scorecardresearch
 

मुंबई में बीजेपी की जन आशीर्वाद यात्रा पर उद्धव सरकार सख्त, 7 FIR दर्ज

महाराष्ट्र में बीजेपी कार्यकर्ताओं को जन आशीर्वाद यात्रा निकालना भारी पड़ गया है. मुंबई में यात्रा निकालने को लेकर बीजेपी के कार्यकर्ताओं के खिलाफ सात एफआईआर दर्ज की गई हैं.

X
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मुंबई में बीजेपी वर्कर्स के खिलाफ 7 एफआईआर दर्ज
  • जन आशीर्वाद यात्रा में कोरोना प्रोटोकॉल्स का उल्लंघन का आरोप

महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में बीजेपी कार्यकर्ताओं के जन आशीर्वाद यात्रा निकालने पर उद्धव सरकार ने सख्ती दिखाई है. शहर में यात्रा निकालने को लेकर बीजेपी के कार्यकर्ताओं के खिलाफ सात एफआईआर दर्ज की गई हैं. मुकदमों में कार्यकर्ताओं के खिलाफ कोरोना प्रोटोकॉल्स का उल्लंघन करने का आरोप लगाया गया है.

मुंबई के विले पार्ले, खेरवादी, माहिम, शिवाजी पार्क, दादर, चेंबूर और गोवांडी पुलिस थाने में कार्यकर्ताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई हैं. हालांकि, अभी तक पुलिस ने किसी को गिरफ्तार नहीं किया है.

केंद्रीय मंत्री कपिल पाटिल के समर्थन में मुंबई में जन आशीर्वाद यात्रा का आयोजन किया गया था. 16 अगस्त को निकाली गई यात्रा के दौरान कई सौ बीजेपी कार्यकर्ता शामिल हुए थे, जिन्होंने केंद्रीय मंत्री का शहर के विभिन्न इलाकों में स्वागत किया था. 

यात्रा के दौरान बीजेपी के बड़ी संख्या में कार्यकर्ता मौजूद थे. यात्रा में कई लोगों ने मास्क नहीं लगा रखा था, जोकि कोरोना नियमों का उल्लंघन है. इसके साथ ही यात्रा में सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन नहीं किया गया था. इसी के चलते मुंबई पुलिस ने बीजेपी कार्यकर्ताओं के खिलाफ मुकदमे दर्ज किए हैं.

कोपरी पुलिस थाने के अधिकारी ने बताया था कि आयोजकों ने जन आशीर्वाद यात्रा के लिए पुलिस की अनुमति भी नहीं ली थी. पुलिस ने बीजेपी कार्यकर्ताओं के खिलाफ आईपीसी की धारा-188, 269, 270 आदि के तहत मुकदमा दर्ज किया है. पुलिस ने बताया कि कार्यक्रम के दौरान एक शख्स के पास से एक लाख रुपये भी चोरी हो गए थे.

जुलाई महीने में मोदी सरकार में शामिल किए गए मंत्रियों को बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने स्वतंत्रता दिवस के बाद सीधे जनता से जुड़ने का निर्देश दिया था. उनसे जनता के बीच जाकर बातचीत करने के लिए कहा गया था. इसी सिलसिले में पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने मंत्रियों को लेटर लिखकर जन आशीर्वाद यात्रा निकालने के लिए कहा था. इस यात्रा के तहत मंत्रियों को कम से कम तीन से चार लोकसभा क्षेत्र कवर करने थे.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें