, उसका कोई दबाव नहीं है. लोग चुनाव आयोग के निर्देशों को सरेआम वोट बाजार में नीलाम कर रहे हैं. सामाजिक दूरी तो छोड़िए, मास्क लगाने में भी लोगों को दिक्कत हो रही है, दिक्कत हो रही है नेताओं को भी. उस पर ये ढिठाई देखिए कि कहा जा रहा है- कोरोना है कहां? देखिए दस्तक, सईद अंसारी के साथ.

10तक: पीएम मोदी का 'मिशन बिहार' तैयार, 12 रैलियों में करेंगे प्रचार

16 अक्टूबर 2020

बिहार में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. जिसके लिए सारी पार्टीयां चुनाव प्रचार में लग गई हैं. बीजेपी-जेडीयू ने भी प्रचार अभियान तेज कर दिया है. बिहार में एनडीए की जीत का दारोमदार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कंधे पर है. प्रधानमंत्री मोदी बिहार में कुल 12 रैली करेंगे. उनकी हर रैली में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी मौजूद रहेंगे. प्रधानमंत्री मोदी की रैली 23 अक्टूबर से शुरु होगी. पहली रैली सासाराम में होने वाली है. देखें वीडियो.

पुलिस की मौजूदगी में चलाईं 20 राउंड गोलियां,अफसरों के सामने हुई हत्या

15 अक्टूबर 2020

10तक में बात करेंगे बेखौफ बदमाशों की खौफनाक करतूत की जिसमें अफसरों के सामने गोलियां चलाई गईं और एक आदमी को मौत के घाट उतार दिया गया. उत्तर प्रदेश के बलिया में एसडीएम और सीओ के सामने ही बदमाशों ने 20 राउंड गोलियां चलाकर एक ग्रामीण की जान ले ली. उत्तर प्रदेश के बलिया में हुई इस वारदात के बाद सवाल उठ रहे हैं कि क्या दबंग और अपराधी कानून व्यवस्था को अपनी जेब में रखते हैं. देखें वीडियो.

बिहार के चुनाव में कश्मीर का क्या है काम?

14 अक्टूबर 2020

बिहार में चुनाव है. चुनाव में वोट के लिए नेताओं में तनाव है. उस तनाव के बीच ही कश्मीर के आतंकवादियों के सवाल ने दस्तक दे ही है. बिहार चुनाव में गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय जब जनता दल यूनाइटेड उम्मीदवार के लिए वोट मांगने पहुंचे तो कह दिया कि राष्ट्रीय जनता दल की सरकार बनेगी तो कश्मीर के आतंकियों को बिहार में पनाह मिल जाएगी. चुनाव बिहार में हो रहा है. बिहार ऐसे तमाम समस्याओं से जूझ रहा है जिनपर दस्तक देने की जरूरत है. लेकिन बात कश्मीर के आतंकवादियों तक चली गई. इसके पीछे क्या मंशा हो सकती है? क्या ये वोटों के ध्रुवीकरण की एक चाल है या और कुछ? देखें दस्तक, सईद अंसारी के साथ.

राज्यपाल की चिट्ठी से क्यों तिलमिलाए हैं उद्धव ठाकरे?

13 अक्टूबर 2020

आज दस्तक उस राजनीति पर जो हिंदुत्व के नाम पर दोस्ती में बांधती है और सत्ता के नाम पर अलग कर देती है. महाराष्ट्र में कोरोना के अनलॉक पीरियड में बहुत कुछ अनलॉक हो गया लेकिन नहीं खुला तो मंदिरों पर लगा ताला. इसी बात को लेकर महाराष्ट्र बीजेपी ने आज शहर दर शहर धरना प्रदर्शन किया. लेकिन सबसे बड़ी बात ये रही कि खुद राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को एक खत लिखकर तंज कसा, जिससे सियासत और गरमा गई. देखिए दस्तक, सईद अंसारी के साथ.

हाथरस केस: आरोपी बेगुनाह तो भड़काऊ बयान क्यों?

12 अक्टूबर 2020

हाथरस कांड अपनी घटना के चार हफ्ते बाद भी अपना जवाब, अपना इंसाफ मांग रहा है. अब जांच सीबीआई के हाथों में है. इस बीच इलाहाबाद हाईकोर्ट ने पीड़िता के परिवार को बुलाया और उनके सामने ही पुलिस को उनके एक्शन पर फटकार लगाई. आखिर 14 सितंबर को पुलिस ने कैसे लापरवाही दिखाई. इस सच को हमारे अंडरकवर रिपोर्टरों ने बेनकाब किया है. हमारे इस सुपर एक्सक्लुसिव स्टिंग ऑपरेशन में हाथरस कांड में सस्पेंड हुए पुलिस इंस्पेक्टर दिनेश वर्मा बता रहे हैं कि लहूलुहान पीड़िता के मामले में कैसी घोर लापरवाही बरती गई. देखिए दस्तक, सईद अंसारी के साथ.

10 तक: हाथरस कांड के 25 दिन, आजतक पर आरोपी और पीड़िता के परिवार

09 अक्टूबर 2020

हाथरस कांड के आज 25 दिन हो गए और हाथरस की पीड़िता बिटिया की मौत के दस दिन. लेकिन इंसाफ की पुकार आज भी वैसे ही उठ रही है. चाहे पीड़िता का परिवार हो या आरोपी का, दोनों ही इंसाफ की गुहार लगा रहे हैं. आजतक पर आज आप आरोपी और पीड़िता दोनों के परिवार को एक साथ सुनिए. उनके सवाल उनके जवाब और इंसाफ की उनकी पुकार. देखिए 10 तक.