scorecardresearch
 

Sidhu Moose Wala Murder: हत्या के लिए शूटर्स के पास था प्लान B, ग्रेनेड फेंककर उड़ाने वाले थे Thar

Sidhu Moose Wala Murder: सिद्धू मूसेवाला के हत्यारों को गोल्डी बराड़ का साफ आदेश था कि किसी भी हालत में सिद्धू बचना नहीं चाहिए. अगर एके-47 या दूसरे हथियारों से काम न बने तो ग्रेनेड फेंककर मूसेवाला की गाड़ी को उड़ा दिया जाए.

X
सिद्धू मूसेवाला (File Photo)
सिद्धू मूसेवाला (File Photo)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 15 दिन से सिद्धू मूसेवाला की रेकी कर रहे थे शूटर
  • 8 बार रेकी के बाद भी नहीं मिली थी सफलता, 9वीं बार में दिया वारदात को अंजाम

पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला की हत्या से पहले 8 बार उनके घर, गाड़ी और रूट्स की रेकी की गई थी. 6 शूटर्स वारदात को अंजाम देने के 15 दिन पहले से मूसेवाला की रेकी कर रहे थे. लेकिन इन 8 बार में मूसेवाला की हत्या इसलिए नहीं की जा सकी, क्योंकि सिद्धू हमेशा बुलेट प्रूफ कार और हथियारों से लैस कमांडो के साथ रहते थे.

गिरफ्तार किए गए शूटर्स प्रियव्रत फौजी और जगदीप रूपा दर्जनों बार ऑपरेशन से जुड़ा हर अपडेट गोल्डी बराड़ को सीधे फोन पर दे रहे थे. मर्डर वाले दिन संदीप केकड़ा और निक्कू ने गोल्डी और सचिन को वीडियो कॉल किया. उन्होंने बताया कि मूसेवाला बिना बुलेटप्रूफ गाड़ी के निकला है. इसके बाद गोल्डी ने तुरंत प्रियव्रत और रूपा से प्लान को अंजाम देने के लिए कहा.

शूटर्स जब 8 बार रेकी करने के लिए मानसा और मूसेवाला के गांव के घर पहुंचे तब उनकी दोनों गाड़ियों में हाइटेक बंदूकों के साथ हैंड ग्रेनेड भी मौजूद थे. रेकी के दौरान शूटर्स रुकने का ठिकाना मानसा के आस-पास ही बनाए हुए थे. गोल्डी बराड़ का शूटर्स को साफ आदेश था की अगर AK-47 या दूसरे हथियारों से ऑपरेशन सफल न हो तो तो हैंड ग्रेनेड से मूसेवाला की थार गाड़ी को उड़ा देना, लेकिन किसी भी सूरत में इस बार मूसेवाला बचना नहीं चाहिए.

हत्याकांड में इस्तेमाल किए गए ज्यादात हथियार विदेश से आए थे. गोल्डी बराड़ और लॉरेंस के कहने पर इन हथियारों का इंतजाम करवाया गया था. हत्याकांड में शामिल शूटर्स को अभी केवल टोकन मनी मिली थी. मतलब खर्चे पानी, ठहरने या गाड़ी में तेल डलवाने के लिए पैसे दिए गए थे. बाकी के पैसे बाद में मिलने थे.

स्पेशल सेल ने गिरफ्तार किए 3 शूटर

सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड में शामिल 3 शूटर्स को सोमवार को ही दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गुजरात के मुंद्रा से गिरफ्तार किया है. आरोपियों को दिल्ली की अदालत में पेश किया गया, जहां से तीनों को 4 जुलाई तक पुलिस कस्टडी में भेज गिया गया है. इनके पास से 8 हैंड ग्रेनेड, डेटोनेटर और 36 राउंड पिस्टल बरामद किए गए हैं. एक एके सीरीज की असॉल्ट राइफल भी मिली है. 

2 शूटर पंजाब के तो 1 हरियाणा का

गिरफ्तार किए गए शूटर्स में से एक का नाम प्रियव्रत फौजी है. वह हरियाणा का गैंगस्टर है. दूसरे शूटर का नाम कशिश कुलदीप है. 24 साल का कुलदीप हरियाणा के झज्जर जिले के सज्यान पाना गांव के वार्ड नं 11 का रहने वाला है. स्पेशल सेल की गिरफ्त में आए तीसरे शूटर का नाम केशव कुमार है. 29 साल का केशव पंजाब के भटिंडा जिले के आवा बस्ती का रहने वाला है.

29 मई को हुई सिद्धू मूसेवाला की हत्या

29 मई को सिद्धू मूसेवाला की हत्या की गई थी. उनकी उम्र महज 28 साल थी. सिद्धू मूसेवाला की मौत ने उनके करीबियों और फैंस को तगड़ा झटका दिया था. सिंगर पर हमले की जिम्मेदारी लॉरेंस बिश्नोई और गोल्डी बराड़ ने ली थी. सिद्धू मूसेवाला के मर्डर की प्लानिंग काफी समय पहले की गई थी. दिनदहाड़े हुई इस वारदात ने सभी को चौंका दिया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें