scorecardresearch
 

अक्षरा सिंह ने खोला इंडस्ट्री का सच, बोलीं- मैं कब की खत्म कर दी गई होती...

भोजपुरी एक्ट्रेस अक्षरा सिंह आज भले ही हाईएस्ट पेड एक्ट्रेस बन चुकी हैं लेकिन उनके लिए यहां तक पहुंचने का रास्ता आसान नहीं था. इस दौरान अक्षरा ने कई जिल्लतों का सामना किया है. खुद बता रही हैं...

X
अक्षरा सिंह अक्षरा सिंह
स्टोरी हाइलाइट्स
  • हाईएस्ट पेड एक्ट्रेस पर आया अक्षरा का रिएक्शन
  • फिल्मों से निकाली गईं,कैरेक्टर पर भी उठे सवाल

पिछले दिनों भोजपुरी एक्ट्रेस अक्षरा सिंह हाइयेस्ट पेड होने की वजह से चर्चा में थीं. अक्षरा  इस अचीवमेंट से खुश हैं और उनका कहना है कि उनकी यह पहल आने वाली एक्ट्रेसेज के लिए राह आसान करेगी. हालांकि यहां तक पहुंचने के लिए उन्हें क्या-क्या झेलना पड़ा है वो भी कम तकलीफदेह नहीं है.

अक्षरा ने aajtak.in से बातचीत में कहा कि ये बहुत ही खुशी की बात है कि भोजपुरी इंडस्ट्री में इस चीज की पहल की जा रही है और मेरा नाम इसमें शामिल है. मैं यह कहना चाहूंगी कि ये अचीवमेंट केवल मेरे लिए नहीं है बल्कि हर उस एक्ट्रेस के लिए है, जो मेहनत कर अपना मुकाम हासिल करना चाहती हैं. सारी भोजपुरी एक्ट्रेसेज ये डिजर्व करती हैं.  ये केवल इंडस्ट्री की बात नहीं है. हमारी पूरी सोसायटी ही पुरुष प्रधान है. हर जगह लड़की और लड़कों के सैलरी स्केल में डिफरेंस है. वक्त लगेगा लेकिन चेंज तो जरूर आएगा.

हालांकि रानी चटर्जी मानती हैं कि अक्षरा नहीं बल्कि वो हाइयेस्ट पेड एक्ट्रेस हैं. इस पर अक्षरा का कहना है कि मैं इसपर कोई कमेंट नहीं करना चाहती. बेशक वो रही होंगी. वो सीनियर हैं और जब हम आए थे, तो पहले से ही बड़ा नाम थीं. उन्होंने बहुत मेहनत की होगी, अच्छा अमाउंट भी लिया होगा. मैं इसकी डिटेल में अब नहीं जाना चाहती.

अक्षरा सिंह नहीं भोजपुरी की हाईएस्ट पेड एक्ट्रेस, रानी ने बताया कितनी मिलती है फीस

 

अक्षरा ने इस दौरान अपनी पहली फीस के बारे में भी बात की. उन्होंने 2011 में पहली फिल्म की थी. उसके लिए ढाई लाख रुपये चार्ज किए थे. अब इंडस्ट्री में मुझे 12 साल होने को हैं, इस एक दशक में मैंने काफी कुछ झेला है. कई बार फीस को लेकर मुझे फिल्म से निकाला गया है. कई और फैक्टर भी रहे हैं, जहां रातोरात बिना बताए फिल्म से रिप्लेस कर दी गई. मैं भुक्तभोगी रही हूं, मैं तो कहूंगी कि हमारी भोजपुरी इंडस्ट्री में जितनी भी एक्ट्रेसेज हैं, उनमें सबसे ज्यादा पीड़ित अगर कोई रही होगी, तो वो मैं ही हूं. चाहे वो फीस के मामले में हो, चाहे वो कॉम्पलेक्स की बात हो, हर जगह प्रताड़ना झेली है. कई बार एक्टर मुझसे कॉम्प्लेक्स फील करने लगते थे कि ये इतनी सुंदर क्यों है या ये इतना अच्छा काम क्यों कर रही है. वो तो भगवान का शुक्र है कि मैं आगे निकल पाई, वरना कब की खत्म कर दी गई होती. इंडस्ट्री से आउट ही हो जाती.

जब ऋषि कपूर ने डायरेक्टर को दी गाली, मारा धक्का, बोले- पागल हो गया है तू

बिना एक्ट्रेस के फिल्म अपने दम पर चला लें, तो मानूं
अक्षरा कहती हैं, एक ओर जहां मैं गर्ल्स पावर की बात कर रही हूं लेकिन कई बार एक एक्ट्रेस ने मुझे फिल्म से निकलवा दिया है. एक्ट्रेसेज भी कहती थीं कि अक्षरा रहेगी तो मैं काम नहीं कर सकती. वो अपने बॉयफ्रेंड एक्टर को कहकर मुझे आउट करा देती थीं, या फिर प्रोड्यूसर से अच्छे टर्म होने की वजह से मुझे उन फिल्म में मौका नहीं मिला. हालांकि मैंने अपने अंदर वो कड़वाहट नहीं आने दी, मैं आज भी किसी लड़की के साथ वो नहीं कर सकती हूं. मैं जानती हूं कि एक लड़की का इस इंडस्ट्री में सरवाइव करना कितना मुश्किल है. 

अक्षरा ने कहा कि मैं सारे एक्टर से एक ही बात कहना चाहती हूं कि अगर आपके नाम पर फिल्में चलती हैं, तो आप अपनी फिल्मों से हीरोइनों को हटा दें. आप एक बार खुद अपने नाम पर फिल्म बनाएं, जो बिना हीरोइन के हो. अगर सच में एक्ट्रेसेज के बिना इनकी फिल्म चल जाती है, तो उस दिन मैं बात करूंगी.


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें