scorecardresearch
 

जलपाईगुड़ी ट्रेन हादसे ने दहलाया, पहले भी होते रहे हैं ऐसे खौफनाक रेल हादसे

जलपाईगुड़ी में मैनगुड़ी इलाके के पास बीकानेर एक्सप्रेस (15633) पटरी से उतर गई. इस ट्रेन हादसे में 4 लोगों की मौत की पुष्टि हो गई. जबकि कई यात्री घायल हो गए. ट्रेन के 12 डिब्बे पटरी से उतर गए. जिसमें से तीन डिब्बे पूरी तरह से पलट गए. यह ट्रेन बीकानेर से गुवाहाटी जा रही थी.

बीकानेर एक्सप्रेस ट्रेन बीकानेर से गुवाहाटी जा रही थी बीकानेर एक्सप्रेस ट्रेन बीकानेर से गुवाहाटी जा रही थी
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी में बीकानेर एक्सप्रेस पटरी से उतरी
  • इस ट्रेन हादसे में 4 लोगों की मौत की पुष्टि, कई यात्री हुए घायल

Bikaner express derailed: पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी में मैनगुड़ी इलाके के पास बीकानेर एक्सप्रेस (15633) पटरी से उतर गई. इस ट्रेन हादसे में 4 लोगों की मौत की पुष्टि हुई है. जबकि कई यात्री घायल हो गए. ट्रेन के 12 डिब्बे पटरी से उतर गए. जिसमें से तीन डिब्बे पूरी तरह से पलट गए. यह ट्रेन बीकानेर से गुवाहाटी जा रही थी. नए साल में यह पहला बड़ा ट्रेन हादसा माना जा रहा है. पिछले करीब सात सालों में ऐसी कई घटनाएं सामने आई हैं. जिन्होंने लोगों को खौफजदा कर दिया. आइए जानते हैं कुछ ऐसी ही रेल घटनाएं. 

- 20 सितंबर 2021 को इटावा में एक मालगाड़ी दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी. मालगाड़ी की कई बोगियां पटरी से उतर गई थीं. इस हादसे में एक शख्स की मौत हो गई थी. जबकि कई लोग घायल हो गए थे. हादसा वैदपुरा थाना क्षेत्र के महोला गांव के पास हुआ था. मालगाड़ी दिल्ली से कानपुर जा रही थी.

- 9 जुलाई 2021 को मध्य प्रदेश के अनूपपुर जिले में कोयले से भरी मालगाड़ी निगौरा रेलवे स्टेशन के पास आलना नदी के पुल पर हादसे का शिकार हो गई थी. मालगाड़ी की 12 बोगियां पटरियों से नीचे उतर गईं थी, वहीं कई बोगियां पुल से नीचे जा गिरीं थीं. बिलासपुर-अनूपपुर रेलवे लाइन पर यह हादसा हुआ था. यह ट्रेन छत्तीसगढ़ से कोयला लेकर जबलपुर के पास पॉवर प्लांट जा रही थी.

इसे भी पढ़ें--- Bikaner-Guwahati Express Derail: हादसे पर हेल्पलाइन नंबर जारी

- 22 अप्रैल 2021 को लखनऊ-चंडीगढ़ एक्सप्रेस ट्रेन ने बरेली-शाहजहांपुर के पास ट्रेन क्रॉसिंग पर कुछ वाहनों को टक्कर मार दी थी, जिसमें पांच लोगों की मौत हो गई थी. हादसा सुबह करीब साढ़े पांच बजे हुआ था. जब उल्हासनगर के पास ट्रेन क्रॉसिंग पर खड़ी एक डीसीएम, बाइक और ट्रक को लखनऊ-चंडीगढ़ एक्सप्रेस ने टक्कर मार दी थी. इस हादसे में वाहनों के परखच्चे उड़ गए थे और पांच लोगों की मौत हो गई थी.

- 18 मार्च 2021 को दिल्ली से उत्तराखंड के टनकपुर आ रही पूर्णागिरि जन शताब्दी एक्सप्रेस (05326) स्टेशन पहुंचने से पहले ही अचानक उल्टी दिशा में चलने लगी थी. जिसे देखकर रेलवे प्रशासन के हाथ पांव फूल गए थे. ट्रेन में उस वक्त 60 यात्रियों सवार थे. दरअसल, ट्रैक पर एक गाय के आ जाने से ट्रेन का प्रेशर पाइप फट गया था. जिसकी वजह से ट्रेन तीस किलोमीटर तक 80-90 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से विपरीत दिशा में दौड़ने लगी थी. आगे चलकर चकरपुर में ट्रेन पर काबू पाया गया था.

- 20 मार्च 2019 को हरियाणा के पानीपत में भोड़वाल माजरी स्टेशन के पास सुबह के वक्त ट्रेन की बोगी पटरी से उतर गई थी, पटरी से उतरने के बाद बोगी 200 मीटर तक दौड़ती ही चली गई. हादसे में किसी के हताहत होने की खबर नहीं थी. मगर यात्री दहशत में आ गए थे. 

ज़रूर पढ़ें--- Guwahati-Bikaner Express Derailed: देखें हादसे के बाद का मंजर, Photos 

- 20 अक्टूबर 2018 को पंजाब के अमृतसर में दशहरे के दिन रेलवे ट्रैक के किनारे रावण का पुतला जलाया जा रहा था, तभी अमृतसर एक्सप्रेस आ गई. ट्रेन की चपेट में आकर रेलवे ट्रैक पर जमा हुए कई लोग कट गए थे. जिसमें मरने वालों की संख्या 50 से ज्यादा थी. जबकि कई लोग घायल हो गए थे.

- साल 2018 में ही पंजाब के हादसे से ठीक पहले उत्तर प्रदेश के रायबरेली के पास हरचंदपुर में न्यू फरक्का एक्सप्रेस की 9 बोगियां पटरी से उतर गई थीं, जिसमें 7 लोगों की मौत हो गई है और कई लोग घायल हो गए थे.

- नवंबर 2017 को यूपी के चित्रकूट के पास मानिकपुर में वास्को डि गामा एक्सप्रेस दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी. इस घटना में ट्रेन के 13 डिब्बे पटरी से उतर गए थे, जबकि 3 लोगों की मौत हुई थी.

- नवंबर 2017 में ही मानिकपुर में ट्रेन के पटरी से उतरने के दो घंटे के बाद ही ओडिशा में गोरखनाथ और रघुनाथपुर के बीच पारादीप-कटक मालगाड़ी पटरी से उतर गई थी. पारादीप-कटक मालगाड़ी सुबह करीब 5:55 बजे हादसे का शिकार हुई थी. उस हादसे में कोई हताहत नहीं हुआ था. मालगाड़ी पारादीप से कोयला लेकर कटक जा रही थी.

ये पढ़ें--- 5 राज्य, 34 स्टेशनों से गुजरने वाली बीकानेर एक्सप्रेस जबरदस्त हादसे का शिकार

- नवंबर 2017 में ही उत्तर प्रदेश के सहारनपुर के निकट जम्मू-पटना अर्चना एक्सप्रेस का इंजन ट्रेन से अलग हो गया था. ऐसा दो बार हुआ था. पहले इंजन रात में 2:35 बजे अलग हुआ और इसे जोड़कर 3:17 बजे रवाना किया गया था. इसके बाद इंजन और पहला कोच सुबह 5:25 बजे फिर से अलग हो गए थे. जिसे सुबह 06:05 बजे जोड़ा गया था.

- सितंबर 2017 महीने में यूपी के सोनभद्र जिले में एक और रेल हादसा हुआ था. शक्तिपुंज एक्सप्रेस के 7 डिब्बे पटरी से उतर गए हैं. ट्रेन हावड़ा से जबलपुर जा रही थी.

- अगस्त, 2017 में पुरी से हरिद्वार जा रही कलिंग उत्कल एक्सप्रेस ट्रेन मुजफ्फरनगर के खतौली रेलवे स्टेशन के पास पटरी से उतर गई थी. ट्रेन के 14 डिब्बे पटरी से उतरकर अगल-बगल के घरों और एक स्कूल में घुस गए. इस हादसे में 23 लोगों की मौत हुई थी.

- खतौली रेल हादसा होने के 5 दिन के अंदर कानपुर और इटावा के बीच औरैया जिले में एक और हादसा हुआ था. दुर्घटना की वजह से ट्रेन के इंजन सहित 10 डिब्बे पटरी से उतर गए थे. इसमें 150 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई और 200 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे.

- 30 मार्च, 2017 को यूपी के महोबा में महाकौशल एक्सप्रेस पटरी से उत गई थी. इस रेल हादसे में 50 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे.

- 25 जुलाई 2016 को भदोही इलाके में मडुआडीह-इलाहाबाद पैसेंजर ट्रेन मिनी स्कूल वैन टकरा गई, जिसमें 10 स्कूली बच्चों की मौत हो गई है. इस वैन में 19 बच्चे सवार थे.

- 25 मई 2015 को कौशांबी के सिराथू रेलवे स्टेशन के पास मूरी एक्सप्रेस हादसे का शिकार हुई थी. इस हादसे में 25 यात्री मारे गए थे, जबकि 300 से ज्यादा घायल हुए थे.

- 20 मार्च 2015 को देहरादून से वाराणसी जा रही जनता एक्सप्रेस रायबरेली के बछरावां रेलवे स्टेशन के पास पटरी से उतर गई थी. इस हादसे में 30 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी.

इन बड़े हादसों के अलावा भी पिछले सालों में कई ऐसी घटनाएं हुई थीं, जिनमें रेल की पटरियों के टूटने या इंजन के डिब्बों से अलग हो जाने की खबरें भी आती रहीं. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×