scorecardresearch
 

Bihar Board Exam 2022: कोरोना के बीच तय शेड्यूल पर ही होंगी बिहार बोर्ड 10वीं-12वीं की परीक्षाएं

BSEB Bihar Board 10th, 12th Exam 2022: बिहार के शिक्षामंत्री विजय कुमार चौधरी ने कहा कि सरकार और बिहार स्कूल एक्जामिशेन बोर्ड की वर्तमान में यही मंशा है कि परीक्षाएं नियत समय पर हो ताकि छात्रों के भविष्य पर असर न हो. पिछले साल भी बिहार देश में एकलौता राज्य रहा था जिसमें समय से परीक्षा हुए और रिजल्ट जारी हुए थे.

Bihar Board 10th 12th Exam 2022: Bihar Board 10th 12th Exam 2022:

BSEB Bihar Board 10th, 12th Exam 2022: कोरोना के बढ़ते मामलों के बावजूद ब‍िहार सरकार ने स्‍पष्‍ट किया है कि बिहार बोर्ड इंटरमीडिएट और मैट्रिक की परीक्षाएं तय समय पर ही होंगी. बिहार के शिक्षामंत्री विजय कुमार चौधरी ने कहा कि सरकार और बिहार स्कूल एक्जामिशेन बोर्ड की वर्तमान में यही मंशा है कि परीक्षाएं नियत समय पर हो ताकि छात्रों के भविष्य पर असर न हो. पिछले साल भी बिहार देश में एकलौता राज्य रहा था जिसमें समय से परीक्षा हुए और रिजल्ट जारी हुए थे.

बिहार में इंटरमीडिएट की परीक्षा 01 फरवरी से 14 फरवरी तक होनी है जिसका ऐलान काफी पहले कर दिया गया था. अब कोविड के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए इसे टालने की आशंका बनी हुई थी लेकिन शिक्षा विभाग ने स्पष्ट कहा कि परीक्षाएं नियत समय पर ही होंगी. विभाग के मुताबिक बिहार सरकार के  कोरोना गाईडलाईन में वार्षिक और प्रतियोगी परीक्षाओं पर कोई रोक नही लगाई गई है.

इंटरमीडिएट प्रैक्टिकल परीक्षाएं 10 जनवरी से शुरू हो चुकी हैं और 20 जनवरी तक चलेंगी. इस दौरान परीक्षा केन्द्र पर भी छात्रों को वैक्सीन लगाने का काम भी चल रहा है. इंटरमीडिएट की परीक्षा में 12 से13 लाख परीक्षार्थी शामिल होने वाले हैं. चूंकि 15 से 18 वर्ष के बच्चों के वैक्‍सीनेशन का काम भी शुरू हो गया है इसलिए प्रशासन परीक्षाएं समय पर आयोजित करने के ही पक्ष में है.

बिहार बोर्ड मैट्रिक की परीक्षा भी 17 फरवरी से 24 फरवरी तक होनी हैं. इस बार फरवरी में होने वाले इंटरमीडियट और मैट्रिक परीक्षाओं को लेकर नई तकनीक का भी इस्तेमाल हो रहा है. बिहार बोर्ड छात्रों से जुड़ी सभी जानकारी से परीक्षा के दौरान अपडेट रहेगा ताकि छात्रों को कोई दिक्कत ना हो. एक्जामिनेशन ऐप को स्टूडेंट्स फ्रेंडली बनाकर उसे छात्रों को समझाया जा रहा है. वहीं बोर्ड की ओर से बोर्ड कर्मचारियों को उचित ट्रेनिंग भी दी जा रही हैं.

परीक्षार्थी पहले एक्जाम हॉल में एंट्री के लिए प्रवेश पत्र और बोर्ड की ओर से निर्गत एडमिट कार्ड दिखाकर एंट्री पाते थे. अब उन्हें बोर्ड ने एक और बेहतर विकल्प देने का फैसला किया है. बोर्ड के ताजा फैसले के मुताबिक इंटरमीडिएट वार्षिक परीक्षा 2022 में अगर किसी छात्र के एडमिट कार्ड में कोई गलती होगी या फोटो क्लियर नहीं होगा, तो उसे घबराने की जरूरत नहीं है. वो परीक्षार्थी अपना आधार कार्ड दिखाकर एक्जाम हॉल में एंट्री पा सकता है. छात्र को परेशानी से बचाने के लिए बोर्ड ने ये अहम फैसला किया है.

क्या करना होगा छात्रों को ?
परीक्षार्थियों को एक्जाम हॉल में एंट्री के लिए चुनाव में आयोग की तरफ से किए जाने वाले वैकल्पिक व्यवस्था की तरह बिहार बोर्ड ने भी उन्हें अपने साथ आधार कार्ड, पैन कार्ड या फिर बैंक पासबुक साथ रखने की इजाजत दी है. बोर्ड के मुताबिक वो अपने किसी भी सरकारी मान्यता प्राप्त कार्ड के आधार पर एग्जाम में एंट्री पा सकते हैं. गुरुवार को बिहार बोर्ड की ओर से ये आदेश जारी कर दिया गया है. बोर्ड के मुताबिक इंटर परीक्षा के दौरान कई ऐसे छात्र परेशान हो जाते हैं, जिनकी जानकारी एडमिट कार्ड में अपडेट नहीं रहती है. फोटो क्लियर नहीं होने और नाम क्लियर नहीं होने पर इंविजिलेटर को उसे मिलाने में परेशानी होती है. इसे देखते हुए बोर्ड ने वैकल्पिक कदम की व्यवस्था की है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×