scorecardresearch
 

'सावधानी बरतें और सतर्क रहें', कनाडा में रह रहे भारतीयों के लिए मोदी सरकार की एडवाइजरी

भारत सरकार के विदेश मंत्रालय ने भारतीयों के खिलाफ बढ़ रहे हेट क्राइम को लेकर एडवाइजरी जारी की है. जिसमें कनाडा में भारतीय नागरिकों और छात्रों व यात्रा/शिक्षा के लिए कनाडा जाने वालों को सलाह दी गई है कि वे सावधानी बरतें और सतर्क रहें."

X
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची

भारत सरकार ने कनाडा में रहने वाले भारतीय छात्रों और अन्य लोगों के लिए एक एडवाइजरी जारी की है. दरअसल, एक अलग खालिस्तान की मांग को लेकर कनाडा में चरमपंथी तत्वों द्वारा "तथाकथित" जनमत संग्रह का आयोजन किया गया था. जिसके बाद भारत सरकार के विदेश मंत्रालय ने भारतीयों के खिलाफ बढ़ रहे हेट क्राइम को लेकर एडवाइजरी जारी की है.

भारत के विदेश मंत्रालय (MEA) द्वारा जारी बयान में कहा गया है, "विदेश मंत्रालय और कनाडा में हमारे दूतावास ने इन घटनाओं को कनाडा के अधिकारियों के सामने उठाया है और उनसे उक्त अपराधों की जांच करने और उचित कार्रवाई करने का अनुरोध किया है. कनाडा में इन घटनाओं को अंजाम देने वाले अपराधियों पर अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है. 

बयान में कहा गया है, "ऊपर वर्णित अपराधों की बढ़ती घटनाओं को देखते हुए, कनाडा में भारतीय नागरिकों और छात्रों व यात्रा/शिक्षा के लिए कनाडा जाने वालों को सलाह दी जाती है कि वे सावधानी बरतें और सतर्क रहें."

भारतीय दूतावास ने कनाडा में रहने वाले भारतीयों की सुरक्षा का मुद्दा उठाया है और इस तथ्य को भी उठाया है कि कट्टरपंथी तत्वों को कनाडा में भारत विरोधी गतिविधियों को अंजाम देने की अनुमति दी गई थी.

तथाकथित जनमत संग्रह को मान्यता नहीं देगा कनाडा

अपनी साप्ताहिक ब्रीफिंग के दौरान MEA के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा, “कनाडा में चरमपंथी और कट्टरपंथी तत्वों द्वारा उपहासपूर्ण अभ्यास किया गया था. इस मामले को कनाडा के अधिकारियों के साथ उठाया गया है. कनाडा के अधिकारियों ने कहा है कि वे भारत की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता का सम्मान करते हैं और वे जो कनाडा में हो रहे तथाकथित जनमत संग्रह को मान्यता नहीं देंगे.       

उन्होंने आगे कहा, "हालांकि, हमें यह बेहद आपत्तिजनक लगता है कि एक मित्र देश में चरमपंथी तत्वों द्वारा राजनीति से प्रेरित अभ्यासों को होने दिया जाता है. इस संबंध में इतिहास और हिंसा से आप सभी वाकिफ हैं. भारत सरकार इस मामले में कनाडा सरकार पर दबाव बनाना जारी रखेगी."

भारतीय छात्र दूतावास की वेबसाइट पर रिजस्ट्रेशन कराएं 

इस बीच, कनाडा में भारत के भारतीय नागरिकों और छात्रों को ओटावा में भारतीय उच्चायोग या टोरंटो और वैंकूवर में भारत के महावाणिज्य दूतावास के साथ अपनी संबंधित वेबसाइटों, या मदद पोर्टल madad.gov.in के माध्यम से रजिस्ट्रेशन करने के लिए भी कहा गया है. एडवाइजरी में कहा गया है, "रजिस्ट्रेशन की मदद से दूतावास किसी भी आवश्यकता या आपात स्थिति में कनाडा में भारतीय नागरिकों के साथ बेहतर ढंग से संपर्क साध सकेगा."

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें