scorecardresearch
 

दंगल: क्या Owaisi की UP में एंट्री से किसान आंदोलन पर पड़ रहा असर?

दंगल: क्या Owaisi की UP में एंट्री से किसान आंदोलन पर पड़ रहा असर?

यूपी चुनाव की सरगर्मी शुरू हुई है तो किसान आंदोलन की राजनीति भी गरम हो रही है और इस किसान आंदोलन की राजनीति ने यूपी की चुनावी पॉलिटिक्स में दखल देना शुरू किया है. किसान नेता राकेश टिकैत ने यूपी के मुसलमानों पर डोरे डाल रहे AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी पर निशाना साधा है, और उन्हें बीजेपी का चचाजान कह दिया है. राकेश टिकैत की राजनीति उस जाट-मुस्लिम एकजुटता को बनाए रखने की है, जिसने पश्चिमी यूपी में बीजेपी के लिए मुश्किल पैदा कर दी है. इस बीच जाटों को लुभाने की पीएम नरेंद्र मोदी की कोशिश के बाद, बीजेपी अब सीधे किसान सम्मेलन करने जा रही है. किसानों पर बीजेपी के इस दांव के बीच आज हमारा दंगल का सवाल है कि क्या ओवैसी की यूपी में एंट्री से किसान आंदोलन की राजनीति पर असर पड़ रहा है? देखिए दंगल.

Bharatiya Kisan Union (BKU) leader Rakesh Tikait said that All India Majlis-e-Ittehadul Muslimeen (AIMIM) leader Asaduddin Owaisi and BJP were a "team", adding that the farmers needed to understand their moves. Calling Asaduddin Owaisi the "chacha jaan" of BJP, Tikait said the AIMIM leader has the blessings of the saffron party. In this episode of Dangal, we will ask whether Owaisi's entry into UP is affecting the Farmer agitation?

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें