scorecardresearch
 

Bikaner-Guwahati Express Derail: कल जलपाईगुड़ी जाएंगे रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव, मृतकों के परिजनों को 5 लाख रुपए के मुआवजे का ऐलान

Guwahati-Bikaner Express Train accident: जलपाईगुड़ी में ट्रेन हादसा हुआ है. बीकानेर एक्सप्रेस की कई बोगियां आज शाम 5 बजे पटरी से उतर गईं.

कमिश्नर रेलवे सेफ्टी और डीजी दिल्ली से घटनास्थल की तरफ से रवाना हो चुके हैं. कमिश्नर रेलवे सेफ्टी और डीजी दिल्ली से घटनास्थल की तरफ से रवाना हो चुके हैं.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी के पास हुआ हादसा
  • घटनास्थल पर 51 एंबुलेंस, राहत बचाव कार्य जारी
  • कमिश्नर रेलवे सेफ्टी ने दिए हादसे की उच्च स्तरीय जांच के आदेश

पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी के डोमोहानी में बड़ा ट्रेन हादसा (Train Accident) हुआ है. बीकानेर से गुवाहाटी जा रही बीकानेर एक्सप्रेस ट्रेन (15633 (up)) की 12 बोगियां शाम के करीब पांच बजे पटरी (Bikaner Express Derailed) से उतर गईं. इस हादसे में कई लोगों के घायल होने की खबर है. वहीं, अब तक 4 लोगों की मौत की पुष्टि हुई है. 

हादसे में घायल 16 लोगों को मैनागुड़ी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. जिस जगह पर यह हादसा हुआ है वहां से सबसे करीब जलपाईगुड़ी स्टेशन है. यहां से एक राहत ट्रेन के साथ एंबुलेंसों को भी भेजा गया है.

कल सुबह घटनास्थल पर पहुंचेंगे रेल मंत्री
रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव कल सुबह घटनास्थल पर जाएंगे और हादसे की जानकारी लेंगे. रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि हादसे में घायल लोगों को मेडिकल सुविधा समेत तमाम अन्य चीजें मौके पर ही मिलें इसके लिए वह अधिकारियों के साथ संपर्क में हैं. फिलहाल रेलवे बोर्ड के चेयरमेन खुद हादसे वाली जगह के लिए रवाना हो गए हैं.

हेल्पलाइन नंबर किया गया जारी
इस हादसे के बाद प्रशासन द्वारा हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है. ट्रेन में सवार लोगों के परिजन, रिश्तेदार मोबाइल नंबर 8134054999, 0361-27316210361-2731622, और 0361-2731623 पर फोन करके जानकारी प्राप्त कर सकते हैं. इसके अलावा राजस्थान के लिए 0121-2725942 हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है.

हर स्टेशन के लिए अलग हेल्पलाइन नंबर
भारतीय रेलवे द्वारा सभी स्टेशनों के लिए अलग हेल्पलाइन नंबर जारी किए गए हैं. ट्रेन में सवार यात्रियों के परिजन नीचे दिए गए नंबरों पर फोन कर जानकारी ले सकते हैं.

नई दिल्ली- 011-23342954, 011-23341074 
दानापुर- 06115-232398/07759070004
पंडित दीन दयाल उपाध्याय जं- 02773677/ 05412-253232
सोनपुर - 06158-221645
नौगछिया- 8252912018
बरौनी- 8252912043
खगड़िया -8252912030
पटना जंक्शन - 9341506016
पं. दीन दयाल उपाध्याय जं- 7388898100
दानापुर 7759070004
सोनपुर 9771429999
मोकामा - 9341506022
केयूएल - 9341506032
झाझा - 9341504997
एआरए - 9341505981

डीआरएस और एडीआरएम घटनास्थल के लिए रवाना
रेलवे ने बयान जारी कर कहा है कि शाम के करीब पांच बजे ट्रेन नंबर 15633 बेपटरी हो गई. 12 कोच बेपटरी हुई है. डीआरएम और एडीआरएम घटनास्थल की तरफ निकल चुके हैं. मेडिकल वैन को भी भेजा गया है. ट्रेन हादसे पर जलपाईगुड़ी के डीएम की ओर से जारी किए गए बयान में कहा गया है कि अब तक 20 लोगों के घायल होने और 3 लोगों की मौत की पुष्टि हुई है.

जो तस्वीरें आई है उसमें लोगों को निकाला जा रहा है. यात्रियों का का कहना है कि झटका लगने के बाद ट्रेन की बोगियां पटरी से उतरी गई. ट्रेन में सवार एक यात्री ने कहा कि अचानक से झटका लगा और ट्रेन की बोगी पलट गई. ट्रेन के 4 से 5 डिब्बे पूरी तरह के क्षतिग्रस्त हुए हैं. बीकानेर एक्सप्रेस की S-3 से लेकर S-13 और D-2 कोच पटरी से उतरे हैं. पटरी से उतरी बोगियों में 1053 लोग सवार थे. जिनमें से 177 बीकानेर से ही चढ़े थे. वहीं, पूरी ट्रेन में 1200 से अधिक यात्री थे.

घटनास्थल पर भेजे गए 51 एंबुलेंस
मौके पर 51 एंबुलेंस को भेजा गया है. साथ ही जलपाईगुड़ी मेडिकल अस्पताल को तैयार करने के लिए कहा गया है, ताकी हादसे में घायल मरीजों को जल्द से जल्द इलाज मिल सके.

रेल मंत्री ने किया मुआवजे का ऐलान
हादसे के बाद रेल मंत्री ने मृतकों के परिजनों के लिए 5 लाख रुपये मुआवजे की घोषणा की गई है जबकि गंभीर रूप से घायलों के लिए एक लाख रुपये की घोषणा की गई है. सामान्य रूप से घायलों को 25 हजार रुपये दिए जाएंगे.

सेफ्टी वैन हादसे साइट के लिए रवाना
हादसे के बाद आजतक से खास बातचीत करते हुए रेलवे के सीपीआरओ कैप्टन शशिकिरण ने कहा कि सभी अधिकारी साइट पर पहुंच रहे हैं. साथ ही जयपुर और बीकानेर के लिए भी हेल्पलाइन नंबर जारी किए गए हैं. न्यू जलपाईगुड़ी से सेफ्टी वैन हादसे वाली जगह के लिए रवाना हो चुकी है. बीकानेर से 308 यात्री ट्रेन में सवार हुए थे. अब कितने लोग घायल हुए हैं इसकी पुष्टि करना अभी मुश्किल है.

पीएम मोदी और अशोक गहलोत ने किया ममता बनर्जी को फोन
ट्रेन हादसे की खबर मिलते ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से जानकारी ली. दरअसल यह हादसा तब हुआ है जब पीएम मोदी देशभर के मुख्यमंत्रियों के साथ कोरोना के हालात को लेकर बैठक कर रहे थे. इस बैठक में सीएम ममता बनर्जी भी मौजूद थीं. बैठक के बीच हादसे की जानकारी मिलते ही ममता बनर्जी प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बातचीत और सभी इंतजाम के अपडेट में जुट गईं. वहीं, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी ममता बनर्जी को फोन कर हर तरह की मदद का आश्वासन दिया है.

 


उच्चस्तीय जांच के दिए गए आदेश
हादसे के बाद दिल्ली से डीजी सुरक्षा, कमिश्नर रेलवे बोर्ड पश्चिम बंगाल के लिए रवाना हो चुके हैं. देर रात सभी अधिकारी हादसे वाली जगह पर पहुंचेंगे और कारणों का पता लगाने की कोशिश करेंगे. इसके साथ ही एनडीआर की 2 टीमों को घटनास्थल के लिए रवाना किया गया है. इस हादसे के बाद उच्चस्तरीय जांच के आदेश जारी कर दिए गए हैं. कमिश्नर रेलवे ने सेफ्टी जांच के आदेश दिए हैं.

गुवाहाटी में पूर्वोत्तर प्रांतीय रेलवे (एनएफआर) के एक प्रवक्ता ने कहा कि दुर्घटना एनएफआर के अलीपुरद्वार संभाग के अंतर्गत एक इलाके में शाम करीब पांच बजे हुई. उन्होंने कहा कि दुर्घटना अलीपुरद्वार जंक्शन से 90 किलोमीटर से अधिक दूरी पर हुई. 

रेल मंत्री ने किया मुआवजे का ऐलान
हादसे के बाद रेल मंत्री ने मृतकों के परिजनों के लिए 5 लाख रुपये मुआवजे की घोषणा की गई है जबकि गंभीर रूप से घायलों के लिए एक लाख रुपये की घोषणा की गई है. सामान्य रूप से घायलों को 25 हजार रुपये दिए जाएंगे.

 

देखें VIDEO...



 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×