scorecardresearch
 

कोरोना

बिहार में अचानक कैसे बढ़ गई मौतों की संख्या, देखें क्या बोले JDU प्रवक्ता?

14 जून 2021

कोरोना की दूसरी लहर बेशक सुस्त पड़ती जा रही है लेकिन मौत के आंकड़े ज्यादा कम नहीं हो रहे हैं. इन सबके बीच हैरानी तब हो रही है जब कुछ राज्यों में मौत के आंकड़े अचानक एक दिन में हजारों के फासले से बढ़ा दिए जा रहे हैं. विपक्ष पूछ रहा है कि आखिर कोरोना से मौत में इतनी हेराफेरी क्यों की जा रही है. हालांकि संबंधित राज्यों ने सफाई तो दी है लेकिन सवाल तो सामने खड़ा हो ही रहा है कि आखिर गिनती में लापरवाही कहां और क्यों हुई. इस पूरे मामले पर बहस के दौरान देखिए क्या बोले JDU के प्रवक्ता.

हरियाणा में कोरोना लॉकडाउन की नई गाइडलाइन जारी

हरियाणा में 21 जून तक बढ़ा लॉकडाउन, दुकानदारों को राहत, पढ़ें नई गाइडलाइन

14 जून 2021

शादियों और अंतिम संस्कार के अलावा अन्य समारोहों के लिए, मेहमानों की अधिकतम सीमा 50 है. ऐसे समारोहों के लिए संबंधित डिप्टी कमिश्नर की इजाजत की आवश्यकता होती है. 

कोरोना से मौतों के आंकड़े में झोलझाल पर क्या बोले बीजेपी प्रवक्ता जफर इस्लाम?

14 जून 2021

कोरोना की दूसरी लहर बेशक सुस्त पड़ती जा रही है लेकिन मौत के आंकड़े ज्यादा कम नहीं हो रहे हैं. इन सबके बीच हैरानी तब हो रही है जब कुछ राज्यों में मौत के आंकड़े अचानक एक दिन में हजारों के फासले से बढ़ा दिए जा रहे हैं. विपक्ष पूछ रहा है कि आखिर कोरोना से मौत में इतनी हेराफेरी क्यों की जा रही है. हालांकि संबंधित राज्यों ने सफाई तो दी है लेकिन सवाल तो सामने खड़ा हो ही रहा है कि आखिर गिनती में लापरवाही कहां और क्यों हुई. इस पूरे मामले पर देखिए क्या बोले बीजेपी प्रवक्ता जफर इस्लाम.

नोएडा में पूल पार्टी करते 60 गिरफ्तार

वीकेंड लॉकडाउन की धज्जियां उड़ाते हुए चल रही थी पूल पार्टी, 60 युवक-युवतियां गिरफ्तार

14 जून 2021

दिल्ली से सटे नोएडा में भी वीकेंड लॉकडाउन जारी है. इसके बावजूद रविवार को नोएडा सेक्टर 135 में वीकेंड पर 60 युवक-युवतियों को देर रात पूल पार्टी करते गिरफ्तार किया गया है.

अचानक कैसे बढ़ गया कोरोना से मौतों का आंकड़ा, कहां हो रही हेराफेरी?

13 जून 2021

कोरोना की दूसरी लहर बेशक सुस्त पड़ती जा रही है लेकिन मौत के आंकड़े ज्यादा कम नहीं हो रहे हैं. इन सबके बीच हैरानी तब हो रही है जब कुछ राज्यों में मौत के आंकड़े अचानक एक दिन में हजारों के फासले से बढ़ा दिए जा रहे हैं. विपक्ष पूछ रहा है कि आखिर कोरोना से मौत में इतनी हेराफेरी क्यों की जा रही है. हालांकि संबंधित राज्यों ने सफाई तो दी है लेकिन सवाल तो सामने खड़ा हो ही रहा है कि आखिर गिनती में लापरवाही कहां और क्यों हुई. देखें ये रिपोर्ट.

वैक्सीन लगवाने के बाद चिपकने लगे सिक्के-चम्मच

एक और शख्स का दावा, वैक्सीन लगवाने के बाद चिपकने लगे सिक्के-चम्मच

13 जून 2021

हजारीबाग के ताहिर अंसारी का दावा है कि उन्होंने शनिवार को कोविड-19 वैक्सीन ली थी. वैक्सीन के बाद से ही उनके शरीर पर चम्मच, सिक्के चिपकने लगे.

वैक्सीनेश सर्टिफिकेट दिखाने पर डिस्काउंट (फाइल फोटो)

दिल्ली: वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट दिखाने पर 20% की छूट दे रहा यह रेस्टोरेंट

13 जून 2021

जाएका-ए-दिल्ली रेस्टोरेंट के मालिक गौरव की मानें तो उनकी इस पहल का मकसद ज्यादा से ज्यादा युवाओं को वैक्सीनेशन के लिए प्रोत्साहित करना है. कोरोना की दूसरी लहर में ज्यादातर युवा वर्ग संक्रमण की चपेट में आए और उनकी जान चली गई.

स्पुतनिक-वी वैक्सीन (File Photo- Aajtak)

दिल्ली के इस हॉस्पिटल पहुंची 1000 Sputnik-V, जानिए कब से मिलेगी?

13 जून 2021

स्पुतनिक अभी भी आम आदमी के लिए उपलब्ध नहीं है. यह सिर्फ डॉ रेड्डीज कंपनी के स्टाफ के लिए उपलब्ध है. कंपनी के लिए 1000 डोज दिल्ली आ चुकी है, जो कि अपोलो अस्पताल को मिली है.

इलाज के नाम पर 3 अस्पताल ने वसूले ज्यादा पैसे ( सांकेतिक फोटो)

कोरोना काल में इलाज के नाम पर 3 अस्पताल ने वसूले ज्यादा पैसे, नोटिस जारी

13 जून 2021

ये अस्पताल हैं- सेक्टर 71 का कैलाश हॉस्पिटल, यथार्त अस्पताल और शर्मा अस्पताल .अलग-अलग परिजनों द्वारा इन अस्पतालों के खिलाफ शिकायत की गई है जिसके बाद PPGC ने उन्हें नोटिस जारी किया है.

ड्रोन से पहुंचाई जाएगी दवाइयां (फाइल फोटो)

तेलंगाना में ड्रोन के जरिए होगी वैक्सीन और मेडिकल सामानों की डिलीवरी

13 जून 2021

'Medicines from the Sky' के जरिए तेलंगाना पहला राज्य बन गया है जो ड्रोन फ्लाइट्स के जरिए वैक्सीन और एसेंशियल्स की डिलिवरी करेगा. पिछले महीने, तेलंगाना सरकार को ड्रोन का उपयोग कर कोविड-19 टीकों की प्रायोगिक डिलीवरी करने के लिए सशर्त छूट दी गई थी.

दिल्ली में काबू में आता कोरोना ( फोटो पीटीआई)

दिल्ली में गिर रहा कोरोना का ग्राफ, 24 घंटे में 255 मामले, 23 मौतें

13 जून 2021

अब कम होते कोरोना के मामले तो राहत दे ही रहे हैं, इसके अलावा मौत के ग्राफ का नीचे जाना भी अच्छे संकेत दे रहा है. बताया गया है कि 7 अप्रैल के बाद से दिल्ली में सबसे कम मौतें हुई हैं.