scorecardresearch
 

उन्नाव रेप पीड़िता को 18 मिनट में एयरपोर्ट से पहुंचाया गया AIIMS

महज 18 मिनट में पीड़िता को एम्स में भर्ती कराया गया. एंबुलेंस रात 9 बजे एयरपोर्ट से चली थी और 9:18 बजे एम्स के ट्रॉमा सेंटर में पीड़िता को भर्ती करा दिया गया.

पीड़िता को बेहतर इलाज के लिए लाया गया एम्स पीड़िता को बेहतर इलाज के लिए लाया गया एम्स

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद उन्नाव रेप पीड़िता को बेहतर इलाज के लिए सोमवार को दिल्ली के एम्स लाया गया. एयरपोर्ट से ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस (AIIMS) तक का सफर महज 18 मिनट में पूरा कर लिया गया. पीड़िता को फिलहाल एम्स के ट्रॉमा सेंटर में भर्ती किया गया है.

इससे पहले एयर एंबुलेंस की मदद से रेप पीड़िता को लखनऊ से दिल्ली लाया गया. इसके बाद इंदिरा गांधी एयरपोर्ट के टर्मिनल-1 से उसे अस्पताल ले जाया गया. इस दौरान दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने करीब 13 किलोमीटर का ग्रीन कॉरिडोर बना रखा था, जिसके जरिए महज 18 मिनट में पीड़िता को अस्पताल में भर्ती कराया गया. एंबुलेंस रात 9 बजे एयरपोर्ट से चली थी और 9:18 बजे एम्स के ट्रॉमा सेंटर में पीड़िता को भर्ती करा दिया गया.

पीड़िता को एम्स में दाखिल कराने का फैसला सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों के बाद लिया गया. एयरोमेड एयर एंबुलेंस डॉक्टर राजेंद्र सिंह और पैरामेडिक महेंद्र सिंह के साथ लखनऊ एयरपोर्ट पर शाम 6.20 बजे उतरा और उसके बाद रात 9 बजे दिल्ली पहुंचा. पीड़िता के वकील की हालत भी नाजुक बनी हुई है, उन्हें भी आधी रात को एयर लिफ्ट कर लाया जाएगा.

28 जुलाई को सड़क दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल हो जाने के बाद लखनऊ स्थिति किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के ट्रॉमा सेंटर में उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता और उसके वकील का इलाज चल रहा था. दोनों मरीजों की हालत गंभीर है लेकिन स्थिर है. रायबरेली के लिए यात्रा करते वक्त पीड़िता की कार को एक ट्रक ने टक्कर मार दी थी, जिसमें उसके दो रिश्तेदारों की मौत हो गई थी. जबकि वह और उसका वकील दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल हो गए थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें