scorecardresearch
 

दिल्लीः लोधी कॉलोनी से लंदन तक फैला है जाल, लगातार बरामद हो रहे हैं ऑक्सीजन कंसंट्रेटर

जानकारी के मुताबिक गगन दुग्गन उसी नवनीत कालरा का पार्टनर है, जो अपने रेस्तरां के माध्यम से ऑक्सीजन कंसंट्रेटर बेच रहा था. गगन दुग्गल लंदन में रहता है और मैट्रिक्स कंपनी का मालिक है. मैट्रिक्स कंपनी सिम कार्ड बनाने का काम करती है.

पुलिस इस कालाबाजारी के मास्टरमाइंड नवनीत कालरा की तलाश कर रही है पुलिस इस कालाबाजारी के मास्टरमाइंड नवनीत कालरा की तलाश कर रही है
स्टोरी हाइलाइट्स
  • लोधी कॉलोनी के रेस्तरां से मिले थे ऑक्सीजन कंसंट्रेटर
  • इसके बाद पुलिस ने 400 से ज्यादा कंसंट्रेटर किए बरामद
  • अब लंदन तक जुड़ रहे हैं कालाबाजारी गिरोह के तार

दिल्ली में लोधी कॉलोनी के रेस्तरां से ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की बरामदगी का जो सिलसिला शुरू हुआ वो थमने का नाम नहीं ले रहा है. ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की कालाबाजारी करने वालों का नेटवर्क खान मार्केट तक फैला है, जहां से पुलिस ने भारी संख्या में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर बरामद किए हैं. इस पूरे मामले के तार अब गगन दुग्गल से जुड़ रहे हैं, जो लंदन में रहता है.

जानकारी के मुताबिक गगन दुग्गन उसी नवनीत कालरा का पार्टनर है, जो अपने रेस्तरां के माध्यम से ऑक्सीजन कंसंट्रेटर बेच रहा था. गगन दुग्गल लंदन में रहता है और मैट्रिक्स कंपनी का मालिक है. मैट्रिक्स कंपनी सिम कार्ड बनाने का काम करती है. गगन दुग्गल के मंडी विलेज के खुल्लर फार्म हाउस, छतरपुर से ही गुरुवार को पुलिस ने 387 ऑक्सीजन कॉन्संट्रेटर बरामद किए थे. 

गगन दुग्गल की मैट्रिक्स कंपनी के नाम से ही ऑक्सीजन कंसंट्रेटर 20 हजार रुपये प्रति पीस के हिसाब से भारत में इम्पोर्ट किए गए थे. और अब वही ऑक्सीजन कंसंट्रेटर 50 हजार, 60 हजार और अधिकतम 70 हजार रुपये के रेट पर ज़रूरतमंद और परेशान लोग लाइन लगाकर खरीद रहे थे. दिल्ली पुलिस ने मैट्रिक्स सेलुलर सर्विस कंपनी के CEO गौरव खन्ना को गिरफ्तार किया है. 47 साल के गौरव की गिरफ्तारी गुरुग्राम से हुई है. गौरव को नवनीत कालरा से संबंध के चलते गिरफ्तार कर लिया है.

पता चला है कि शातिर नवनीत कालरा ऑनलाइन और व्हॉट्सएप के जरिए ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की बोली लगा रहा था और उन्हें ऊंची कीमत पर बेच रहा था. खान चाचा रेस्टोरेंट से उनकी बिक्री की जा रही थी, जिसके बाहर परेशान हाल लोगों की लंबी लाइन लगी थी. जहां का वीडियो आज तक/इंडिया टुडे के पास भी उपलब्ध है.

आज तक/इंडिया टुडे ने नवनीत कालरा से भी सम्पर्क करने की कोशिश की. लेकिन उसका नम्बर 9811152722 बंद है. बताया जा रहा है कि वो हरिद्वार में कहीं छुपा हुआ है. इसी तरह से आज तक/इंडिया टुडे की टीम ने लंदन में मौजूद गगन दुग्गल के मोबाइल नम्बर पर सम्पर्क करने की कोशिश की, लेकिन उसका मोबाइल नंबर भी बंद है.

आपको बता दें कि लोधी कॉलोनी के रेस्तरां और और फॉर्म हाउस पर छापा मार पुलिस ने गुरुवार को 419 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर बरामद किए थे. उस रेस्तरां के मैनेजर हितेष की निशानदेही पर 9 और ऑक्सीजन कंसंट्रेटर बरामद किए गए हैं. ये ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, खान मार्केट के टाउन हॉल रेस्टोरेंट से बरामद किए गए हैं. नवनीत कालरा के यहां से इस बरामदगी का आगाज़ हुआ था. 

नवनीत कालरा

डीसीपी अतुल ठाकुर के अनुसार, नवनीत कालरा के स्वामित्व वाले नेगे एंड जू बार से बरामदगी शुरू हुई थी. कालरा एक प्रसिद्ध व्यवसायी हैं, जो दयाल ऑप्टिकल्स और खान चाचा, नेगे एंड जू और टाउन हॉल रेस्ट्रो बार और मिस्टर चाउ से जुड़े हुए हैं. आजतक को मिली जानकारी के मुताबिक, नवनीत कालरा ही इस पूरे गोरखधंधे का मास्टरमाइंड है. 

आजतक ने उस व्हॉट्स ग्रुप का पता लगाया है, जहां नवनीत कालरा ऑक्सीजन कंसंट्रेटर का गोरखधंधा करता था. आजतक/इंडियाटुडे के पास उस व्हॉट्सएप ग्रुप का स्क्रीनशॉट्स भी है, फिलहाल उसकी जांच दिल्ली पुलिस कर रही है. उस व्हॉट्सएप ग्रुप में नवनीत कालरा ने 26 अप्रैल को ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की डिमांड-सप्लाई की जानकारी शेयर की थी. 

आजतक के पास खान चाचा रेस्टोरेंट के बाहर ऑक्सीजन कंसंट्रेटर खरीदने के लिए खड़े लोगों की लाइन का वीडियो भी है. जिसमें देखा जा सकता है कि कैसे ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की कालाबाजारी की जा रही है. अब पुलिस पकड़े जा चुके आरोपियों की निशानदेही पर कई जगह छापेमारी कर रही है. आने वाले वक्त में इस गिरोह से जुड़े कई और खुलासे होने की उम्मीद है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×