scorecardresearch
 

गैंगस्टर शाहरुख को दी गई थी सिद्धू मूसेवाला की सुपारी, पूछताछ में सामने आया इस फेसम पंजाबी सिंगर के मैनेजर का नाम

Sidhu Moose Wala Murder: सिद्धू मूसेवाला की हत्या के केस में बड़ा खुलासा हुआ है. एक बदमाश ने कबूला है कि लॉरेंस बिश्नोई और गोल्डी बराड़ ने उसको इस हत्याकांड की सुपारी दी थी.

X
सिद्धू मूसेवाला की गाड़ी पर करीब 30 राउंड फायर किये गए थे
सिद्धू मूसेवाला की गाड़ी पर करीब 30 राउंड फायर किये गए थे
स्टोरी हाइलाइट्स
  • आरोपी शाहरुख को स्पेशल सेल ने पकड़ा था
  • शाहरुख ने कुल 9 लोगों के नाम बताये हैं

Sidhu Moose Wala Murder: सिद्धू मूसेवाला की हत्या केस में बड़ा खुलासा हुआ है. दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की गिरफ्त में मौजूद एक बदमाश ने पूछताछ में बड़ा दावा किया है. गिरफ्तार शख्स शाहरुख ने स्पेशल सेल को बताया है कि सिद्धू मूसेवाला को मारने का काम (सुपारी) उसे गैंगस्टर गोल्डी बराड़ और लॉरेंस बिश्नोई की तरफ से दिया गया था. उन्होंने पहले भी सिद्धू को मारने की कोशिश की थी लेकिन तब सुरक्षाकर्मियों को देखकर ये लौट गए थे.

शाहरुख इस हत्याकांड में शामिल नहीं था क्योंकि उससे पहले ही उसे दिल्ली पुलिस ने किसी अन्य केस में गिरफ्तार कर लिया था. इस दौरान ही पूछताछ में शाहरुख ने पंजाब में रची जा रही इस बड़ी साजिश के बारे में बताया था. उसने यह भी कबूला कि सिद्धू को मारने की सुपारी उसे मिली थी. लेकिन तब पर्याप्त हथियार ना होने की वजह से वे लौट आए थे. शाहरुख का दावा है कि उसके साथियों ने ही इस हत्याकांड को अंजाम दिया है.

पूछताछ में शाहरुख ने कुल 8 नाम बताये हैं, जिनपर उसने हत्यारों की मदद करने का आरोप लगाया है. इसमें पंजाबी सिंगर मनकीरत औलख के मैनेजर का नाम भी शामिल है.

आजतक को मिली जानकारी के मुताबिक, शाहरुख को गोल्डी बराड़ और लॉरेंस बिश्नोई ने सिद्धू के मर्डर का काम सौंपा था. लेकिन तब वह मर्डर नहीं कर पाये थे.

यह भी पढ़ें - बंदूक उसकी GF, माफिया स्टाइल शादी का सपना...'दिल का बुरा नहीं था' मूसेवाला

सूत्रों के मुताबिक, शाहरुख ने कहा कि वह भोला (हिसार का रहने वाला) और सोनू काजल (नारनौंद, हरियाणा) के साथ मूसेवाला के गांव गया था. लेकिन जब उसने वहां 4 पीएसओ AK-47 के साथ तैनात देखे तो उन्होंने हत्या का प्लान ड्रॉप कर दिया. तब गोल्डी ने उनको सिद्धू की हत्या के लिए UZI हथियार दिये थे. फिर शाहरुख ने हत्या के काम को अंजाम देने के लिए AK-47 और बियर स्प्रे की मांग की.

फिर किसी वजह से शाहरुख इस काम से अलग हो गया. अब दावा किया जा रहा है कि सिद्धू के मर्डर में अब वही बोलेरो कार इस्तेमाल हुई है जिसे भोला और सोनू रेकी के दौरान इस्तेमाल करते थे. पूछताछ में कुल 8 नाम सामने आए हैं, जिन्होंने सिद्धू मूसेवाला के हत्यारों की मदद की.

1. गोल्डी बराड़
2. लॉरेंस बिश्नोई
3. सचिन (मनकीरत औलख का मैनेजर)
4. जग्मू भगवानपुरिया
5. अमित काजला
6. सोनू काजल और बिट्टू (दोनों हरियाणा के)
7. सतेंदर काला (फरीदाबाद सेक्टर 8)
8. अजय गिल

शाहरुख गोल्डी बराड़ से सिग्नल ऐप (Signal App) से बातचीत करता था. उसका फोन फिलहाल स्पेशल सेल ने जब्त किया हुआ है. उससे और जानकारी सामने आ सकती है. वहीं दावा किया गया है कि लॉरेंज बिश्नोई तिहाड़ जेल में भी फोन का इस्तेमाल करता है.

शाहरुख और लॉरेंस संपर्क में कैसे आए?

हासिम बाबा और लारेंस तिहाड़ में हैं. तिहाड़ से ही हासिम ने शाहरुख की बात लॉरेंस बिश्नोई से करवाई. फिर लॉरेंस ने गोल्डी बराड़ से शाहरुख का सम्पर्क करवाया. फिर कनाडा से गोल्डी ने शाहरुख को हत्या की साजिश में शामिल किया.

इससे पहले शाहरुख कुछ करता स्पेशल सेल ने उसको दिल्ली के एक मुकदमे में दिल्ली से गिरफ्तार कर लिया. इसके ऊपर 2 लाख का ईनाम था लेकिन गिरफ्तारी से पहले वह मूसेवाला के घर-गांव की रेकी में शामिल रहा था. गिराफ्तारी के बाद शाहरुख ने दिल्ली पुलिस को पंजाब के रची जा रही बड़ी साजिश के बारे में बताया था.

यह भी पढ़ें - जिसे मेहनत का महल कहते थे सिद्धू मूसेवाला, मौत के बाद पसरा सन्नाटा

बता दें कि पंजाबी सिंगर और कांग्रेसी नेता शुभदीप सिंह उर्फ सिद्धू मूसेवाला की हत्या कल 29 मई को मानसा जिले में उनके घर से कुछ किलोमीटर दूर ही कर दी गई थी. उनकी कार पर करीब 30 राउंड फायर हुए थे. इसमें से 8 गोलियां सिद्धू को लगी थीं. सिद्धू के साथ उनके दो दोस्त थे जो घायल हो गए थे.

मौजूदा न्यायाधीश करेंगे सिद्धू केस की जांच

सिद्धू मूसेवाला केस में पंजाब सरकार ने अब बड़ा फैसला लिया है. सीएम भगवंत मान ने कहा है कि पंजाब सरकार पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश से अनुरोध करेगी कि मामले की जांच उच्च न्यायालय के मौजूदा न्यायाधीश से कराएं. बता दें कि यह मांग सिद्धू के पिता ने ही सीएम मान से की थी.

यह भी पढ़ें - Sidhu Moose Wala के सिर सेहरा सजा देखना चाहती थीं मां, अधूरे रह गए सारे सपने...

मुख्यमंत्री कार्यालय ने यह भी कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने सिद्धू मूसेवाला की सुरक्षा कम करने के फैसले की जांच के आदेश दिए हैं. उन्होंने डीजीपी के कल के बयान पर भी सफाई मांगी है. कहा गया है कि राज्य सरकार जांच में पूरा सहयोग करेगी, किसी भी अपराधी को बख्शा नहीं जाएगा.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें