scorecardresearch
 

दंगल

देश को चाहिए एक और लॉकडाउन? देखें दंगल

12 अप्रैल 2021

कोरोना के संक्रमण की रफ्तार हर दिन बढ़ती जा रही है. बीते 1 दिन में नए केस करीब 1 लाख 69 हजार के आसपास आए हैं. और इसी के साथ भारत कोरोना प्रभावित देशों में दूसरे पायदान पर पहुंच गया है. कोरोना की इस दूसरी लहर को रोकने का उपाय क्या हो? वैसे तो देश के कई राज्यों ने कहीं नाइट कर्फ्यू तो कहीं वीकेंड लॉकडाउन जैसे व्यवस्थाएं बनाई हैं, लेकिन सबसे बड़ा सवाल है कि कोरोना क्या इससे रुक जाएगा? कोरोना बेकाबू हो रहा है लेकिन सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों के टूटने की खबरें कई जगहों से आ रही हैं, इसलिए सवाल है कि क्या जब तक सख्ती नहीं, तब तक सोशल डिस्टेंसिंग नहीं होगी? क्या कोरोना रोकथाम के लिए संपूर्ण लॉकडाउन ही एक विकल्प है? क्या देश को चाहिए एक और लॉकडाउन? देखें दंगल, रोहित सरदाना के साथ.

कोरोना की दूसरी लहर, राज्य-राज्य कहर! देखें दंगल

10 अप्रैल 2021

देश में एक बार से कोरोना की लहर से कोहराम मचा हुआ है. तमाम राज्यों में दूसरी लहर में लगातार मामले बढ़ते जा रहे हैं. मध्य प्रदेश भी इससे अछूता नहीं है. यहां बढ़ते केस को देखते हुए कई शहरों में ना सिर्फ लॉकडाउन लगाया गया है बल्कि इसे कई शहरों में कुछ दिनों के लिए बढ़ा भी दिया गया है. मध्य प्रदेश के तमाम शहरों के साथ साथ देश के दूसरे राज्यों में भी कोरोना की दूसरी लहर कोहराम मचा रही है. एमपी के कई शहरों में जहां लॉकडाउन बढ़ाया गया है. वहीं महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा केस आ रहे हैं. महाराष्ट्र के बाद यूपी में सबसे अधिक 12787 नए मामले सामने आए हैं. एमपी से सटे छत्तीसगढ़ में भी 10 हजार से अधिक केस दर्ज हुए हैं. दिल्ली में भी नाइट कर्फ्यू लागू कर दिया गया है. देखें दंगल.

वैक्सीन पर राजनीति कौन कर रहा? देखें दंगल में बहस

09 अप्रैल 2021

कोरोना की दूसरी लहर जब कहर बन के टूट रही है, जब वैक्सीन पर हंगामा बढ़ता जा रहा है. उस वक्त कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने राज्यों को वैक्सीन की किल्लत का आरोप लगाते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखी है. उन्होंने तमाम मांगों के साथ विदेशों में वैक्सीन सप्लाई रोकने की मांग की है. लेकिन सरकार के मुताबिक अब तक 9 करोड़ 80 लाख डोज दी जा चुकी है. स्टॉक और डिलीवरी में 2 करोड़ 40 लाख डोज है, साथ ही 1 करोड़ 90 लाख वैक्सीन डोज पाइपलाइन में है. इसीलिए वैक्सीन के झगड़े पर आज की दंगल में हम बहस करने वाले हैं.

वैक्सीन के स्टॉक पर आर-पार क्यों? देखें दंगल में जोरदार बहस

08 अप्रैल 2021

कोरोना और ज्यादा खतरनाक होकर भारत पर अटैक कर रहा है. आज भारत में 1 लाख 26 हजार से ज्यादा नए केस आए हैं. लेकिन कोरोना से इस लड़ाई के बीच भारत में वैक्सीन सप्लाई पर सियासी युद्ध भी शुरू हो गया है. महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने साफ कहा है कि उनके राज्य को जितनी वैक्सीन की जरूरत है, उतनी वैक्सीन केंद्र की ओर से मुहैया नहीं हो रही है. उन्होंने गुजरात जैसे राज्यों से तुलना कर वैक्सीन सप्लाई में केंद्र पर भेदभाव का आरोप भी लगा दिया है. गौरतलब है कि कल ही केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने वैक्सीन सप्लाई में कमी के आरोपों को ये कहकर नकारा था कि ये ध्यान भटकाने की कोशिश है. इसीलिए आज दंगल में हमारा मुद्दा है कि क्या वैक्सीन सप्लाई में कमी है, या केंद्र और महाराष्ट्र में विश्वास की कमी है?

नाइट कर्फ्यू के आगे क्या है लॉकडाउन? देखें दंगल

07 अप्रैल 2021

कोरोना एक बार फिर कहर बन के टूट रहा है, और हर बीतते दिन के साथ हालात बिगड़ते जा रहे हैं. कोरोना की इस दूसरी लहर ने पहले के रिकॉर्ड्स को तोड़ दिया है. इसीलिए कई राज्य सरकारों की ओर से नाइट कर्फ्यू जैसे कदम उठाए गए हैं. बड़ा सवाल है कि क्या नाइट कर्फ्यू के आगे लॉकडाउन है? योगगुरु रामदेव ने बढ़ते कोरोना संकट पर बात की और शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के भी उपाय बताए. उन्होंने कई योग आसन भी सुझाए. कोरोना संक्रमण के आंकड़े देश में बेकाबू हो रहे हैं. देखें दंगल, रोहित सरदाना के साथ.

बंगाल के चुनाव में धर्म का क्या काम? देखें दंगल

06 अप्रैल 2021

पांच राज्यों के चुनाव में आज सबसे बड़ा चुनावी दिन है, लेकिन हर बीतते चरण के साथ बंगाल का मुकाबला और तीखा होता जा रहा है. जहां एक ओर तीसरे चरण के लिए बंगाल में 31 सीटों पर मतदान हुआ है तो दूसरी ओर चौथे चरण के चुनाव प्रचार के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक तरह से हिंदू कार्ड खेल दिया. प्रधानमंत्री मोदी ने कूचबिहार की रैली में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर मुसलमान वोट बैंक की पॉलिटिक्स करने का आरोप लगाया. लेकिन साथ ही कह दिया कि अगर बीजेपी ने कहा होता कि सारे हिंदू एक हो जाओ तो हमें चुनाव आयोग का नोटिस आ जाता. पीएम के मुताबिक ममता बनर्जी ने एक चुनावी रैली में कहा था कि सारे मुसलमान बीजेपी के खिलाफ एक हो जाओ. बंगाल चुनाव में पहले से हिंदू वोटों के ध्रुवीकरण की कोशिश का आरोप लग रहा है. बीजेपी जहां जय श्री राम के नारे को उछाल रही है, तो इस बार ममता ने भी खुद को ब्राह्मण बताने के साथ-साथ चंडी पाठ किया है, मंदिरों में दर्शन किए हैं. क्या बंगाल चुनाव में धर्म कांटा नतीजा तय करेगा? क्या जैसा कि पीएम ने आरोप लगाया है कि टीएमसी करे तो चुनाव लीला, बीजेपी करे तो कैरेक्टर ढीला है, कह सकते हैं? देखें दंगल.

CBI जांच से उद्धव पर संकट आएगा? देखें दंगल

05 अप्रैल 2021

मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह की चिट्ठी पर आज राजनीतिक असर हो ही गया. बांबे हाई कोर्ट ने परमबीर के आरोपों की जांच के लिए सीबीआई को आदेश दिया है, जिसके बाद महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख का इस्तीफा हो गया है. पिछले महीने परमबीर सिंह ने अपने ट्रांसफर के बाद सनसनीखेज आरोप लगाते हुए कहा था कि अनिल देशमुख ने पुलिस को 100 करोड़ हर महीने वसूली का टारगेट दिया था. परमबीर सिंह अपने आरोपों पर सीबीआई जांच कराने की मांग पर पहले सुप्रीम कोर्ट गए थे. फिर सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद उन्होंने बांबे हाई कोर्ट का रुख किया. बांबे हाई कोर्ट ने परमबीर सिंह के आरोपों को असाधारण और अभूतपूर्व कहा है. कोर्ट ने सीबीई से 15 दिनों में प्राथमिक जांच के लिए कहा है. कोर्ट के आदेश के मुताबिक जांच एजेंसी अभी एफआईआर नहीं दर्ज करेगी क्योंकि महाराष्ट्र सरकार पहले ही हाई लेवल जांच करा रही है. लेकिन अपनी प्राथमिक जांच के बाद सीबीआई आगे का कदम खुद तय कर सकेगी. देखें दंगल, रोहित सरदाना के साथ.

दीदी पर क्यों चिढ़ने लगी टीएमसी? देखें दंगल

04 अप्रैल 2021

बंगाल के चुनाव में तीसरे फेज से पहले एक और मुद्दा तेजी से उछल गया है. पीएम मोदी के 'दीदी ओ दीदी' वाले बयान को टीएमसी ने बंगाल की महिला सम्मान से जोड़ दिया है. अब ऐसे में सवाल उठता है कि अबतक बम-बारूद, मां, मानुष और माटी से लेकर सोनार बांग्ला के मुद्दे में 'दीदी' जैसे शब्द की कैसे एंट्री हो गई? क्या पीएम के दीदी कहते ही पब्लिक का क्रेजी होना टीएमसी को खलने लगा है. या फिर चुनावी खेल में ममता की पार्टी ने भी माइंडगेम चल दिया है? ममता बनर्जी को बड़े प्यार से दीदी कहना भी चुनावी दंगल में टीएमसी को रास नहीं आ रहा है. टीएमसी ने इसे बंगाल की महिला सम्मान से जोड़ दिया है. डेरेक ओ ब्रायन ने जहां ट्वीट करके पीएम पर पलटवार किया वहीं पार्टी के नेताओं ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके अपने गुस्से का गुबार निकाला. देखें दंगल, चित्रा त्रिपाठी के साथ.

लोकतंत्र के मंच पर जाति-धर्म के मंत्र! देखें दंगल

03 अप्रैल 2021

देश में जबरदस्त चुनावी माहौल चल रहा है. चारों तरफ विकास और सुशासन के दावों की गूंज सुनाई दे रही है लेकिन इन सबके साथ एक और आवाज चुनावी फिजा में घुली-मिली है, वो है, धर्म-जाति और संस्कृति की दुहाई. पार्टी कोई भी हो, नेता कोई भी हों, वोट की खातिर हर कोई धर्म के कार्ड का भरपूर इस्तेमाल कर रहा है. सवाल है कि क्या यही लोकतंत्र का विकास है? क्या धर्म के नाम पर ही वोट का जुगाड़ हो रहा है. देखें दंगल, रोहित सरदाना के साथ.

दंगल: बंगाल में अब सिर्फ 'मोदी Vs दीदी'?

02 अप्रैल 2021

बंगाल में 2 चरणों का चुनाव हो चुका है, और अब बीजेपी और टीएमसी के बीच माइंड गेम शुरू हो गया है. इसकी शुरुआत हुई है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उस बयान से, जिसमें उन्होंने कहा कि नंदीग्राम से ममता बनर्जी हार रही हैं, इसलिए उनके कहीं और से चुनाव लड़ने की अफवाह है. जवाब में टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा ने कह दिया कि ममता वाराणसी से मोदी का मुकाबला करेंगी. वैसे तो टीएमसी ने एक तरह से साफ किया है कि कहीं और से ममता बंगाल में अब पर्चा नहीं भरेंगी लेकिन क्या जो माहौल है, उसमें कुछ भी संभव है? देखें वीडियो.

बंगाल में है किसको हार का डर, किसकी होगी जीत? देखिए दंगल

01 अप्रैल 2021

बंगाल में दूसरे चरण के चुनाव में सबसे हाई प्रोफाइल सीट नंदीग्राम पर आज जमकर हंगामा हुआ है. ममता बनर्जी ने सीधे केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पर आरोप लगाया है कि केंद्रीय सुरक्षा बलों के जरिये वोटिंग प्रभावित करने की कोशिश हो रही है. ममता नंदीग्राम की एक पोलिंग बूथ पर जाकर बैठ गईं, और उन्होंने वहां से राज्यपाल जगदीप धनखड़ को फोन किया और कहा कि वो सुनिश्चित करें कि चुनाव निष्पक्ष हों. उधर, बीजेपी के नंदीग्राम कैंडिडेट शुभेंदु अधिकारी एक समुदाय के कुछ लोगों पर गड़बड़ी फैलाने का आरोप लगा रहे हैं.बंगाल में है किसको हार का डर, किसकी होगी जीत? देखें दंगल.