scorecardresearch
 

सेना में लेफ्टिनेंट बनीं कुलगाम हमले में शहीद नायक दीपक नैनवाल की पत्नी ज्योति नैनवाल

जम्मू- कश्मीर के कुलगाम हमले में शहीद हुए नायक दीपक नैनवाल की पत्नी ज्योति नैनवाल चेन्नई में ओटीए से पास आउट होने के बाद भारतीय सेना की लेफ्टिनेंट बन गई हैं.

Jyoti Nainwal Jyoti Nainwal
स्टोरी हाइलाइट्स
  • शहीद की पत्नी ज्योति नैनवाल बनी लेफ्टिनेंट
  • पास आउट परेड में पहुंचे दो मासूम बच्चे भी

जम्मू-कश्मीर के कुलगाम हमले में शहीद हुए नायक दीपक नैनवाल की पत्नी ज्योति नैनवाल भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट बन गई हैं. ज्योति, चेन्नई में ओटीए से पास आउट हो गई हैं. पासिंग आउट परेड के बाद ज्योति सेना में लेफ्टिनेंट बन गई हैं. पासिंग आउट समारोह में लेफ्टिनेंट ज्योति नैनवाल के दो मासूम बच्चे भी आए थे जिन्होंने सेना जैसी वर्दी पहनी थी.

लेफ्टिनेंट ज्योति ने अपनी इस उपलब्धि के लिए अपने परिजनों के साथ ही महार रेजिमेंट को भी धन्यवाद दिया. ज्योति ने कहा मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं नौकरी कर सकूंगी. एक हाउस वाइफ थी लेकिन जब मेरे पति अस्पताल में थे तो मैंने समझा कि सेना अपने सैनिकों की देखभाल कितनी खूबसूरती से करती है.

ज्योति ने कहा कि तभी मैंने सेना में शामिल होने का फैसला कर लिया और हमारी रेजिमेंट ने भी इसमें मदद की. ज्योति नैनवाल ने कहा- मैं वीर नारी को बताना चाहती हूं कि हमें इस तरह से जीना चाहिए कि हमारे बच्चों को हमारे अलावा किसी और से प्रेरणा लेने की जरूरत नहीं पड़े.

ज्योति की बेटी लावण्या नैनवाल ने कहा कि उन्हें अपनी मां पर बहुत गर्व है और वह भी एक दिन आर्मी ऑफिसर बनेंगी. उन्होंने कहा, "मैं महार रेजीमेंट को धन्यवाद देना चाहती हूं. उनकी वजह से मेरी मां एक आर्मी ऑफिसर बन गई हैं और मुझे उन पर बहुत गर्व हो रहा है. मैं एक बहुत ही प्राउड बेटी हूं."

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×