scorecardresearch
 

झारखंडः सिमडेगा में खौफनाक वारदात, डायन बताकर महिला को जिंदा जलाने का प्रयास

यह वारदात सिमडेगा के ठेठईटांगर थाना क्षेत्र की है. जहां कुडपानी गांव में ग्रामीणों ने डायन होने का आरोप लगाते हुए जारिया बडाईक नामक महिला को पुआल की ढेर में गिराया और उस पर मिट्टी का तेल डालकर आग लगा दी.

पुलिस ने इस मामले में 5 लोगों को गिरफ्तार किया है पुलिस ने इस मामले में 5 लोगों को गिरफ्तार किया है
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कुडपानी गांव की है ये खौफनाक वारदात
  • केरोसिन डालकर महिला को जलाने की कोशिश
  • पुलिस ने पांच लोगों को मौके से किया गिरफ्तार

झारखंड में अंधविश्वास के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं. सिमडेगा में एक बार फिर से भीड़ ने एक महिला को डायन बताकर जिंदा जलाने का प्रयास किया. इस घटना में महिला बुरी तरह से झुलस गई. जिसे गंभीर हालत में अस्पताल भेजा गया है.

यह वारदात सिमडेगा के ठेठईटांगर थाना क्षेत्र की है. जहां कुडपानी गांव में ग्रामीणों ने डायन होने का आरोप लगाते हुए जारिया बडाईक नामक एक महिला को पुआल की ढेर में मिट्टी का तेल डालकर जलाना शुरू कर दिया. हालांकि घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर जा पहुंची और जलते हुए पुआल से महिला को निकाल कर इलाज के लिए सदर अस्पताल भेजा.

इसके बाद पुलिस ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस आगे इस मामले में कार्रवाई कर रही है. घटना के बाद से ही परिवार दहशत में है.

इसे भी पढ़ें--- राजस्थान: प्राइवेट पार्ट को नुकीली चीज से किया गया छलनी, बेहद गंभीर हाल में है अलवर गैंगरेप की पीड़िता

खू्ंटी में भी अंधविश्वास के चलते डबल मर्डर
आपको बता दें कि बीते मंगलवार को खूंटी के अड़की थाना क्षेत्र के तिरला गांव में पुलिस ने हड़लामा जंगल से एक दंपत्ति का शव बरामद किया था. जिनकी पहचान बानो मुंडाईन और पति मलगुन मुंडा के रूप में हुई थी. मृतक के दो बेटे हैं जो बाहर दूसरे राज्यों में रहकर काम करते हैं.

घटना की सूचना पर दोनों बेटों ने घर पहुंचकर अड़की थाना में हत्या का मामला दर्ज कराया है. घटना के बारे में ग्रामीणों ने कुछ भी बताने से इनकार कर दिया था. हालांकि इस हत्याकांड की वजह अंधविश्वास और काला जादू-टोना होने की आशंका है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×