scorecardresearch
 

UP: 2022 के लिए संजय निषाद ने योगी को बताया सबसे मुफीद चेहरा, BJP ने भी किया ये वादा

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को देखते हुए बीजेपी निषाद पार्टी को राजनीतिक महत्व देने जा रही है तो संजय निषाद ने भी 2022 में सीएम योगी आदित्यनाथ को 2022 का सबसे मुफीद चेहरा बता दिया है. बीजेपी के पहले सहयोगी संजय निषाद हैं, जिन्होंने योगी के चेहरे पर चुनाव लड़ने की पैरवी की है. 

संजय निषाद, जेपी नड्डा, अमित शाह, योगी आदित्यनाथ, स्वतंत्रदेव सिंह संजय निषाद, जेपी नड्डा, अमित शाह, योगी आदित्यनाथ, स्वतंत्रदेव सिंह
स्टोरी हाइलाइट्स
  • निषाद पार्टी ने कहा यूपी में मुफीद चेहरा योगी
  • योगी के नेतृत्व में बीजेपी लड़ेगी 2022 का चुनाव
  • निषाद समुदाय की डिमांड को बीजेपी करेगी पूरा

उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी अपने समीकरण और राजनीतिक गठजोड़ बनाने में जुटी हैं. ऐसे में निषाद समाज की सियासी अहमियत को अच्छे से भांप चुकी बीजेपी इस अतिपिछड़े वोटबैंक को किसी भी तरह अपने से दूर नहीं जाने देना चाहती. बीजेपी निषाद पार्टी को राजनीतिक महत्व देने जा रही है तो संजय निषाद ने भी 2022 में सीएम योगी आदित्यनाथ को 2022 का सबसे मुफीद चेहरा बता दिया है. बीजेपी के पहले सहयोगी संजय निषाद हैं, जिन्होंने योगी के चेहरे पर चुनाव लड़ने की पैरवी की है. 

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के साथ गुरुवार के दिल्ली में सीएम योगी आदित्यनाथ, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह और सुनील बंसल के साथ हुई बैठक में निषाद पार्टी के प्रमुख संजय निषाद भी शामिल थे. इस दौरान यूपी के कैबिनेट विस्तार से लेकर संजय निषाद के द्वारा निषाद समुदाय के द्वारा उठाई जाने वाली मांगों को पूरी करने पर चर्चा हुई. 

सीएम के लिए योगी सबसे मुफीद चेहरा

निषाद पार्टी के अध्यक्ष संजय निषाद ने आजतक से खास बातचीत में कहा कि कि 2022 के चुनाव में योगी आदित्यनाथ ही बीजेपी का चेहरा होंगे. उन्होंने कहा कि निषाद पार्टी चाहती है सीएम योगी के चेहरे पर ही चुनाव लड़ा जाए, क्योंकि पहले से ही वो निषाद समाज के लिए लड़ते रहे हैं और उनके विकास के लिए काम करते रहे हैं. निषाद समुदाय के लिए यूपी में योगी आदित्यनाथ से मुफीद और कोई चेहरा हो ही नहीं सकता. 

संजय निषाद के मुताबिक भले ही केंद्रीय मंत्रिमंडल में उनके बेटे को जगह नहीं मिली लेकिन अब आने वाले सभी कार्यक्रमों में उनकी भागीदारी रहेगी वह चाहे एमएलसी हो या फिर मंत्रिमंडल विस्तार, शीर्ष नेतृत्व ने भरोसा दिया है कि उन्हें हर जगह प्रतिनिधित्व मिलेगा.

निषाद समुदाय को मिलेगी अहमियत 

संजय निषाद ने बताया कि बीजेपी के शीर्ष नेताओं के साथ हुई बैठक में विभिन्न विषयों पर सकारात्मक चर्चा हुई. बीजेपी जल्द ही हमारी सभी मांगे पूरी करेगी, ऐसा भरोसा हमें बीजेपी के शीर्ष नेतृत्व ने गुरुवार को हुई बैठक में दिया है. उन्होंने आरक्षण आंदोलन को लेकर पिछली सरकारों द्वारा लगाए गए राजनीतिक मुकदमों की वापसी और निषादों की सभी उपजातियों को अनुसूचित जाति का दर्जा दिया जाएगा.

उन्होंने कहा कि निषाद और मल्लाह को दलितों के कोटे में डालने में कोई अड़चन नहीं है. यूपी 17 अतिपिछड़ों जातियों को अनुसूचित जाति वर्ग में शामिल करने का कदम योगी सरकार पहले ही उठा चुकी हैं, जिसमें निषाद समुदाय की आने वाली जातियां भी शामिल है. ऐसे में अब सिर्फ उन्हें सर्टिफिकेट जारी करना है, क्योंकि पहले से ही निषाद और मल्लाह समाज की दूसरी जातियां एसटी कैटेगरी में हैं. साथ ही उन्होंने बताया कि पहले की तरह मछुआरों के जीवकोपार्जन के संसाधन ताल, झील, जलाशय, पोखरों का पट्टा आवंटन की व्यवस्था फिर शुरू की जा सकती है. 

निषाद पार्टी को मिलेगी सम्मानजनक सीटें

वीआईपी पार्टी के प्रमुख मुकेश साहनी और दूसरे निषाद समाज का प्रतिनिधित्व करने वाली पार्टियों पर उन्होंने कहा की निषाद पार्टी को ही यूपी में निषाद समाज अहमियत देता है और संजय निषाद को अपना नेता मानता है. निषाद समुदाय को दूसरी अन्य संगठनों पर भरोसा नहीं है. ऐसे में निषाद समुदाय 2022 में बीजेपी की सरकार बनाएंगे. 

संजय निषाद ने बताया कि बीजेपी के शीर्ष नेताओं ने गुरुवार को बैठक में पूछा है कि कितनी सीटों पर क्या समीकरण समाज का है और कितनों पर लड़ना चाहेंगे. इसका जवाव देने के लिए कुछ वक्त मांगा है.  जल्द ही दोबारा बैठक कर इस मुद्दे को भी सुलझा लिया जाएगा. इसके अलावा उन्हें भरोसा है कि 2022 में उन्हें सम्मान जनक सीटें बीजेपी देगी.  

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें