scorecardresearch
 

उन्नाव में दो नाबालिग दलित लड़कियों के खेत में मिले शव, जांच में जुटी पुलिस

ये घटना उन्नाव जिले के असोहा थाना के बबुरहा गांव की है, जहां दो दलित लड़कियों के शव खेत से मिले हैं. इन दो मृत लड़कियों के साथ एक और लड़की थी जो अभी जिंदा है, उसकी हालत भी नाजुक बनी हुई है.

उन्नाव में दो नाबालिग लड़कियों की हत्या (प्रतीकात्मक तस्वीर) उन्नाव में दो नाबालिग लड़कियों की हत्या (प्रतीकात्मक तस्वीर)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दो नाबालिग लड़कियों के शव एक खेत से मिले हैं
  • तीसरी लड़की की हालत गंभीर बताई जा रही है
  • गांव में भारी पुलिस बल की तैनाती

यूपी के उन्नाव जिले में दो नाबालिग दलित लड़कियों का शव खेत में मिला है. घटना असोहा थाना के बबुरहा गांव की है जहां दो लड़कियों के शव खेत से मिले हैं. शुरुआती जांच के मुताबिक कहा जा रहा है कि ये जहर खाने से मौत का मामला लग रहा है. फिलहाल अभी जांच जारी है.

दोनों मृत लड़कियों के साथ एक और लड़की भी थी जो अभी जिंदा है, उसकी हालत नाजुक बनी हुई है. घायल अवस्था में उस लड़की को तुरंत जिला अस्पताल ले जाया गया है. मिली जानकारी के अनुसार ये तीनों लड़कियां खेत पर चारा लेने गई थीं. घटना की जानकारी मिलते ही डीएम व अन्य अधिकारी जिला अस्पताल पहुंच चुके हैं. मामले के बाद गांव और जिला अस्पताल के आसपास भारी पुलिस बल की तैनाती कर दी गई है.

इस घटना को लेकर SP आनंद कुलकर्णी ने कहा है कि असोहा थाना क्षेत्र में 3 लड़कियां अपने ही खेत में बेहोशी के हालात में मिली थी. घटनास्थल पर काफी सारा झाग पड़ा था. डॉक्टर के द्वारा प्रथम दृष्ट्या प्वाइजन सिम्पटम्स बताए गए हैं. फिलहाल, घटनास्थल पर मौजूद लोगों के बयान दर्ज कर गहराई से जांच की जा रही है. आवश्यक विदित कार्रवाई की जा रही है. 

उधर, मृतका के भाई विशाल का कहना है कि 3 बजे तीनों एक साथ खेत गई थी. शाम तक नहीं लौटी तो उनको ढूंढने गए. जब उन्हें देखा तो वो बेहोश पड़ी थी, उसमें से दो खत्म हो चुकी थी. विशाल ने बताया कि उसकी किसी से दुश्मनी नहीं है. फोन पर कोई बात नहीं हुई. पढ़ाई करती थी लेकिन छुड़वा दिया, बस खेत देखती थी. अभी किसी पर शक नहीं है. बच जाए तो मालूम चले कैसे क्या हुआ, यही बताएगी कैसे क्या हुआ? 

वहीं अब उन्नाव केस को लेकर भीम आर्मी के चीफ चंद्रशेखर ने ट्वीट कर कहा कि उन्नाव मामले की एकमात्र गवाह बच्ची का बेहतर इलाज व उसकी सुरक्षा सबसे जरूरी है. बच्ची को तत्काल एयर एंबुलेंस से AIIMS दिल्ली लाया जाए. उत्तरप्रदेश सरकार का अपराधियों को संरक्षण व अपराधियों के मामले में सरकार की कार्यशैली को देश हाथरस कांड में देख चुका है. 

इस घटना की जानकारी मिलने के बाद आसपास के इलाके में हड़कंप मच गया. सूचना मिलते ही लखनऊ से आईजी और डीआईजी भी उन्नाव के असोहा के लिए निकल गए है. तीसरी लड़की की हालत का जायजा लेने के लिए उन्नाव के जिलाधिकारी जिला अस्पताल पहुंच चुके हैं.

मुख्यमंत्री आदित्यनाथ कितने भी दावे क्यों न करें, लेकिन उत्तर प्रदेश में महिलाओं के साथ होने वाले अपराध कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं. बीते दिनों ही सहारनपुर के थाना बेहट इलाके से एक नाबालिग बच्ची के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया था. जहां गांव का ही एक युवक बच्ची को जबरन खेत में ले गया और इस घटना को अंजाम दिया. बदहवास हालत में ही परिजन बच्ची को लेकर कोतवाली पहुंचे थे.

कुछ दिन पहले इसी तरह की घटना ग्रेटर नोएडा में हुई थी जहां एक दबंग, एक नाबालिग दलित लड़की को जबरदस्ती खेत में ले गया और उसके साथ रेप की घटना को अंजाम दिया. ये घटना दनकौर थाना क्षेत्र की है जिसके बाद लड़की की गंभीर हालत देख पुलिस ने मेडिकल टेस्ट के लिए भेज दिया था.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें