scorecardresearch
 

अधीर रंजन चौधरी

अधीर रंजन चौधरी

अधीर रंजन चौधरी

अधीर रंजन चौधरी, राजनेता

अधीर रंजन चौधरी (Adhir Ranjan Chowdhary) एक भारतीय राजनेता और भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (INC) के वरिष्ठ नेता हैं. वह पश्चिम बंगाल के बेहरामपुर (Behrampur) निर्वाचन क्षेत्र से 2019 के चुनावों में 17वीं लोकसभा के लिए फिर से चुने गए. अधीर रंजन को 2020 में पश्चिम बंगाल कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष (President of West Bengal Congress Committee) के रूप में दोबारा नियुक्त किया गया. वे साल 1999 के बाद से बेहरामपुर से एक भी लोकसभा चुनाव नहीं हारे हैं.

इनका जन्म 2 अप्रैल 1956 को (Date of Birth) पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद (Murshidabad) जिले में हुआ था. उनके पिता का नाम निरंजन चौधरी और मां का सरोजा बाला चौधरी (Parents) है. उन्होंने अपनी स्कूली शिक्षा बेहरामपुर के गोराबाजार ईश्वर चंद्र संस्थान से पूरी की है. उनकी शादी 1987 में अर्पिता चौधरी से हुई. 

अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत उन्होंने 1996 में की और पश्चिम बंगाल विधान सभा के सदस्य के रूप में चुने गए. वे पश्चिम बंगाल में  कांग्रेस का एक लोकप्रिय चेहरा बनकर उभरे वहां की जनता उन्हें 'मुर्शिदाबाद का नवाब'  और 'बेहरामपुर का रॉबिनहुड' (Robin hood of Behrampur)  के नाम से संबोधित करती है.

साल 2012 से 2014 तक मनमोहन सिंह सरकार के दैरान अधीर रंजन चौधरी को रेल राज्य मंत्री के रूप में नियुक्त किया गया. उन्हें 2019 में लोक लेखा पर 17वीं लोकसभा समिति के अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया था. 2020 में, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सोमेन मित्रा के निधन के बाद उन्हें पश्चिम बंगाल प्रदेश कांग्रेस समिति के अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया था.

अधीर रंजन चौधरी की लिखी हुई किताबें- द हिस्ट्री ऑफ मुर्शिदाबाद डिस्ट्रिक्ट कांग्रेस-1885 – 2010 (The History of Murshidabad District Congress - 1885 - 2010), बिटवीन टू साइलेंसज (Between Two Silences), अगुनेर रंगनील और 125 (Aguner Rangneel and 125), बोचोरर अलोकी मुर्शिदाबाद जिला कांग्रेस (Bochorer Alokey Murshidabad Jela Congress.) प्रकाशित हो चुकी हैं.

इनका ऑफिशियल ट्विटर हैंडल @adhirrcinc नाम से है और फेसबुक पेज पर Adhir Ranjan Chowdhury नाम से एक्टिव हैं.
 

और पढ़ें

अधीर रंजन चौधरी न्यूज़