scorecardresearch
 

Bihar 10th Topper: पिता की मजदूरी से फीस देकर की पढ़ाई, जानिए बिहार बोर्ड के इस मैट्रिक टॉपर की कहानी

Bihar Board topper: बिहार में मैट्रिक की परीक्षा के रिजल्ट घोषित होते ही पटना जिले के पंडारक प्रखण्ड के कुम्हार टोली मुहल्ले में जश्न का माहौल बन गया. इसी मुहल्ले के रहने वाले नंदलाल के बड़े बेटे पवन ने मैट्रिक की परीक्षा में अव्वल स्थान प्राप्त किया है.

मजदूर पिता के बेटे पवन ने किया बिहार बोर्ड में टॉप मजदूर पिता के बेटे पवन ने किया बिहार बोर्ड में टॉप
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बिहार बोर्ड 10वीं की परीक्षा में पवन बने दूसरे टॉपर
  • पहले भी स्कूल में टॉप करता था पवन

अगर आपके हौसले बुलंद है तो कोई रुकावट या परेशानी आपको लक्ष्य हासिल करने से नहीं रोक सकती. ये साबित कर दिखाया है बिहार के रहने वाले पवन कुमार ने. जिन्होंने बिहार बोर्ड 10वीं की परीक्षा में टॉप किया है. बिहार में मैट्रिक की परीक्षा के रिजल्ट घोषित होते ही पटना जिले के पंडारक प्रखण्ड के कुम्हार टोली मुहल्ले में जश्न का माहौल बन गया.

इसी मुहल्ले के रहने वाले नंदलाल के बड़े बेटे पवन ने मैट्रिक की परीक्षा में अव्वल स्थान प्राप्त किया है. बिहार बोर्ड द्वारा जारी रिजल्ट के अनुसार पवन को  483 अंक हासिल हुए हैं. इसके साथ ही उसने बोर्ड द्वारा जारी टॉपर की लिस्ट में दूसरा स्थान प्राप्त किया है.

मजदूरी करते हैं पवन के पिता
रिजल्ट की खबर मिलते ही छात्र पवन के घर पर गांव वालों द्वारा बधाई देने के लिए तांता लग गया है. उसके हम उम्र से लेकर बडे बुजुर्ग तक घर पहुंचकर पवन को मिठाई खिलाकर अपनी खुशी इजहार कर रहे हैं. पवन के पिता  नंदलाल दिल्ली में मजदूरी करते हैं वहीं मां हाउसवाइफ है.

पहले भी स्कूल में टॉप करता था पवन
पिता की गैरमौजूदगी में मां घर पर बच्चों की देखभाल करती है. पवन 3 से 4 घंटे रोजाना की पढ़ाई को ही अपनी सफलता का श्रेय देता है. छात्र पवन के मुताबिक , मैट्रिक की परीक्षा में उसके पेपर जिस कदर गए थे, उससे वो पूर्व में ही अनुमान लगा चुका था कि उसका परिणाम बेहतर होगा. पवन पूर्व में भी अपने स्कूल में टॉपर रह चुका है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें