scorecardresearch
 

Corona in India: फिर बेलगाम हो रहा कोरोना... दिल्ली में 6 महीने बाद पॉजिटिविटी रेट सबसे ज्यादा, देश में फरवरी के बाद वीकली केस 79 हजार के पार

Coronavirus in India: देश में कोरोना की रफ्तार बेलगाम होती जा रही है. राजधानी दिल्ली में कोरोना की संक्रमण दर 8 फीसदी के पार चली गई है. वहीं, मुंबई में पॉजिटिविटी रेट 14 फीसदी के करीब आ गया है.

X
देश में कोरोना की संक्रमण दर 4 फीसदी के पार चली गई है. (फाइल फोटो-PTI) देश में कोरोना की संक्रमण दर 4 फीसदी के पार चली गई है. (फाइल फोटो-PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • देश में एक्टिव केस 76 हजार के पार
  • महाराष्ट्र, केरल, दिल्ली में संक्रमण तेज
  • ओमिक्रॉन के सब-वैरिएंट्स बढ़ा रहे केस

Coronavirus in India: क्या देश में कोरोना की चौथी लहर आ चुकी है? ये सवाल इसलिए क्योंकि अब देश में कोरोना की रफ्तार बेलगाम होती जा रही है. 5 दिन से हर रोज 12 हजार से ज्यादा नए मामले आ रहे हैं. इसी के साथ देश में कोरोना का इलाज करा रहे मरीजों की संख्या साढ़े 76 हजार के पार चली गई है.

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, 24 घंटे में देश में कोरोना के 12 हजार 781 नए मामले सामने आए हैं. इस दौरान 18 मरीजों की मौत भी हुई है. महाराष्ट्र में 4 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं. दूसरे नंबर पर केरल है, जहां 3 हजार 376 मामले सामने आए हैं. राजधानी दिल्ली में 1 हजार 530 कोरोना संक्रमित मिले हैं. 

देश में तेजी से बढ़ते मरीजों की संख्या ने एक्टिव केस भी बढ़ा दिए हैं. 24 घंटे में 4 हजार 226 की बढ़ोतरी हुई है. अब देश में एक्टिव मरीजों की संख्या 76 हजार 700 पर आ गई है. 

ये भी पढ़ें-- क्या है Hybrid Immunity जिसे साइंटिस्ट मान रहे Corona के खिलाफ अचूक हथियार, जानिए कैसे हासिल होती है ये?

पॉजिटिविटी रेट 4 फीसदी के पार

देश में कोरोना की संक्रमण दर भी लगातार बढ़ती जा रही है. 24 घंटे में देश में पॉजिटिविटी रेट 4.32% से ज्यादा रहा. शनिवार को पॉजिटिविटी रेट 2.66% था. पॉजिटिविटी रेट से पता चलता है कि 100 टेस्ट में कितने संक्रमित मिल रहे हैं. अभी देश में हर 100 टेस्ट में 4 से ज्यादा मरीज मिल रहे हैं. 

विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक, जब तक पॉजिटिविटी रेट 5% के अंदर है, तब तक चिंता की बात नहीं है, लेकिन अगर ये संक्रमण दर 5 फीसदी से ऊपर जाती है तो माना जाता है कि संक्रमण बेकाबू हो रहा है. 

वीकली केस भी बढ़ रहे

देश में तीन हफ्तों से वीकली केस बढ़ते जा रहे हैं. 30 मई से 5 जून के हफ्ते में देशभर में कोरोना के 25 हजार 586 मामले सामने आए थे. जबकि, 6 जून से 12 जून के बीच 48 हजार 766 मामले सामने आए थे. वहीं, 13 से 19 जून के बीच 79 हजार 372 मरीज मिले हैं. वीकली केस का ये आंकड़ा फरवरी के बाद सबसे ज्यादा है. 

मामले बढ़ने के साथ ही अब हफ्तेभर में मौतों की संख्या भी बढ़ने लगी है. 30 मई से 5 जून के बीच देशभऱ में 90 कोरोना मरीजों की मौत हुई थी. वहीं, 6 से 12 जून के बीच 70 लोगों की मौत हुई. जबकि इस हफ्ते यानी 13 से 19 जून के बीच 102 लोगों की जान कोरोना से गई.

दिल्ली में पॉजिटिविटी रेट 6 महीने में सबसे ज्यादा

संक्रमण की खतरनाक रफ्तार राजधानी दिल्ली में देखने को मिल रही है. यहां रविवार को कोरोना के 1 हजार 530 नए मामले सामने आए हैं. ये लगातार पांचवां दिन रहा, जब एक दिन में 1,300 से ज्यादा मरीज मिले हैं. 

राजधानी में पॉजिटिविटी रेट लगातार बढ़ता जा रहा है. शनिवार को पॉजिटिविटी रेट 7.71% था, जो रविवार को बढ़कर 8.41% पर आ गया. ये पॉजिटिविटी रेट 6 महीने बाद सबसे ज्यादा है. इससे पहले 28 जनवरी को 8.61% पॉजिटिविटी रेट दर्ज हुआ था. 

बढ़ते संक्रमण के बावजूद अभी दिल्ली में कोई पाबंदी लगाने का प्लान नहीं है, क्योंकि अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों की संख्या अब भी काफी कम है. राजधानी में कोरोना मरीजों के लिए 9 हजार 506 बेड रिजर्व हैं, जिनमें से 249 बेड पर मरीज भर्ती हैं. जबकि, कोविड केयर सेंटर और कोविड हेल्थ सेंटर में सारे बेड खाली हैं.

ये भी पढ़ें-- Explainer: जानिए कितने खतरनाक हैं ओमिक्रॉन के BA.4 and BA.5 वैरिएंट, जिनके मामले तमिलनाडु में मिले हैं

मुंबई में पॉजिटिविटी रेट 14% के करीब

कोरोना की नई लहर में इस बार भी महाराष्ट्र और उसकी राजधानी मुंबई सबसे ज्यादा मार झेल रही है. 24 घंटे में महाराष्ट्र में कोरोना के 4 हजार 4 नए मामले सामने आए हैं. एक मरीज की मौत हुई है. ये मौत मुंबई में हुई है. 

महाराष्ट्र के आधे से ज्यादा केस अकेले मुंबई से सामने आ रहे हैं. मुंबई में रविवार को 2 हजार 87 संक्रमित मिले हैं. यहां पर संक्रमण दर 14 फीसदी के करीब पहुंच गई है. यानी, हर 100 टेस्ट में से 14 की रिपोर्ट पॉजिटिव आ रही है. 

मुंबई से एक चिंता बढ़ाने वाली बात ये भी है कि अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों की संख्या भी बढ़ने लगी है. रविवार को 95 नए मरीज अस्पताल में भर्ती हुए हैं. 19 जून तक मुंबई के अस्पतालों में 652 मरीज भर्ती हैं, जिनमें से 91 मरीजों की हालत गंभीर है. वहीं, 18 जून तक 587 मरीज भर्ती थे, जिनमें से 71 गंभीर थे. 

क्यों बढ़ रहा कोरोना?

देश में कोरोना के बढ़ते मामलों के पीछे ओमिक्रॉन और उसके सब-वैरिएंट्स को जिम्मेदार माना जा रहा है. न्यूज एजेंसी ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि देश में कोरोना के बढ़ते मामलों के लिए ओमिक्रॉन के BA.2 BA.2.38 सब-वैरिएंट्स हैं. 

जीनोम सिक्वेंसिंग करने वाली सरकारी संस्था INSACOG से जुड़े सूत्रों के हवाले से न्यूज एजेंसी ने बताया कि 85% मामलों में BA.2  और 33% में BA.2.38 की पुष्टि हुई है. वहीं, 10% भी कम मामलों में BA.4 और BA.5 मिला है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें