scorecardresearch
 

रेप के आरोप में IFS अंशुमान गिरफ्तार, UPSC की तैयारी के दौरान हुई थी इंजीनियर से दोस्ती

दिल्ली पुलिस ने रेप के आरोप में एक आईएफएस अधिकारी को गिरफ्तार किया है. पीड़िता ने आरोप लगाया है कि शादी का झांसा देकर उसके साथ कई बार रेप की घटना को अंजाम दिया. गैर जमानती वारंट जारी होने के बाद आरोपी 15 दिन इधर-उधर घूमता रहा.

X
(प्रतीकात्मक फोटो) (प्रतीकात्मक फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बलात्कार के आरोप में IFS अधिकारी अरेस्ट
  • 15 दिन तक गिरफ्तारी से भागता रहा आरोपी

दिल्ली के राजेंद्र नगर इलाके से दुष्कर्म के आरोप में इंडियन फॉरेस्ट सर्विस के अधिकारी को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. आरोपी 2020 बैच के झारखंड कैडर का अधिकारी है. पीड़िता की शिकायत पर 15 मई को राजेंद्र नगर थाने में दुष्कर्म और तमाम धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था.

दरअसल 2017 में अंशुमान राजहंस दिल्ली के राजेंद्र नगर में सिविल सेवा की परीक्षा की तैयारी कर रहे थे. इसी दौरान उनकी मुलाकात ठाणे के रहने वाली एक लड़की से हुई. जो पेशे से इंजीनियर थी वो भी इसी परीक्षा की तैयारी कर रही थी.  इस दौरान दोनों की दोस्ती हुई और संबंध बन गए. आरोपी राजहंस ने शादी का झांसा देकर पीड़िता से कई बार शारीरिक संबंध बनाए और 2018 में अंशुमान का चयन आईआरटीएस के लिए हो गया था. 

पीड़ित लगातार अंशुमान से शादी का दबाव बना रही थी. फिर 2020 में अंशुमन आईएफएस में चयन हो गया. पीड़िता के अनुसार दोनों ने मंदिर में शादी की उसने फोटो नहीं लेने दिए. बाद में शादी से मुकर गया.  इसके बाद वह थाने पहुंची. पुलिस ने अंशुमान राजहंस जांच में शामिल होने के लिए नोटिस भेजा पर वो नहीं आया. इसके बाद कोर्ट द्वारा गैर जमानती वारांट उनके खिलाफ जारी किया. 

वारंट जारी होने के बाद दिल्ली पुलिस लगातार आरोपी की तलाश शुरू की. उसकी तलाश में झारखंड के रांची जमशेदपुर और कई शहरों में दिल्ली पुलिस ने छापेमारी की. लगातार 15 दिनों तक आरोपी की अलग-अलग लोकेशन मिल रही थी.  30 जून को पुलिस ने सियालदह से आरोपी को दबोच लिया और कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया गया. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें